Home » बार कौंसिल ऑफ़ राजस्थान की कार्यकारिणी समिति की अति आवश्यक बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संपन्न
Uncategorized

बार कौंसिल ऑफ़ राजस्थान की कार्यकारिणी समिति की अति आवश्यक बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संपन्न

बार कौंसिल ऑफ़ राजस्थान की कार्यकारिणी समिति की अति आवश्यक बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कुलदीप कुमार शर्मा की अध्यक्षता में संपन्न हुई।
बैठक में कार्यकारिणी समिति द्वारा राज्य में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए, जयपुर एवं जोधपुर में स्थित अधिवक्ता भवनों को कोविड 19 केयर सेंटर में स्थापित करने का निर्णय लिया गया । साथ यह भी निर्णय लिया गया कि इन अधिवक्ता भवनों को तत्काल प्रभाव से कोविड 19 केयर सेंटर शुरू करने हेतु राज्य सरकार एवं माननीय राजस्थान उच्च न्यायालय से अनुरोध किया जावे, तथा उसमें अधिवक्ताओं एवं उनके परिवारवालों को प्राथमिकता दी जावे।
समिति द्वारा यह भी निर्णय लिया गया की राज्य सरकार से यह अनुरोध किया जावे की वह जल्द से जल्द बार कौंसिल ऑफ़ राजस्थान को 10 करोड़ (दस करोड़ ) रूपए की राशि प्रदान करे, जिसकी घोषणा राज्य के बजट 2021-22 में की गई हैं।
बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि राजस्व मंडल में अधिवक्ताओं / न्यायिक सदस्यों की नियुक्ति बाबत, जो रिट याचिकायें माननीय राजस्थान उच्च न्यायालय जोधपुर एवं जयपुर में विचाराधीन हैं, उसमें बार कौंसिल ऑफ़ राजस्थान पार्टी बने तथा इस हेतु माननीय अध्यक्ष, बार कौंसिल ऑफ़ राजस्थान को अधिकृत किया गया।
साथ ही राजस्थान सरकार द्वारा चिरंजीवी मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ सभी अधिवक्ताओं को पहुंचाने हेतु राज्य में स्थित सभी बार संघों को एक पत्र लिखकर अपने यहाँ शिविर का आयोजन कर इस योजना से सभी अधिवक्ताओं को जोड़ने का अनुरोध किया जावे तथा साथ ही राज्य सरकार से अंतिम तिथि जो 30 अप्रैल 2021 हैं, उसे बढ़ाने हेतु अनुरोध किया जावे।
समिति द्वारा हाल ही में कुछ समाचार पत्रों में छपी खबर कि उच्च न्यायालयों में सेवानिवृत न्यायाधीशों की नियुक्ति की जावेगी, का विरोध किया है तथा भारत सरकार से यह मांग की है कि उच्च न्यायालयों में सेवानिवृत न्यायाधीशों की नियुक्ति नहीं की जावे। भारत सरकार से यह मांग की है कि राजस्थान उच्च न्यायालय में रिक्त पडे जजों की नियुक्ति का मामला लंबे समय से विचाराधीन है, अतः राजस्थान उच्च न्यायालय में रिक्त पडे जजों की नियुक्ति शीघ्र की जावे तथा वकीलों के कोटे से जजों की नियुक्ति की प्रक्रिया पहले आरम्भ कर उनकी नियुक्ति की जावे।

​समिति द्वारा रेवेन्यू बोर्ड अजमेर व टोंक में जो भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के अंतर्गत मामले दर्ज हुए है, अखबारों के माध्यम से कुछ अधिवक्ताओं के नाम भी उजागर हुए हैं, इस सम्बन्ध में सम्बंधित प्रथम सूचना रिपोर्ट की प्रतियां बार कौंसिल द्वारा मंगाई जाकर उचित कार्यवाही हेतु साधारण सभा की आगामी बैठक में रखे जाने का निर्णय लिया गया।

इस बैठक में जगमाल सिंह चौधरी, सुशील कुमार शर्मा, संजय शर्मा, राजेश पंवार व सुनील बेनीवाल सदस्यों ने हिस्सा लिया। विशेष आमंत्रित सदस्यों में बार कौंसिल ऑफ़ इंडिया के सह-अध्यक्ष सुरेश चंद्र श्रीमाली, इन्द्रराज चौधरी, वाइस-चेयरमैन एवं रतन सिंह राव, सह-अध्यक्ष, बार कौंसिल ऑफ़ राजस्थान ने भी इस बैठक में हिस्सा लिया।

     

Topics

Translate »
error: Content is protected !!