Politics

वसुंधरा राजे ने फिर किया शक्ति-प्रदर्शन:पूर्व मुख्यमंत्री के आवास पर विधायकों के पहुंचने का सिलसिला जारी, विधायक दल की बैठक पर संशय

TIN NETWORK
TIN NETWORK

वसुंधरा राजे ने फिर किया शक्ति-प्रदर्शन:पूर्व मुख्यमंत्री के आवास पर विधायकों के पहुंचने का सिलसिला जारी, विधायक दल की बैठक पर संशय

जयपुर

राजस्थान में मुख्यमंत्री फेस को लेकर इंतजार लंबा होता जा रहा है। सोमवार को होने वाली बैठक भी टलने के आसार हैं। इसकी वजह राष्ट्रपति का लखनऊ दौरा माना जा रहा है। राजस्थान के ऑब्जर्वर बनाए गए राजनाथ सिंह लखनऊ से सांसद हैं। ऐसे में राष्ट्रपति के कार्यक्रम के दौरान उनकी मौजूदगी भी प्रस्तावित है।

उधर, अभी तक विधायकों के पास विधायक दल की बैठक को लेकर किसी तरह की कोई सूचना नहीं है। पार्टी पदाधिकारी भी आधिकारिक तौर पर कुछ नहीं बता रहे हैं। विधायक दल की बैठक मंगलवार या फिर बुधवार तक भी खिसक सकती है।

वसुंधरा राजे से मिलने कई विधायक पहुंचे

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे रविवार सुबह दिल्ली से जयपुर पहुंचीं। दोपहर में राजे से यहां 13 सिविल लाइंस आवास पर भाजपा विधायक मिलने पहुंचे। विधायक दल की बैठक से पहले वसुंधरा से विधायकों के मिलने को अहम माना जा रहा है। विधायकों के साथ ही पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी, पूर्व मंत्री देवी सिंह भाटी, पूर्व मंत्री राजपाल सिंह शेखावत, पूर्व विधायक प्रहलाद गुंजल भी वसुंधरा से मिलने पहुंचे।

वसुंधरा राजे के 13 सिविल लाइंस आवास पर लगातार समर्थकों की भीड़ जुट रही है।

वसुंधरा राजे के 13 सिविल लाइंस आवास पर लगातार समर्थकों की भीड़ जुट रही है।

अनुभवी मुख्यमंत्री होना जरूरी

पूर्व विधायक प्रहलाद गुंजल ने कहा कि राजस्थान के आर्थिक बिगड़े हालातों को देखते हुए अनुभवी मुख्यमंत्री का चयन होना जरूरी है। फिलहाल राजस्थान में सिर्फ वसुंधरा राजे ही अनुभवी नेता हैं। इस बात को राजस्थान की जनता भी महसूस कर रही है। सारा राजस्थान यही मांग कर रहा है। मैं भी यही चाहता हूं कि वसुंधरा राजे राजस्थान की अगली मुख्यमंत्री बननी चाहिए।

ये विधायक वसुंधरा राजे से मिलने पहुंचे….

क्रम संख्याविधायक का नामविधानसभा क्षेत्र
1.अजय सिंह किलकडेगाना
2.बाबू सिंह राठौड़शेरगढ़
3.अर्जुन लाल गर्गबिलाड़ा
4.अंशुमान सिंह भाटीकोलायत
5.पुष्पेंद्र सिंह राणावतबाली
6.श्रीचंद कृपलानीनिंबाहेड़ा
7.कैलाश वर्माबगरू
8.केके विश्नोईगुड़ामालानी
9.बहादुर सिंह कोलीवैर
10.जगत सिंहनदबई
11.संजीव बेनीवालभादरा

नड्‌डा का विधायकों से संवाद

राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्‌डा की विधायकों से शनिवार रात संवाद किया। वीसी के जरिए राष्ट्रीय अध्यक्ष नड्डा सभी नवनिर्वाचित विधायकों से जुड़े। विकसित भारत संकल्प यात्रा और पार्टी के आगामी कार्यक्रमों को लेकर विधायकों से बात की।

