DEFENCE, INTERNAL-EXTERNAL SECURITY AFFAIRS

संसद सिक्योरिटी ब्रेक के 6 किरदार:ऑनलाइन मिले, चार गिरफ्तार, दो फरार; सभी को पनाह देने वाला पत्नी समेत पकड़ा गया

TIN NETWORK
TIN NETWORK

संसद सिक्योरिटी ब्रेक के 6 किरदार:ऑनलाइन मिले, चार गिरफ्तार, दो फरार; सभी को पनाह देने वाला पत्नी समेत पकड़ा गया

फोटो में बाएं से सागर शर्मा, डी मनोरंजन और नीलम। - Dainik Bhaskar

फोटो में बाएं से सागर शर्मा, डी मनोरंजन और नीलम।

संसद पर आतंकी हमले के 22 साल बाद एक बार फिर सुरक्षा में सेंध लगी। लोकसभा में दो युवक विजिटर गैलरी से कूदे और पीले रंग का धुआं उड़ाने लगे। सुरक्षा में सेंध लगाने वाले दोनों लोगों को पहले सांसदों ने पीटा, फिर पुलिस के सुपुर्द कर दिया।

अभी तक की जांच में इस सिक्योरिटी ब्रेक के 6 किरदार सामने आए हैं। दो ने सदन के अंदर हंगामा किया, दो ने सदन के बाहर प्रदर्शन किया। ये चारों पुलिस की गिरफ्त में हैं।

दो और लोग प्लानिंग में शामिल थे, इनमें से एक ने सभी को अपने घर में ठहराया था। उसे पुलिस ने पत्नी समेत हिरासत में ले लिया है। एक अभी भी फरार है।

अब आपको इन 6 किरदारों के बारे में बताते हैं….

भाजपा सांसद के विजिटर पास से गए थे दोनों
पुलिस की शुरुआती पूछताछ में सामने आया है कि सागर शर्मा यूपी के लखनऊ का रहने वाला है। डी मनोरंजन कर्नाटक के मैसुरु से है। संसद के बाहर पकड़ी गई नीलम हरियाणा के हिसार की है। चौथा आरोपी अमोल शिंदे महाराष्ट्र के लातूर का रहने वाला है। सागर शर्मा और डी मनोरंजन लोकसभा में विजिटर गैलरी में बैठे थे। उन्हें भाजपा सांसद प्रताप सिम्हा के कार्यालय से जारी पास पर एंट्री मिली थी।

दिल्ली पुलिस का कहना है कि इन सभी की एक-दूसरे से मुलाकात ऑनलाइन हुई थी। सभी ने मिलकर संसद में हंगामे की योजना बनाई। पुलिस का कहना है कि अभी तक इस बात के सबूत नहीं मिले हैं कि इन सभी को आतंकी समूह ने भड़काया है।

पुलिस ने सागर शर्मा और डी मनोरंजन के आधार कार्ड सहित अन्य जानकारी शेयर की है। मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक, पकड़ी गई नीलम 42 साल की है और पेशे से टीचर है, साथ ही सिविल सेवा की पढ़ाई कर रही है।

अब जानिए पकड़े गए आरोपियों के बारे में…

हिसार के PG में रहकर HTET की पढ़ाई कर रही थी नीलम

हरियाणा के जींद में रहने वाली नीलम, जिसे प्रदर्शन करते हुए पकड़ लिया गया है।

हरियाणा के जींद में रहने वाली नीलम, जिसे प्रदर्शन करते हुए पकड़ लिया गया है।

जिस समय सागर और मनोरंजन लोकसभा में हंगामा कर रहे थे, उसी वक्त अमोल और नीलम संसद के बाहर नारेबाजी कर प्रदर्शन कर रहे थे। नीलम हरियाणा के जींद जिले के घसो खुर्द गांव की रहने वाली है। पिछले 6 महीने से हिसार में पेइंग गेस्ट (PG) में रहकर हरियाणा सिविल सर्विस एग्जाम और HTET (हरियाणा शिक्षक पात्रता परीक्षा) की तैयारी कर रही थी।

