MINISTRY OF DEFENCE

जम्मू-कश्मीर में कर्नल, मेजर और DSP समेत 4 शहीद:दो आतंकी मारे गए, राजौरी और अनंतनाग में एनकाउंटर जारी

जम्मू-कश्मीर में कर्नल, मेजर और DSP समेत 4 शहीद:दो आतंकी मारे गए, राजौरी और अनंतनाग में एनकाउंटर जारी

अनंतनाग

अनंतनाग जिले के कोकेरनाग इलाके में बुधवार दोपहर तलाशी और घेराबंदी अभियान शुरू किया गया। - Dainik Bhaskar

अनंतनाग जिले के कोकेरनाग इलाके में बुधवार दोपहर तलाशी और घेराबंदी अभियान शुरू किया गया।

जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के साथ दो मुठभेड़ों में सेना के तीन अफसर और एक जवान शहीद हो गए हैं। अफसरों में एक कर्नल, एक मेजर और एक DSP शामिल हैं। अनंतनाग में आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर उस वक्त गोली चला दी, जब वे सर्च ऑपरेशन चला रहे थे। इसमें कर्नल मनप्रीत सिंह, मेजर आशीष धोनैक और डीएसपी हुमायूं भट शहीद हो गए।

जवान की मौत मंगलवार को राजौरी में हुई। दोनों जगह एनकाउंटर अभी जारी है। राजौरी में दो आतंकी मारे गए हैं। यहां सर्चिंग के दौरान मंगलवार को सेना के डॉग की भी मौत हो गई। उसने अपने हैंडलर की जान बचाने के लिए खुद की जिंदगी दांव पर लगा दी।

एनकाउंटर के दौरान आर्मी डॉग ने हैंडलर को बचाया
सेना के अधिकारी ने बताया कि एनकाउंटर में शहीद हुए आर्मी डॉग का नाम केंट था। उसने मुठभेड़ के दौरान अपने हैंडलर को बचाया और खुद शहीद हो गया। यह हादसा तब हुआ जब वो भाग रहे आतंकियों की तलाश करने के लिए जवानों की एक यूनिट का नेतृत्व कर रहा था। इस दौरान वो भारी गोलाबारी की चपेट में आ गया।

यह आर्मी डॉग केंट की तस्वीर है।

यह आर्मी डॉग केंट की तस्वीर है।

PAK घाटी की शांति भंग कर रहा- नॉर्दन आर्मी कमांडर
नॉर्थ टेक सिंपोजियम 2023​ कार्यक्रम के दौरान​​ नॉर्दन आर्मी कमांडर लेफ्टिनेंट उपेंद्र द्विवेदी ने एनकाउंटर को लेकर कहा कि पाकिस्तान एक बार फिर क्षेत्र में आतंक फैलाने की कोशिश कर रहा है। उन्होंने कहा- पाकिस्तान घाटी में शांति भंग करने के लिए सीमा पार से कट्टरपंथी बंदूकधारियों को भेजने की कोशिश कर रहा था। हालांकि, हम पाकिस्तान को उसके नापाक मंसूबों में सफल नहीं होने देंगे।

11 सितंबर की शाम को पतराडा के जंगली इलाके में तलाशी और घेराबंदी अभियान शुरू किया गया था।

11 सितंबर की शाम को पतराडा के जंगली इलाके में तलाशी और घेराबंदी अभियान शुरू किया गया था।

इस साल अब तक 26 आतंकी मारे गए
न्यूज एजेंसी PTI की रिपोर्ट् के मुताबिक, सुरक्षाबलों को इलाके में 3-4 आतंकियों के छिपे होने की जानकारी मिली थी। इसके बाद वहां तलाशी अभियान चलाया गया। छापेमारी के दौरान आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग की, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई थी।

इस साल अब तक राजौरी-पूंछ जिले में सुरक्षबलों ने 26 आतंकियों को मार गिराया है। 10 सुरक्षाकर्मी भी शहीद हुए हैं।

दो संदिग्ध व्यक्ति भागने में सफल हुए थे
सुरक्षा अधिकारी ने बताया कि 11 सितंबर की शाम को पतराडा के जंगली इलाके में तलाशी और घेराबंदी अभियान शुरू किया गया था। दो व्यक्तियों की संदिग्ध गतिविधि को देखते हुए कुछ राउंड फायरिंग की गई थी। हालांकि, दोनों संदिग्ध भागने में सफल रहे थे।

9 अगस्त को पकड़े गए थे 6 आतंकी
कश्मीर पुलिस और इंडियन आर्मी ने जॉइंट ऑपरेशन के दौरान 15 अगस्त से पहले 6 आतंकियों को गिरफ्तार किया था। इनके पास से गोला-बारूद और हथियार बरामद किए गए थे। पहला मामला 9 अगस्त की रात का है, जहां कोकेरनाग के एथलान गडोले में तीन आतंकी पकड़े गए। मुठभेड़ के दौरान सेना के जवान समेत 3 लोग घायल हुए।

दूसरा मामला बारामूला के उरी का है, जहां सुरक्षाकर्मियों ने लश्कर के 3 आतंकी पकड़े। इनके खिलाफ UAPA और आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया। बारामूला पुलिस और सेना की 16 सिख लाइट इन्फैंट्री के सुरक्षा बलों ने पेट्रोलिंग के दौरान चुरुंडा उरी में एक संदिग्ध को देखा। सुरक्षाबलों को देखकर वह भागने लगा, लेकिन सुरक्षाबलों ने उसे दबोच लिया। उसकी पहचान उरी के निवासी शौकत अली अवान के रूप में हुई। उसके पास से दो ग्रेनेड बरामद हुए। 

सुरक्षाकर्मियों ने लश्कर-ए-तैयबा संगठन के 3 आतंकवादी सहयोगियों को गिरफ्तार किया था।

सुरक्षाकर्मियों ने लश्कर-ए-तैयबा संगठन के 3 आतंकवादी सहयोगियों को गिरफ्तार किया था।

6 अगस्त को तीन आतंकी मारे गए थे
6 अगस्त को भारतीय सेना और जम्मू-कश्मीर पुलिस ने जॉइंट ऑपरेशन में LoC के पास दो आतंकियों को मार गिराया था। ये आतंकी LoC के पास घुसपैठ की कोशिश कर रहे थे। इसी दिन शाम को भी घुसपैठ की कोशिश कर रहे एक अन्य आतंकवादी को मार गिराया गया था। 

यह विजुअल सेना की ओर से जारी किया गया था। इसमें पुंछ में LoC के पास घुसपैठ की कोशिश करते आतंकी दिख रहे हैं।

यह विजुअल सेना की ओर से जारी किया गया था। इसमें पुंछ में LoC के पास घुसपैठ की कोशिश करते आतंकी दिख रहे हैं।

4 अगस्त को कुलगाम में तीन जवान शहीद हुए थे
4 अगस्त को कुलगाम के हलान जंगल में आतंकियों ने सेना के टेंट पर फायरिंग की थी। इसके बाद दोनों ओर से गोलीबारी शुरू हुई, जो देर रात तक जारी रही। इस घटना में 3 जवान घायल हो गए थे। तीनों को श्रीनगर के मिलिट्री हॉस्पिटल में भर्ती किया गया था। इलाज के दौरान देर रात तीनों की मौत हो गई थी। 

Topics

Translate:

Google News
Translate »