Home » होम आइसोलेट मरीजों को समय पर मिले दवाई, डोर-टू-डोर सर्वे में लाएं गति, रेलयात्रियों की हो प्रॉपर स्क्रीनिंग जिला कलक्टर ने ली समीक्षा बैठक, एमसीएच विंग सहित अस्पतालों और क्वारेंटाइन व्यवस्था का लिया जायजा
Uncategorized

होम आइसोलेट मरीजों को समय पर मिले दवाई, डोर-टू-डोर सर्वे में लाएं गति, रेलयात्रियों की हो प्रॉपर स्क्रीनिंग जिला कलक्टर ने ली समीक्षा बैठक, एमसीएच विंग सहित अस्पतालों और क्वारेंटाइन व्यवस्था का लिया जायजा


बीकानेर, 17 अप्रैल। जिला कलक्टर नमित मेहता ने शनिवार को कोविड प्रबंधन से जुड़े अधिकारियों की बैठक ली तथा स्थिति की समीक्षा की। एमसीएच विंग, एमएन हाॅस्पिटल, किसान घर एवं जिला अस्पताल का निरीक्षण करते हुए व्यवस्थाएं देखी। सभी अधिकारियों को पूर्ण सतर्कता के साथ काम करने के निर्देश दिए। जिन क्षेत्रों में पाॅजिटिव मरीज पाए जाते हैं, वहां प्रोपरली कांटेक्ट ट्रेसिंग करने को कहा। अब तक के डोर-टू-डोर सर्वे पर नाराजगी जताई और इसमें अधिक गति लाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सर्वे टीमों की संख्या बढ़ाई जाए। इनमें अध्यापकों, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और आशा सहयोगिन को जोड़ा जाए। किसी भी स्थिति में कोई भी घर सर्वे से नहीं छूटे। होम आइसोलेट मरीजों को आवश्यक दवाइयां समय पर मिले। इसके लिए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की मशीनरी को मुस्तैद करने के निर्देश दिए तथा कहा कि इसमें किसी प्रकार की लापरवाही सामने आई तो संबंधित के विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जाएगी। बाहरी राज्यों से आने वाली रेलयात्रियों की प्रोपर स्क्रीनिंग के निर्देश दिए तथा कहा कि आवश्यकता पड़ने पर पुलिस और रेलवे पुलिस की मदद ली जाए। जांच की रिपोर्ट में अनावश्यक विलंब नहीं हो। चिकित्सा संस्थानों में वैक्सीनेशन और सैम्पलिंग की अलग-अलग व्यवस्था करने के निर्देश दिए। आॅक्सीजन की उपलब्धता, आवश्यकता और खपत की समीक्षा की तथा मरीजों की बढ़ती संख्या के अनुसार आवश्यकता का आकलन करने को कहा। उन्होंने कहा कि विवाह समारोहों में कोविड गाइडलाइन की अवहेलना नहीं हो, यह सुनिश्चित किया जाए। सभी वैवाहिक समारोहों का निरीक्षण किया जाएगा तथा ढिलाई पाए जाने पर सख्त कार्यवाही होगी। उन्होंने जाइंट एनफोर्समेंट टीमों द्वारा की जाने वाली कार्यवाही की समीक्षा की।
एमसीएच विंग का लिया जायजा
जिला कलक्टर ने पीबीएम अस्पताल के एमसीएच विंग की स्थिति का जायजा लिया। यहां भर्ती मरीज तथा चिकित्सकीय सुविधाओं के बारे में जाना। वार रूम, नियंत्रण कक्ष, डे केयर सेंटर, विभिन्न वार्डों का निरीक्षण किया। दवाइयों और आॅक्सीजन की उपलब्धता के बारे में जाना। परिसर में साफ-सफाई रखने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि यहां के वार्डों में सीसीटीवी कैमरे लगा दिए गए हैं। इससे समूची स्थिति की निगरानी रखी जा सकेगी। उन्होंने कहा कि एमसीएच विंग में कोविड प्रोटोकाॅल की शत-प्रतिशत अनुपालना सुनिश्चित की जाए। प्रवेश द्वार पर पूर्ण सख्ती बरतें तथा कोई भी बेवजह यहां प्रवेश नहीं करे। वार्डों में कार्यरत चिकित्सक, नर्सिंग कर्मी तथा सफाई कर्मी भी कोविड प्रोटोकॉल की पालना करें।
जिला अस्पताल में कोविड डेडिकेटेड वार्ड हो शुरू
मेहता ने एमएन हाॅस्पिटल में कोविड डेडिकेडेट वार्ड का अवलोकन किया तथा यहां की व्यवस्थाएं देखी। कोविड संबंधी सभी कार्यों के लिए अलग एंट्री-एक्जिट सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय के किसान घर का जायजा लिया तथा बैड एवं अन्य व्यवस्थाओं की समीक्षा की। आवश्यकता के अनुसार आॅक्सीजन सिलेण्डर की व्यवस्था को कहा। जिला अस्पताल में कोविड मरीजों के लिए अलग से वार्ड तथा सभी व्यवस्थाएं शनिवार सायं तक सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। आवश्यकता के अनुसार यहां मरीजों को शिफ्ट किया जाएगा। इसके मद्देनजर जिला अस्पताल में राउंड द क्लाॅक आवश्यक स्टाफ नियुक्त करना होगा।

इस दौरान प्रशिक्षु आइएएस कनिष्क कटारिया, निगम आयुक्त ए एच गौरी, अतिरिक्त कलक्टर (प्रशासन) बलदेव राम धोजक, नगर विकास न्यास सचिव नरेन्द्र सिंह पुरोहित, पीबीएम अधीक्षक डाॅ. परमेन्द्र सिरोही, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त निदेशक डाॅ. देवेन्द्र चौधरी, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. सुकुमार कश्यप सहित विभिन्न अधिकारी साथ रहे।

Topics

Translate »
error: Content is protected !!