Home » जिला स्तर से नियुक्त अधिकारियों ने गांवों में पहुंचकर की समझाईश गाइड लाइन की पालना एवं पीपल पूर्णिमा पर प्रस्तावित विवाह समारोह को स्थगित करने की समझाईश के लिए जिला स्तर पर 50 अधिकारी गांवों में पहुंचकर हुए एक्टिव
Rajasthan Gov news

जिला स्तर से नियुक्त अधिकारियों ने गांवों में पहुंचकर की समझाईश गाइड लाइन की पालना एवं पीपल पूर्णिमा पर प्रस्तावित विवाह समारोह को स्थगित करने की समझाईश के लिए जिला स्तर पर 50 अधिकारी गांवों में पहुंचकर हुए एक्टिव


सवाई माधोपुर, 23 मई। कोरोना के संक्रमण का प्रसार रोकने के लिए राज्य सरकार द्वारा लॉकडाउन लगाया हुआ है। साथ ही आयोजित होने वाले सभी विवाह समारोहों को 31 मई तक स्थगित रखने के निर्देश दिए गए है। अपरिहार्य स्थिति में विवाह घर पर करने तथा इसमें अधिकतम 11 लोगों की उपस्थिति ही अनुमत की गई हैै। ऐसे विवाह की सूचना ऑनलाइन पोर्टल पर दिया जाना अनिवार्य किया हुआ है।
जिला कलेक्टर राजेन्द्र किशन बताया कि ऑनलाइन पोर्टल पर जिले में 22 से 31 मई तक लगभग 400 विवाह प्रस्तावित है।
जिला कलेक्टर ने जिला स्तर से 50 अधिकारियों को नियुक्त कर ऐसे विवाह समारोह को राज्य सरकार के निर्देशानुसार 31 मई तक स्थगित करवाने के लिए समझाईश करने, विवाह करना अपरिहार्य हो तो गाइड लाइन की पालना के साथ अधिकतम 11 लोगों की उपस्थिति में बिना बैंड, घोडी, बाजा, हलवाई के अनुमति के अनुसार करना सुनिश्चित करवाने के लिए जिला स्तर से 50 अधिकारियों की ड्यूटी लगाकर 23 मई से 26 मई तक लगातार आवंटित किए गए क्षेत्र में भ्रमण करने, गाइड लाइन की पालना करवाने तथा संबंधित उपखंड अधिकारी के निर्देशन में कार्य करते हुए सूचनाएं उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए है।
जिला कलेक्टर द्वारा नियुक्त अधिकारियों ने आवंटित उपखंड अधिकारी के निर्देशन में गांवों में पहुंचकर सक्रियता से अपनी जिम्मेदारी निभानी शुरू कर दी है। अधिकारियों द्वारा एक्टिव मोड में रहते हुए गांवों में सतत निगरानी एवं मॉनिटरिंग की जा रही है।
नियुक्त अधिकारियों द्वारा संबंधित एसडीएम द्वारा आवंटित पंचायत, ग्राम में लगातार भ्रमण कर समझाईश के साथ ही गाइड लाइन की पालना सुनिश्चित करवाने के साथ ही लोगों को समझाईश भी की है। नियुक्त अधिकारियों द्वारा ग्राम पंचायत, कस्बे में सतत निगरानी, सतर्कता के साथ गाइड लाइन एवं जारी दिशा निर्देशों की पालना संपादित करवाने, लॉकडाउन में अनुमत गतिविधिया के अलावा आगमन/निर्गमन पर सतत निगरानी रखी जा रही है। अधिकारियों द्वारा लोगों को वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित किया जा रहा है। अधिकारियों द्वारा आवंटित ग्राम पंचायत पर पहुंचकर कोर कमेटियों के साथ बैठक की, लोगों को समझाईश करने के लिए कोर कमेटियों को सक्रितया से कार्य करने तथा कमेटी के सदस्यों के साथ लोगों तक पहुंचकर विवाह समारोह स्थगित करने के संबंध में समझाया।
