National News

चंडीगढ़ के गैस्ट हाउस से गोगामेड़ी के 3 हत्यारे गिरफ्तार:फेक आधार-नाम से छुपे, हिसार रेलवे स्टेशन पर दिखने के बाद पीछे लगी पुलिस

TIN NETWORK
TIN NETWORK

चंडीगढ़ के गैस्ट हाउस से गोगामेड़ी के 3 हत्यारे गिरफ्तार:फेक आधार-नाम से छुपे, हिसार रेलवे स्टेशन पर दिखने के बाद पीछे लगी पुलिस

चंडीगढ़

दिल्ली और राजस्थान पुलिस को इन हत्यारों की लोकेशन से चंडीगढ़ में छिपे होने का पता चला है। - Dainik Bhaskar

दिल्ली और राजस्थान पुलिस को इन हत्यारों की लोकेशन से चंडीगढ़ में छिपे होने का पता चला है।

राजस्थान में श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी के हत्यारे चंडीगढ़ के सेक्टर 24 के होटल कमल रिजॉर्ट नाम के गैस्ट हाउस में छुपे हुए थे। जहां से शनिवार रात को दिल्ली क्राइम ब्रांच की टीम पकड़कर ले गई। इनमें गोगामेड़ी को गोली मारने वाले शूटर नितिन फौजी और रोहित राठौर के अलावा उनका साथी उधम भी शामिल है।

इस गैस्ट हाउस में तीनों आरोपी नाम बदलकर छुपे हुए थे। उन्होंने अपने नाम दविंदर कुमार, जयवीर सिंह और सुखबीर सिंह रखे हुए थे। इसके लिए उन्होंने फर्जी आधार कार्ड दिए थे।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक गोगामेड़ी की हत्या के बाद शूटर नितिन फौजी और रोहित ठाकुर राजस्थान के डीडवाणा से चुरू-दिल्ली रोडवेज बस में बैठे। नेशनल हाईवे पर रेवाड़ी के धारूहेड़ा कस्बे में सुबह उतरे।

उसके बाद ये किसी गाड़ी से रेवाड़ी रेलवे स्टेशन पहुंचे। यहां से ये हिसार की ट्रेन में पहुंचे। हिसार में ही यह CCTV फुटेज में दिखे। जिससे पुलिस को लीड मिली और वह इनके पीछे लग गई। इसके बाद वह मनाली गए। वहां से कल शनिवार को जब चंडीगढ़ आए तो पकड़े गए।

चंडीगढ़ के सेक्टर-24 में कमल गेस्ट हाउस में तीनों आरोपी छिपे हुए थे। जहां से पुलिस ने उन्हें पकड़कर ले गई है।

चंडीगढ़ के सेक्टर-24 में कमल गेस्ट हाउस में तीनों आरोपी छिपे हुए थे। जहां से पुलिस ने उन्हें पकड़कर ले गई है।

मोबाइल पर बात करने से लोकेशन मिलती रही
शूटर्स ने हत्या करने के बाद हथियारों को छुपा दिया था, ताकि भागते समय ट्रेन या बस में चेकिंग के समय न पकड़े जा सकें। मगर, आरोपी शूटर्स फरारी के दौरान मोबाइल का इस्तेमाल कर रहे थे। शूटर्स गैंगस्टर रोहित गोदारा के राइट हैंड वीरेंद्र चौहान और दानाराम के संपर्क में थे।

उन्होंने वीरेंद्र चौहान और दानाराम के इशारे पर ही हत्या को अंजाम दिया गया था। हत्या करने के बाद दोनों शूटर्स वीरेंद्र चौहान और दानाराम से लगातार बात कर रहे थे। जिसके बाद पुलिस ने इनकी टेक्निकल सर्विलांस शुरू कर दी। इसके बाद चंडीगढ़ पहुंचते ही इन्हें पकड़ लिया गया।

होटल में ठहरने के लिए दी गईं फेक ID…

इस आधार कार्ड में देवेंद्र का नाम लिखा गया है। वहीं एड्रेस हरियाणा के भिवानी जिला का है।

इस आधार कार्ड में देवेंद्र का नाम लिखा गया है। वहीं एड्रेस हरियाणा के भिवानी जिला का है।

इस आधार कार्ड पर हरियाणा के हिसार का एड्रेस लिखा है।

इस आधार कार्ड पर हरियाणा के हिसार का एड्रेस लिखा है।

चंडीगढ़ में सेक्टर 24 के होटल में रजिस्टर पर गई एंट्री।

चंडीगढ़ में सेक्टर 24 के होटल में रजिस्टर पर गई एंट्री।

रोहित ने ली थी गोगामेड़ी की हत्या की जिम्मेदारी
शनिवार रात गिरफ्तार किए गए 3 आरोपियों में से एक रोहित राठौड़ (रोहित गोदारा) गैंगस्टर लॉरेंस विश्नोई की गैंग का गुर्गा है। उसने गोगामेड़ी की हत्या की जिम्मेदारी ली थी। पुलिस ने उस पर एक लाख रुपए का इनाम घोषित किया था। बता दें कि रोहित गोदारा ने ही गोगामेड़ी के कत्ल की जिम्मेदारी ली थी। गोगामेड़ी की हत्या के बाद उसने सोशल मीडिया पर पोस्ट डालकर कहा था कि गोगामेड़ी उनके दुश्मनों की मदद करता था, इसकी वजह से उसकी हत्या कर दी।

हरियाणा का नितिन फौजी आर्मी जवान, छुट्‌टी पर आया था
गोगामेड़ी हत्याकांड में शामिल शूटर नितिन फौजी आर्मी का जवान है। वह राजस्थान के अलवर में तैनात था। वह 9 नवंबर को छुट्‌टी पर आया था। इसके बाद घर से गाड़ी ठीक कराने के बहाने निकला और वापस नहीं लौटा। इसके बाद परिवार ने उसे गोगामेड़ी को गोलियां मारते सीसीटीवी में देखा। उसने लॉरेंस गैंग के कहने पर कत्ल की यह वारदात की थी।

पत्नी ने की थी एनकाउंटर की मांग
सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की पत्नी शीला शेखावत ने मांग की थी कि राजस्थान पुलिस उनके पति की हत्या करने वालों का एनकाउंटर कर दें। उन्होंने चेतावनी दी थी कि 72 घंटे में आरोपियों का एनकाउंटर न हुआ तो पूरे देश में उग्र आंदोलन करेंगे। मेरी पहली और आखिरी मांग एनकाउंटर ही है।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

Topics

Translate:

Google News
Translate »
error: Content is protected !!