जेपी नड्डा ने नव निर्वाचित विधायकों को जीत के बाद टास्क भी दे दिया है। विधायकों को 17 दिसंबर तक संकल्प यात्रा की तैयारियां पूरा कर लेने के निर्देश दिए। नड्डा ने विधायकों को कहा- अपने-अपने विधानसभा क्षेत्र में प्रभावी रूट लाइन तय करें। कई विधायक 3 से 6 बार के हैं। उन्होंने पहले भी कई अभियानों को गति दी है। जो युवा विधायक जीतकर आए हैं, उनके जोश से अभियान को गति मिलेगी। वीसी में राष्ट्रीय महासचिव सुनील बंसल, प्रदेशाध्यक्ष सीपी जोशी, संगठन महामंत्री चंद्रशेखर भी जुड़े थे। करीब 20 मिनट नड्डा ने विधायकों से संवाद किया।

इस बीच बाबा बालकनाथ ने अपने सीएम बनने को लेकर चल रही अटकलों को खारिज कर दिया। उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा कि मेरे बारे में लगाए जा रहे कयासों को नजरअंदाज करें। मुझे अभी प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन में अनुभव प्राप्त करना है।

पढ़िए, क्या कहा बालकनाथ ने…

विधायकों को आधिकारिक सूचना दी गई
विधायक दल की बैठक को लेकर सभी विधायकों को आधिकारिक सूचना दे दी गई है। ताकि सभी विधायक तय समय पर जयपुर पहुंच सकें। प्रदेश अध्यक्ष सीपी जोशी भी दिल्ली से लौट आए हैं।

उधर, विधायक दल की बैठक से पहले प्रदेश भाजपा ने सभी विधायकों को जयपुर बुला लिया है। पर्यवेक्षक रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, राज्यसभा सांसद सरोज पांडे और राष्ट्रीय महासचिव विनोद तावडे के आज देर शाम तक राजस्थान पहुंचने की उम्मीद जताई जा रही है।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, राज्यसभा सदस्य सरोज पांडे और भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव विनोद तावड़े।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, राज्यसभा सदस्य सरोज पांडे और भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव विनोद तावड़े।

5 दिसंबर को करीब 45 विधायकों ने वसुंधरा से की थी मुलाकात

क्रम संख्याविधायक का नामविधानसभा क्षेत्र
1.अरुण चौधरीपचपदरा (बाड़मेर)
2.जोगाराम पटेललूणी (जोधपुर)
3.संजीव बेनीवालभादरा (हनुमानगढ़)
4.दर्शन सिंहकरौली
5.अजय सिंह किलकडेगाना (नागौर)
6.जसवंत यादवबहरोड़ (अलवर)
7.कालीचरण सराफमालवीय नगर(जयपुर)
8.बाबू सिंह राठौड़शेरगढ़ (जोधपुर)
9.प्रेमचंद बैरवादूदू (जयपुर)
10.गोविंद रानीपुरियामनोहरपुर थाना (झालावाड़)
11.ललित मीणाकिशनगंज (बारां)
12.कंवरलाल मीणाअंता (बारां)
13.राधेश्याम बैरवाबारां
14.कालूलाल मीणाडग (झालावाड़)
15.केके विश्नोईगुडामालानी (बाड़मेर)
16.विक्रम बंशीवालसिकराय (दौसा)
17.भागचंद टाकड़ाबांदीकुई (दौसा)
18.रामस्वरूप लांबानसीराबाद (अजमेर)
19.प्रताप सिंह सिंघवीछबड़ा (बारां)
20.गोपीचंद मीणाजहाजपुर (भीलवाड़ा)
21.बहादुर सिंह कोलीवैर (भरतपुर)
22.शंकर सिंह रावतब्यावर (अजमेर)
23.मंजू बाघमारजायल (नागौर)
24.विजय सिंह चौधरीनावां (नागौर)
25.समाराम गरासियापिंडवाड़ा-आबू रोड (सिरोही)
26.रामसहाय वर्मानिवाई (टोंक)
27.पुष्पेंद्र सिंह राणावतबाली (पाली)
28.शत्रुघ्न गौतमकेकड़ी (अजमेर)
29.गजेंद्र सिंह खींवसरलोहावट (जोधपुर)
30.गुरवीर सिंहसादुलशहर(श्रीगंगानगर)