—000—
राहत भरी खबर:ः लगातार घटने लगा कोरोना का ग्राफ
रिकवरी रेट बढने से एक्टिव केसों की संख्या में आई गिरावट
रविवार को कोरोना के 45 नए पॉजिटिव केस निकले, 101 रिकवर हुए जिले में कोरोना के एक्टिव केस 612 रह गये,
सवाई माधोपुर, 23 मई। लॉकडाउन एवं गाइडलाइन की सफल पालना, जिला कलेक्टर राजेन्द्र किशन के कुशल नेतृत्व में प्रशासन की मुस्तैदी और हैल्थ वर्कर्स के समर्पण और मेहनत तथा आमजन द्वारा अनुशासन दिखाए जाने से राहत भरे समाचार एवं परिणाम सामने आ रहे हैं। जिले में गत एक सप्ताह से कोरोना का ग्राफ गिरा है। पॉजिटिव रेट लगातार कम हुई है तथा रिकवर होने वालों की संख्या पॉजिटिव की संख्या से काफी अधिक आ रही है जिससे अस्पतालों में काफी बेड खाली हो रहे हैं तथा अनेक मरीज स्वस्थ होकर अस्पताल से घर लौटे है।
रविवार को जिले में कोरोना एक्टिव रोगियों की संख्या घटकर 612 रह गयी। स्थिति में सुधार का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि गत 13 मई को जिले में 3918 एक्टिव मरीज थे। जो लगातार घटकर रविवार को 612 एक्टिव मरीज रह गए है।
रविवार को 743 सैम्पलों की जॉंच में मात्र 45 पॉजिटिव मिले जो कुल सैम्पल का 6.06 प्रतिशत ही है। ब्लॉकवाइज देखें तो रविवार को सवाईमाधोपुर में 15, खंडार में 05, बौंली में 13, गंगापुर में 8, बामनवास मंें 4 पॉजिटिव मिले। रविवार को जहॉं 45 पॉजिटिव मिलें, वहीं इसके कई अधिक 101 रिकवर हो गये। रविवार को कोरोना से एक मृत्यु भी दर्ज की गई।
रविवार को चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की 700 से अधिक टीमों ने जिलेभर में लगभग 12 हजार घरों में जाकर लगभग 45 हजार से अधिक लोगों की स्क्रीनिंग की, इनमें से खांसी, जुकाम, बुखार के लक्षण वाले लोगों को दवा किट दी गई तथा इनकी सूची नजदीकी प्राथमिक व सामुदायिक केन्द्र प्रभारी को दी ताकि इनके स्वास्थ्य का निरन्तर फीडबैक लिया जा सके।
जिला कलेक्टर राजेन्द्र किशन ने कोरोना संक्रमण रोकथाम में लगातार सफलता मिलने पर सभी फ्रंटलाइन वर्कर्स का हौसला बढाते हुये आमजन से अपील की है कि अभी सतर्क रहने की आवश्यकता है, ऐसा न सोचे कि केस कम हो गये तो कोरोना चला गया है, पिछली लहर में यही गलती हुई थी, अब इसे दोहराना नहीं है। राज्य सरकार की गाइडलाइन की अक्षरशः पालना करे और अपनी बारी आने पर वैक्सीन जरूर लगवायें।
—000—
जिला अस्पताल में कोरोना के 68 और उप जिला अस्पताल में 44 बेड खाली
सवाई माधोपुर, 23 मई। जिले में कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने तथा मरीजों को समुचित उपचार दिलाने के जिला कलेक्टर राजेन्द्र किशन के प्रयासों को गत 10 दिन से उल्लेखनीय सफलता मिल रही है। अप्रेल माह के अंतिम एवं मई के प्रथम सप्ताह मंे जिला एव ंउप जिला अस्पताल पर कोविड मरीजों का खासा दवाब बढ गया था। उक्त समय में जिला अस्पताल और गंगापुर उप जिला अस्पताल में बमुश्किल 2-3 कोविड बेड खाली रहते थे तथा कई बार तो अतिरिक्त बेड लगाकर कोरोना पॉजिटिव का उपचार करना पडा।
