Home » गंगाशहर: छिपने के लिए धरती पड़ी कम, राकेश के हत्यारे सोम पर राणीदान की टीम ने लगाया शनि, कानदान, दीपक व पूनम रहे खोजी टीम के हीरो
crime

गंगाशहर: छिपने के लिए धरती पड़ी कम, राकेश के हत्यारे सोम पर राणीदान की टीम ने लगाया शनि, कानदान, दीपक व पूनम रहे खोजी टीम के हीरो

बीकानेर। गंगाशहर के सारड़ा चौक निवासी राकेश स्वामी के आठवें हत्यारे को गंगाशहर पुलिस ने सूरत से दबोच लिया है। 19 माह से फरार आरोपी को गंगाशहर थानाधिकारी राणीदान उज्जवल के नेतृत्व वाली टीम ने दबोचा है। 25 अगस्त, 2019 की रात घड़सीसर रोड़ पर आरोपियों ने राकेश व उसके भाई को रोककर मारपीट की थी। इस दौरान उसका भाई दीपक पुत्र शिवशंकर साध तो बच निकला, लेकिन राकेश के साथ आरोपियों ने अधिक मारपीट की, जिससे वह गंभीर घायल हो गया। उसे अस्पताल में भर्ती करवाया गया जहां इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया। मामले में पेमाराम, बजरंग विश्नोई, मदन भारती, बजरंग भारती, तोलाराम सहित सात आरोपियों को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका था। लेकिन आरोपी सोम जोशी उस समय से फरार चल रहा था। हाल ही में फरार आरोपी की गिरफ्तारी हेतु एसपी प्रीति चंद्रा ने एएसपी शैलेन्द्र इंदोलिया के डायरेक्ट सुपरविजन व सीओ पवन भदौरिया के निर्देशन में थानाधिकारी राणीदान उज्जवल के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया। टीम में एएसआई रामकरण सिंह, हैड कांस्टेबल महावीर सिंह, कानदान सांदू, साइबर सैल दीपक यादव, सत्तार खां, कांस्टेबल लखविंद्र सिंह, वासुदेव, योगेन्द्र कुमार, दलीप सिंह साईबर सैल, पूनमचंद डीआर, रामनिवास, चंद्रभान व सुखराम शामिल थे। टीम ने आरोपी की तलाश के प्रयास शुरू किए तो आसूचना प्राप्त हुई कि सोम को सूरत में देखा गया है। आसूचना की और अधीक पुष्टि करते हुए टीम सचीन, सूरत पहुंची। जहां पुलिस टीम ने कपड़ा व्यापारी बनकर रिंग रोड़ के कपड़ा मार्केट की गुप्त चैकिंग शुरू की। वहीं दूसरी ओर सूरत के स्थानीय लोगों की मदद भी ली गई। मार्केट से जुड़े सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले गए।इस पूरी प्रक्रिया के बाद कुछ संदिग्ध दुकानों को चिन्हित किया गया। इसके बाद संदिग्ध दुकानों पर पुलिस टीम कपड़ा व्यापारी बनकर पहुंची। इस दौरान सोम जोशी की पहचान की पुष्टि होते ही उसे दस्तयाब कर लिया। आरोपी ने पूछताछ में बताया है कि उसने मर्डर के बाद बीकानेर, जयपुर, अहमदाबाद व सूरत में फरारी काटी।पिछले कुछ माह से वह सूरत ही था। उसने वहां अधूरी पहचान बताकर कपड़े की दुकान में नौकरी कर ली। गिरफ्तारी का भय था, इसलिए बीकानेर से जुड़े सभी लोगों से संपर्क ही तोड़ लिया। इस दौरान वह 2-3 बार बीकानेर आया था, लेकिन वह रात को ही बीकानेर आता और रात को ही लौट जाता। बीकानेर में वह अलग अलग स्थानों पर रुकता था। 

उल्लेखनीय है कि आरोपी सोम जोशी को दबोचने में हैड कांस्टेबल कानदान सांदू, साईबर सैल के दीपक यादव व स्पेशल टीम के डीआर पूनमचंद की विशेष भूमिका रही। गंगाशहर थानाधिकारी राणीदान उज्जवल के नेतृत्व में इस टीम ने पहले भी एक खतरनाक अपराधी शिवसिंह भलूरी को जयपुर से दबोचा था। आरोपी पर तीन हजार रूपए का इनाम भी था। 

About the author

THE INTERNAL NEWS

3 Comments

Click here to post a comment

CommentLuv badge
  • Blueberry pie is something that I would like to eat on every-day basic. I’ve been having a blueberry moment and it’s not over yet. Blueberry Pancakes and Blueberry Jam, sure. Blueberry Syrup, Blueberry Ice Cream and Blueberry-Buttermilk, Blueberry Pie and many more.

    And yeah I have a quick word on the sugar – start with the lesser amount and taste. Now that blueberries are truly in season, you might not want completely full amount.

Topics

Translate »
error: Content is protected !!