politics

गहलोत के करीबी ने कांग्रेस की हार का ठीकरा मुख्यमंत्री पर फोड़ा, आलाकमान के साथ भी फरेब,पढ़ें चौंकाने वाले आरोप

TIN NETWORK
TIN NETWORK

गहलोत के करीबी ने कांग्रेस की हार का ठीकरा मुख्यमंत्री पर फोड़ा, आलाकमान के साथ भी फरेब,पढ़ें चौंकाने वाले आरोप

राजस्थान चुनाव के नतीजे सामने आते ही अशोक गहलोत के ओएसडी ने गंभीर आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि गहलोत के चेहरे पर, उनको फ्री हैंड देकर, उनके नेतृत्व में पार्टी ने चुनाव लड़ा और उनके मुताबिक प्रत्येक सीट पर वे स्वयं चुनाव लड़ रहे थे। लेकिन न उनका अनुभव चला, न जादू और न ही अथाह पिंक प्रचार काम आया। इसी के साथ आलाकमान के साथ फरेब लगाया।

जयपुर : राजस्थान में विधानसभा चुनाव परिणाम के बाद पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत अब आलोचकों के निशाने पर हैं। कांग्रेस की हार को लेकर गहलोत को जिम्मेदार बताया जा रहा है। आलोचना की शुरुआत उनके करीबी OSD लोकेश शर्मा ने की है। जो सियासत को हैरान कर रही है। लोकेश ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म X पर पोस्ट कर गहलोत पर जमकर हमले किए। उन्होंने कहा कि ‘इस बार अशोक गहलोत का ना तो जादू चला, न ही उनका अनुभव। हर बार की तरह कांग्रेस को उनकी योजनाओं के सहारे जीत नहीं मिली और न ही अथाह पिंक प्रचार काम आया। तीसरी बार लगातार सीएम रहते हुए गहलोत ने पार्टी को फिर हाशिये पर लाकर खड़ा कर दिया। आज तक पार्टी से सिर्फ लिया ही लिया है, लेकिन कभी अपने रहते पार्टी की सत्ता में वापसी नहीं करवा पाए गहलोत।

गहलोत पर मनमानी के लगाए

सोशल मीडिया की पोस्ट के माध्यम से लोकेश शर्मा ने गहलोत को जमकर निशाने पर लिया। उन्होंने कहा कि गहलोत ने पार्टी को फिर से हाशिये पर लाकर खड़ा कर दिया है। उन्होंने कहा कि आज तक पार्टी से सिर्फ लिया ही लिया है, लेकिन कभी अपने रहते हुए पार्टी के सत्ता में वापसी नहीं कर पाए। आलाकमान के साथ फरेब, ऊपर तक फीडबैक नहीं पहुंचने देना, किसी को विकल्प तक न बनने देना, अपरिपक्व और अपने फायदे के लिए जुड़े लोगों से घिरे रहना, आत्ममुग्धता में लगातार गलत और आपाधापी में फैसले लिए जाते रहे। उन्होंने आगे लिखा कि तमाम फीडबैक और सर्वे को दरकिनार कर गलत, अपनी मनमर्जी और अपने पसंदीदा प्रत्याशियों को उनकी स्पष्ट हार को देखते हुए भी टिकट दिलवाने की जिद पर रहे। लोकेश शर्मा ने आगे लिखा कि आज के नतीजे पहले से तय थे। मैं स्वयं भी मुख्यमंत्री को यह बता चुका था। कई बार आगाह भी कर चुका था। लेकिन उन्हें ऐसी कोई सलाह या व्यक्ति अपने साथ नहीं चाहिए था जो सच बताए।

गहलोत का न जादू चला, न ही अनुभव

अशोक गहलोत के ओएसडी के रूप में कार्य कर चुके उनके करीबी लोकेश शर्मा। अब उनके सबसे बड़े आलोचक बन गए हैं। उन्होंने सोशल मीडिया पर गहलोत को लेकर अपनी भड़ास निकाली। उन्होंने कहा कि ‘अशोक गहलोत जी कभी कोई बदलाव नहीं चाहते थे। लेकिन यह कांग्रेस नहीं बल्कि अशोक गहलोत जी की शिकस्त है। उन्होंने आगे लिखा कि गहलोत क चेहरे पर उनको फ्री हैंड देकर उनके नेतृत्व में पार्टी ने चुनाव लड़ा और उनके अनुसार ही प्रत्येक सीट पर वह स्वयं चुनाव लड़ रहे थे। ना उनका अनुभव चला, ना जादू और हर बार की तरह कांग्रेस को उनके प्रचार की योजनाओं के सहारे जीत नहीं मिली। नहीं अथाह पिंक प्रचार काम आया।

25 सितंबर के बाद से राजस्थान में खेल शुरू हो गया

लोकेश शर्मा ने सोशल मीडिया में अपनी पोस्ट के माध्यम से अशोक गहलोत को जमकर निशाना बनाया। उन्होंने राजस्थान में कांग्रेस की हार के लिए गहलोत को जिम्मेदार बताया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की हार में 25 सितंबर की घटना महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस हाई कमान का विद्रोह हुआ। उसके बाद से ही राजस्थान में खेल की शुरुआत हो गई। यह भी राजस्थान में कांग्रेस की हार का प्रमुख कारण है।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

Topics

Translate:

Google News
Translate »
error: Content is protected !!