अब लॉकडाउन की सफल पालना तथा ग्रामीण क्षेत्रों में जागरूकता बढने तथा समय रहते खांसी, बुखार के मरीजों की स्क्रीनिंग, टेंस्टिंग तथा सीएचसी पर ही कोविड वार्डाे के संचालन तथा चिकित्साकर्मिकयों की मेहनत से स्थिति में उल्लेखनीय सुधार हुआ है, जिला और उप जिला अस्पताल में बडी संख्या में कोविड बेड खाली हैं।
रविवार को जिला अस्पताल में कोरोना उपचार के लिये उपलब्ध 148 बेड में से 80 पर ही मरीज भर्ती थे। यहॉ रविवार को दोपहर दो बजे के बुलेटिन के अनुसार 68 बेड नये मरीजों के लिये उपलब्ध है।
इसी प्रकार गंगापुर उप जिला अस्पताल के पीएमओ डॉ. दिनेश गुप्ता ने बताया कि रविवार को उपलब्ध 70 कोरोना बेड में से 26 पर मरीज भर्ती थे, 44 बेड खाली रहे। रविवार को जिला अस्पताल में भर्ती मरीजों में से स्वस्थ होने पर 13 को तथा उप जिला अस्पताल गंगापुर में से 10 मरीजों को स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज किया गया।
—000—
मीना पत्नी मुफीद ने हौंसले के साथ चिकित्सकों के निर्देशों का पालन कर दी
कोरोना को मात, ऑक्सीजन सेचुरेशन 60 पर अस्पताल में हुई थी भर्ती
सवाई माधोपुर, 23 मई। हौंसला एवं मन में हिम्मत हो तो हर कठिनाई से पार पाया जा सकता है। ऐसा ही हौंसला वजीरपुर (गंगापुर) निवासी 63 वर्षीय मीना पत्नी मुफीद दिखाया तथा चिकित्सकों की सलाह एवं धैर्य के साथ कोरोना से जंग जीत ली। उप जिला चिकित्सालय के पीएमओ डॉ दिनेश गुप्ता ने बताया कि मीना पत्नी मुफीद को कोरोना होने एवं ऑक्सीजन सेचुरेशन 60 रहने पर उप जिला चिकित्सालय गंगापुर के कोरोना वार्ड में 10 मई को परिजनों द्वारा भर्ती करवाया गया।
अस्पताल के पीएमओ डॉ दिनेश गुप्ता ने बताया कि क्रिटिकल स्थिति में भर्ती हुई मीना ने हिम्मत एवं हौंसला दिखाया, चिकित्सकों की मेहनत एवं उनके द्वारा दी गई सलाह को मानकर अस्पताल में उपचार लिया। ऑक्सीजन लेवल धीरे धीरे बढने लगा, स्वास्थ्य में सुधार हुआ। आखिर चिकित्सकों की मेहनत रंग लाई। मीना के हौंसले एवं चिकित्सकों के जज्बे के आगे कोरोना को हारना पडा। रविवार को चिकित्सकों ने कोरोना से जंग जीतने वाली मीना पत्नी मुफीद को स्वस्थ होने पर घर के लिए डिस्चार्ज किया। चिकित्सक एवं नर्सिंग स्टाफ का धन्यवाद देते हुए मीना ने आमजन से अपील की है कि कोरोना के लक्षण मिलते ही चिकित्सक से सलाह ले तथा पॉजिटिव आने पर बिल्कुल न घबराएं। हिम्मत एवं हौंसला रखकर, चिकित्सकों द्वारा बताई गई सलाह का पालन करें।
—000—

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

Topics

Translate »
error: Content is protected !!