Home » भगोड़ा जाकिर नाइक FIFA वर्ल्ड कप के बीच पहुंचा कतर, करेगा मजहबी तकरीर
DEFENCE, INTERNAL-EXTERNAL SECURITY AFFAIRS INTERNATIONAL NEWS SOUTH ASIA INTELLIGENCE TERRORISME ACTIVITIES

भगोड़ा जाकिर नाइक FIFA वर्ल्ड कप के बीच पहुंचा कतर, करेगा मजहबी तकरीर

*भगोड़ा जाकिर नाइक FIFA वर्ल्ड कप के बीच पहुंचा कतर, करेगा मजहबी तकरीर*


भारत में भगोड़ा घोषित जाकिर नाइक इस वक्त कतर में है. कतर के एक सरकारी चैनल के टेलीविजन प्रेजेंटर ने ट्वीट कर इस बात का खुलासा किया है. उसने ट्वीट में कहा है कि शेख जाकिर नाइक वर्ल्ड कप के दौरान कतर में हैं और पूरे विश्व कप के बीच कई धार्मिक व्याख्यान देंगे.
*REPORT BY SAHIL PATHAN*
मनी लॉन्ड्रिंग, भड़काऊ भाषण और आतंक से जुड़ी गतिविधियों का आरोपी इस्लामिक धर्मगुरु जाकिर नाइक FIFA वर्ल्ड कप के बीच कतर पहुंच गया है. भारत में भगोड़ा घोषित जाकिर नाइक वर्ल्ड कप के दौरान मजहबी तकरीर करने के लिए कतर पहुंचा है.
कतर के सरकारी स्पोर्ट्स चैनल अलकास के टेलीविजन प्रेजेंटर अल्हाजरी ने ट्वीट किया, ‘ शेख जाकिर नाइक वर्ल्ड कप के दौरान कतर में हैं और पूरे विश्व कप के बीच कई धार्मिक व्याख्यान देंगे.’
दरअसल, जाकिर नाइक भारत में 1990 के दशक से अपने धार्मिक उपदेशों को लिए चर्चा में आया था. साल 2000 की शुरुआत में उसके कई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुए, जिसमें जाकिर नाइक ने कई आपत्तिजनक भाषण दिए.
इसके बाद जाकिर पर अपने अनुयायियों को दूसरे धार्म के खिलाफ भड़काने के आरोप लगने लगे. इसके बाद 2016 में भारत ने जाकिर नाइक की संस्था इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन (IRF) पर प्रतिबंध लगा दिया. 2017 से जाकिर नाइक एक भगोड़े भगोड़े के रूप में मलेशिया में जीवन गुजार रहा है.
जाकिर नाइक मलेशिया का स्थायी निवास है. लेकिन ‘राष्ट्रीय सुरक्षा’ का हवाला देते हुए 2020 से मलेशिया के अंदर उसके भाषण देने से प्रतिबंधित लगा हुआ है. जुलाई 2016 में देश छोड़कर भागने के एक साल बाद, भारत ने जाकिर नाइक का पासपोर्ट रद्द कर दिया था. तब जाकिर नाइक ने दावा किया था कि वह एक एनआरआई था
*ढाका विस्फोट के बाद आया था नाम सामने*
सबसे पहले जाकिर नाइक का नाम तब पहली बार सामने आया था, जब 2016 में बांग्‍लादेश की राजधानी ढाका में विस्‍फोट हुए थे. इस घटना के बाद जो आतंकी गिरफ्तार हुए थे, उन्‍होंने बताया था कि वह जाकिर के भाषणों से प्रभावित हैं. ढाका में हुए इस ब्‍लास्‍ट में 22 लोग मारे गए थे. इसके बाद भारत में जाकिर के खिलाफ मुंबई पुलिस की स्‍पेशल ब्रांच ने मामले की जांच की थी. बाद में NIA ने मामले की इंवेस्‍टीगेशन की थी.
शुरुआती जांच के बाद जाकिर और IRF पर बैन लगा दिया गया था. उस पर आरोप था कि वह अपने भाषणों से धर्मों के बीच विद्वेष फैला रहा है. वहीं उसके भाषण सुनकर मुस्लिम युवक आतंकी बन रहे हैं. तब एक रिपोर्ट भी सामने आई थी, जिसमें सामने आया था कि IRF ने 400-500 पुरुष और महिलाओं का धर्म परिवर्तन करवाया थाजाकिर नाइक के खिलाफ इसके बाद महाराष्ट्र और केरल में एफआईआर दर्ज हुई थीं. वहीं जांच में ये भी सामने आया था कि कि IRF को विदेशों से भी फंड मिल रहा है. जाकिर के पाकिस्‍तान और यहां मौजूद आतंकी संगठनों से संबंध भी सामने आए थे.
बता दें कि जाकिर नाइक पर भारत में कई आपराधिक मामले दर्ज हैं. वह भारत में वांछित है. उस पर आरोप है कि उसके भाषण विवादित थे, जो पीस टीवी पर दिखाये जाते थे. उसके एनजीओ IRF का दफ्तर मुंबई के डोंगरी में था.

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

Topics

Translate »
error: Content is protected !!