Home » रावतसर:: कोरोना काल ने सिखाई ऑक्सीजन संवाहक पेड़ों की महत्ता :: एस डी एम रावतसर श्रीमती शिवा चौधरी
ARTICLE : social / political / economical / women empowerment / literary / contemporary Etc .

रावतसर:: कोरोना काल ने सिखाई ऑक्सीजन संवाहक पेड़ों की महत्ता :: एस डी एम रावतसर श्रीमती शिवा चौधरी


रावतसर।विश्व पर्यावरण दिवस पर आज राजकीय अंबेडकर छात्रावास रावतसर में विभिन्न प्रकार के फलदार एवम औषधीय पौधे लगाए गए।
इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में
रावतसर एसडीएम श्रीमती शिवा चौधरी , श्री पूर्णराम देव सीबीईओ पीलीबंगा , श्रीमती कैलाश चाहर उप प्रधान पीलीबंगा , डॉ राजेंद्र डूडी प्राचार्य एम डी कॉलेज , समाजसेवी श्री श्रवण पडिहार , श्री भूराराम चांवरिया , श्री भादरराम जीनागल , श्री राजू सारसर व श्री धर्मपाल ने संयुक्त रुप से 21 फलदार व औषधीय पेड़ पौधे लगाए ।समाजसेवी श्रवण परिहार व हनुमान सिंह राठौड़ ने इन समस्त पेड़ पौधों की सार संभाल की जिम्मेदारी ली ।
एसडीएम रावतसर श्रीमती शिवा चौधरी ने कहा कि वर्तमान में प्रकृति के संरक्षण की बहुत ज्यादा आवश्यकता है । इस कोरोना काल अवधि के अंदर हमने ऑक्सीजन के महत्व को भली-भांति समझा है इसलिए प्रत्येक व्यक्ति को अपने जीवन में एक एक पेड़ पौधा लगाकर उसकी भली भांति सार संभाल रखनी चाहिए ।
इस अवसर पर पूर्णराम देव सीबीईओ पीलीबंगा ने बताया कि वर्तमान में औषधीय पौधों का भी बहुत महत्व है ।प्रत्येक व्यक्ति को अपने घर के बगीचे में 5 औषधीय पौधे तुलसी , गिलोय , अश्वगंधा , कालमेघ , अर्जुन व अमलतास लगाने चाहिए । इसका मुख्य उद्देश्य आयुर्वेद व स्थानीय परम्परागत ज्ञान व वनों में उपलब्ध औषधियों को घरों में लगाकर लोगों के स्वास्थ्य में सुधार करना है। कार्यक्रम में बोलते हुई एम डी महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ राजेंद्र डूडी ने कहा कि पेड़ पौधे लगाकर केवल हमें कर्तव्य की इतिश्री नहीं कर लेनी चाहिए बल्कि उनकी सार संभाल की जिम्मेवारी भी लेनी चाहिए ।

Topics

Translate »
error: Content is protected !!