Home » आतंकी साजिश के लिए विदेशों से राजस्थान आया पैसा:जयपुर से पकड़े गैंगस्टर ने NIA को बताया, 100 ठिकानों पर रेड
N.I.A NATIONAL INVESTIGATION AGENCY

आतंकी साजिश के लिए विदेशों से राजस्थान आया पैसा:जयपुर से पकड़े गैंगस्टर ने NIA को बताया, 100 ठिकानों पर रेड

आतंकी साजिश के लिए विदेशों से राजस्थान आया पैसा:जयपुर से पकड़े गैंगस्टर ने NIA को बताया, 100 ठिकानों पर रेड

एक महीने में दूसरी बार राजस्थान में एनआईए की टीमें पहुंची हैं। लोकल गैंगस्टर के तार विदेशों से जुड़े होने की सूचना ने एजेंसियों की नींद उड़ा दी है।

राजस्थान में एक बार फिर नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी की टीमों ने पांच से ज्यादा जिलों में रेड की है। टेरर फंडिंग मामले में देर रात से सर्च की जा रही है। राजस्थान के साथ पंजाब, हरियाणा, दिल्ली और मध्यप्रदेश में 100 से ज्यादा ठिकानों पर टीमों ने दबिश दी है। सूत्रों के अनुसार जयपुर से पकड़े गए पंजाब के गैंगस्टर से मिली सूचना पर एनआईए एक्शन में है।

जानकारी के अनुसार एनआईए की टीमें राजस्थान में 20 से ज्यादा जगहों पर सर्च कर रही हैं। यह छापेमारी गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई, नीरज बवाना, टिल्लू ताजपुरिया से जेलों में हुई पूछताछ के बाद की जा रही है।

एनआईए से जुड़े सूत्रों के अनुसार कई बदमाश इन गैंगस्टर के लिए काम कर रहे हैं। जिस पर बदमाशों के संभावित ठिकानों पर एनआईए की टीम सर्च कर रही हैं।

राजस्थान में एनआईए की टीम हनुमानगढ़, सीकर, नागौर, चूरू, अजमेर, बाड़मेर और जैसलमेर के इलाकों में सर्च कर रही हैं। एजेंसी को जानकारी मिली है कि सभी गैंगस्टर के तार विदेश से भी जुड़े हैं।

भारत में लॉरेंस बिश्नोई और बवाना गैंग के नाम पर टेरर फंडिंग को इस छापेमारी की बड़ी वजह बताया जा रहा है। इससे पहले भी एनआईए की टीम ने करीब एक महीने पहले देशभर में रेड करते हुए 102 जगहों पर सर्च किया था।

इस दौरान एजेंसी को कई संदिग्ध चीजें मिली थीं। जिस के आधार पर लॉरेंस और नीरज से दोबारा पूछताछ हुई।

हुड्‌डा से मिला एक बड़ा इनपुट
पंजाब पुलिस ने कुछ दिन पहले शूटर राज हुड्‌डा को जयपुर में पकड़ा था। उससे भी पंजाब पुलिस को कई लीड मिली हैं। जानकारी के अनुसार हुड्‌डा का पहले भी राजस्थान में मूवमेंट रहा है। उसके पीछे मादक पदार्थों की सप्लाई सामने आ रही है।

जयपुर में राज हुड्‌डा को पकड़ने पहुंची पंजाब और राजस्थान की टीमों पर गैंगस्टर ने फायरिंग कर दी थी। एनकाउंटर के दौरान हुड्‌डा के पैर में गोली लगी थी।

जयपुर में राज हुड्‌डा को पकड़ने पहुंची पंजाब और राजस्थान की टीमों पर गैंगस्टर ने फायरिंग कर दी थी। एनकाउंटर के दौरान हुड्‌डा के पैर में गोली लगी थी।

ऐप से करता था बात

राज हुड्‌डा ऐप की मदद से गोल्डी बराड़ से कई बार बात कर चुका है। गोल्डी के कहने पर वह कई राज्यों में मूवमेंट करता। लोकल बदमाशों को अपने साथ लेने पर काम किया करता था।

राज हुड्‌डा इतना शातिर बदमाश है कि वह गोल्डी बराड़ से बात करने के बाद ऐप को डिलीट कर देता है।

फिर अगर उसे दोबारा बात करनी होती तो वह ऐप को दोबारा से डाउनलोड कर लेता था। राज हुड्डा पंजाब के फरीदकोट में डेरा प्रेमी प्रदीप की गोलियां मार कर उसकी हत्या करने के मामले में फरार चल रहा था। जिसे पंजाब पुलिस की एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स (AGTF) जयपुर से गिरफ्तार किया था।

सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड व डेरा प्रेमी मर्डर के मास्टरमाइंड गोल्डी बराड़ को लेकर पंजाब पुलिस की सिफारिश पर रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया गया था। पंजाब पुलिस के डीजीपी गौरव यादव ने ट्वीट करते हुए कहा कि गोल्डी अभी नॉर्थ अमेरिका में है। उसे भारत लाने के लिए रेड कॉर्नर नोटिस जारी कर दिया है।

बराड़ को कई राज्यों की पुलिस तलाश कर रही है। गोल्डी अपने बचाव के लिए कैलिफोर्निया में कानूनी तरीके से राजनीतिक शरण लेने का प्रयास कर रहा है। हालांकि, यह शरण तब मिलती है जब कोई व्यक्ति यह साबित करें कि उसे अपने देश में इंसाफ नहीं मिल रहा है।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

Topics

Translate »
error: Content is protected !!