Home » वीकेंड और नाइट कफ्र्यू के मद्देनजर जिला कलक्टर ने ली विभिन्न संगठनों के साथ मैराथन बैठकें गाइडलाइन की शत-प्रतिशत अनुपालना सर्वोच्च प्राथमिकता-मेहता
Uncategorized

वीकेंड और नाइट कफ्र्यू के मद्देनजर जिला कलक्टर ने ली विभिन्न संगठनों के साथ मैराथन बैठकें गाइडलाइन की शत-प्रतिशत अनुपालना सर्वोच्च प्राथमिकता-मेहता


बीकानेर, 16 अप्रैल। वीकेंड व नाइट कफ्र्यू के मद्देनजर जिला कलक्टर नमित मेहता ने शुक्रवार को औद्योगिक एवं व्यापारिक संगठनों तथा इकाईयों, होटल, रेस्टोरेंट एवं मैरिज पैलेस संचालकों, राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों और स्वयंसेवी संस्थाओं एवं श्रमिक संगठनों के साथ मैराथन बैठकें ली।
उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए कफ्र्यू के प्रावधानों की शत-प्रतिशत अनुपालना की जाएगी। प्रत्येक वर्ग के लोग इसमें सकारात्मक भागीदारी निभाएं तथा दूसरों को इसके लिए प्रेरित करें। इसमें किसी भी स्तर पर शिथिलता बर्दाश्त नहीं की जाएगी तथा संबंधित व्यक्ति के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी।
जिला कलक्टर ने कहा कि इस चुनौतीपूर्ण समय में सभी अपनी जिम्मेदारी समझें। गाइडलाइन में अनुमत प्रतिष्ठानों एवं इकाईयों के अतिरिक्त सभी औद्योगिक संस्थान समय पर बंद हो जाएं तथा वीकैंड कफ्र्यू के दौरान बंद रहें। इन इकाईयों में नियोजित श्रमिक समय पर घर पहुंच जाए, यह सुनिश्चित किया जाए। औद्योगिक इकाईयों के संचालकों द्वारा अपने प्रतिष्ठानों में कोविड एडवाइजरी की पालना की जाए तथा जिससे श्रमिकों की आजीविका के साथ उनके जीवन की सुरक्षा भी की जा सके।
होटल-रेस्टोरेंट्स में हो पालना
जिला कलक्टर ने बताया कि गाइडलाइन के अनुसार रात्रि कफ्र्यू के दौरान सायं 5 बजे तक होटल एवं रेस्टोरेंट खुले रहेंगे तथा रात्रि 8 बजे तक इनके माध्यम से होम डिलीवरी की अनुमति रहेगी। प्रत्येक होटल एवं रेस्टोरेंट में इसकी अनुपालना हो। ज्वाइंट एनफोर्समेंट टीमों द्वारा इनका औचक निरीक्षण किया जाएगा तथा अवहेलना पर कार्यवाही होगी। विवाह और अन्य आयोजनों में पचास से अधिक मेहमान नहीं हो। इन आयोजनों की सूचना संबंधित उपखण्ड अधिकारी को दी जाए। किसी भी स्तर पर लापरवाही सामने आने पर मैरिज पैलेस को सीज किया जाएगा तथा सख्त कार्यवाही होगी।
राजनैतिक दलों के प्रतिनिधि करें समझाइश
जिला कलक्टर ने कहा कि राजनैतिक दलों के प्रतिनिधि आमजन को कोरोना एडवाइजरी की पालना के लिए समझाइश करें। स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा भी एडवाइजरी की पालना के लिए आमजन को जागरुक किया जाए। उन्होंने कहा कि गत वर्ष कोरोना संकट में जनप्रतिनिधियों और स्वयंसेवी संस्थाओं का प्रभावी योगदान रहा। आवश्यकता पड़ने पर यह संगठन एक बार फिर आगे आएं।
पुलिस अधीक्षक प्रीति चंद्रा ने कहा कि वीकेंड और नाइट कफ्र्यू मानव जीवन रक्षा को सर्वोपरि मानकर लिया गया निर्णय है। किसी भी स्थिति में गाइडलाइन की अवहेलना नहीं हो, इसके मद्देनजर पुलिस सख्ती से पेश आएगी। उन्होंने कहा कि कोई भी बेवजह घर से बाहर नहीं निकले तथा स्थिति की गंभीरता को समझें और स्वविवेक से स्वयं को अनुशासित रखते हुए वीकेंड और नाइट कफ्र्यू की अनुपालना करें।अतिरिक्त जिला कलेक्टर (नगर) अरुण प्रकाश शर्मा ने राज्य सरकार द्वारा जारी विभिन्न गाइडलाइन के प्रावधानों के बारे में बताया। इस दौरान निगम आयुक्त एएच गौरी, जागरुकता अभियान समन्वयक राजेंद्र जोशी, डी.पी. पचिसिया, महेन्द्र कल्ला, अनिल कल्ला, दीपक पारीक, विकास अग्रवाल, महेश कोठारी, डाॅ. सत्य प्रकाश आचार्य, अखिलेश प्रताप सिंह, नितिन वत्सस, नगर विकास न्यास के पूर्व अध्यक्ष महावीर रांका, देवेन्द्र बिस्सा, विजय खत्री, अर्चना थानवी, एड. महेन्द्र जैन सहित विभिन्न वर्गों के लोगों ने बैठक में भागीदारी निभाई।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

Topics

Translate »
error: Content is protected !!