इन 30 विधायकों के अलावा 15 और विधायक वसुंधरा से मिले थे।

दो डिप्टी सीएम के फॉर्मूले के भी कयास
मुख्यमंत्री के अलावा राजस्थान में दो डिप्टी सीएम बनाने के फॉर्मूले को भी लागू किया जा सकता है। ऐसा माना जा रहा है कि यदि दो डिप्टी सीएम बनाए गए तो इसमें एक महिला डिप्टी सीएम होगी, ताकि लोकसभा चुनाव के लिहाज से आधी आबादी को बड़ा मैसेज दिया जा सके। इसके अलावा इन पदों पर आदिवासी और राजपूत चेहरे को भी मौका दिया जा सकता है, हालांकि इन चेहरों का फैसला सीएम तय होने के बाद के समीकरण से तय होगा। इसके साथ ही इस फॉर्मूले से पार्टी के सभी धड़ों को साधने का भी प्रयास होगा।

शुक्रवार रात राजस्थान के रहने वाले राष्ट्रीय महामंत्री सुनील बंसल की राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्‌डा से मुलाकात हुई। इस मुलाकात के राजस्थान के लिहाज से सियासी मायने निकाले जा रहे हैं।

गहलोत बोले- कांग्रेस इतने दिन CM तय न कर पाती, तो भाजपा कहती आपस में फूट है
कार्यवाहक सीएम अशोक गहलोत ने बीजेपी में मुख्यमंत्री चयन में हो रही देरी को लेकर निशाना साधा है। दिल्ली में मीडिया से बातचीत में गहलोत ने कहा- अगर कांग्रेस 5-6 दिन मुख्यमंत्री का फैसला नहीं करती तो पता नहीं क्या-क्या चिल्लाते कि आपस में फूट है, झगड़ा है। अब आप इनको पूछो क्या है? आपके पास क्या है? आज 6 दिन हो गए हैं, मुख्यमंत्री का फैसला नहीं हुआ।

भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सीपी जोशी ने गहलोत के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि गहलोत अपने आप को इतना काबिल और बाकी सभी को नकारा और निक्कमा समझते हैं, तो कांग्रेस ने चुनाव में आपको फेस घोषित क्यों नही किया? वहीं, अगर आप इतने ही काबिल हैं तो लीडर ऑफ अपोजिशन का फैसला अभी तक क्यों नहीं कर पाए?

कंवरलाल मीणा बोले- वसुंधरा में है हमारा विश्वास
वसुंधरा राजे गुट के अंता विधायक कंवरलाल मीणा ने एक बार फिर वसुंधरा राजे को सीएम बनाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि हमारा विश्वास वसुंधरा राजे में है। वसुंधरा राजे को ही सीएम बनाया जाना चाहिए। उन्हें सीएम नहीं बनाने का कोई कारण नजर नहीं आता है, लेकिन फिर भी संगठन सर्वोपरि है। हाल ही में जयपुर में विधायकों की लॉबिंग के आरोपों के दौरान कंवरलाल मीणा का नाम चर्चा में आया था।

वसुंधरा ने नड्‌डा-शाह से मुलाकात की थी
पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे बुधवार रात दिल्ली पहुंच गई थीं। विधायक दल की बैठक में शामिल होने के लिए राजे आज जयपुर आ गईं। राजे ने दिल्ली में राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की थी। सूत्रों के अनुसार राजे ने केंद्रीय नेतृत्व के साथ विधानसभा चुनाव के परिणाम और लोकसभा चुनावों को लेकर चर्चा की थी। इसमें उन्होंने यह बताने की कोशिश की थी कि राजस्थान में उनकी कितनी आवश्यकता है।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

Topics

Translate:

Google News
Translate »
error: Content is protected !!