घसो खुर्द गांव और हिसार में उसकी PG के आसपास रहने वाले लोगों का कहना है कि नीलम का राजनीति में इंट्रेस्ट था, लेकिन उसके संसद के बाहर प्रदर्शन की बात उनकी समझ से परे है।

नीलम के छोटे भाई राम निवास ने कहा- हमें तो पता ही नहीं था कि वह दिल्ली गई है। वह सोमवार को आई थी, इसके बाद मंगलवार को वापस चली गई। हमें तो यही लगा था कि वह हिसार जा रही है। उसने कई बार बेरोजगारी का मुद्दा उठाया। वह किसान आंदोलन में भी गई थी। परिवार में मेरा बड़ा भाई और माता-पिता हैं। पिता हलवाई हैं जबकि मैं और मेरा भाई दूध का काम करते हैं। 

लखनऊ में ई-रिक्शा चलाता है सागर शर्मा

लखनऊ में सागर की मां रानी ने बताया कि बेटा ई-रिक्शा चलाता है, वह किसी से झगड़ा तक नहीं करता है।

लखनऊ में सागर की मां रानी ने बताया कि बेटा ई-रिक्शा चलाता है, वह किसी से झगड़ा तक नहीं करता है।

संसद की विजिटर्स गैलरी में कूदने वाले 2 युवकों में से एक सागर शर्मा लखनऊ का रहने वाला है। सागर का परिवार लखनऊ के आलमबाग के रामनगर में किराए के घर में रहता है। पूछताछ के लिए लखनऊ पुलिस उसके घर पहुंची। सागर की मां रानी शर्मा ने कहा कि बेटा धरना-प्रदर्शन करने की बात कहकर घर से गया था।

सागर की छोटी बहन ने कहा कि भाई चार दिन पहले दिल्ली गया था। ज्यादा कुछ नहीं बताया था। दो महीने पहले बेंगलुरु से लौटा था।

पिछले 15 सालों से सागर का परिवार लखनऊ में रह रहा है। पिता रोशनलाल कारपेंटर हैं। वह खुद लखनऊ में ई-रिक्शा चलाता है। सागर की मां ने बताया- बेटा कभी किसी से लड़ाई-झगड़ा नहीं करता था। परिवार में कुल मिलाकर चार लोग हैं। एक बहन, माता-पिता और सागर खुद।

सागर की मां ने कहा, बेटा बहुत सीधा है, पता नहीं कैसे दिल्ली पहुंच गया। हमें बहुत जानकारी नहीं है। उधर, पड़ोसियों ने कहा कि हमें कभी इसकी जानकारी नहीं थी वह इन सब कामों में भी शामिल है। घर के पास ही नाना जगदीश, नानी उमा और मामा प्रदीप रहते हैं। 

गुरुग्राम के विक्की के घर रुके थे सभी आरोपी

गुरुग्राम के सेक्टर 7 में आरोपी विक्की शर्मा का घर। यहीं से उन्हें हिरासत में लिया गया।

गुरुग्राम के सेक्टर 7 में आरोपी विक्की शर्मा का घर। यहीं से उन्हें हिरासत में लिया गया।

संसद के अंदर और बाहर प्रदर्शन करने वाले सागर, मनोरंजन, नीलम और अमोल शिंदे दिल्ली जाने से पहले गुरुग्राम में रुके थे। इनके साथ ललित झा भी था। यह लोग गुरुग्राम के सेक्टर 7 की हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में रहने वाले विक्की के घर रुके थे। विक्की शर्मा मूल रूप से हरियाणा के हिसार का रहने वाला है। यहीं के PG में संसद के बाहर प्रदर्शन करने वाली नीलम पिछले 6 महीने से रह रही थी।

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल और केंद्रीय एजेंसियों की टीम ने विक्की शर्मा और उसकी पत्नी को भी हिरासत में ले लिया। पुलिस सूत्रों के मुताबिक ये चारों विक्की शर्मा के दोस्त हैं। इसके बाद शक जताया जा रहा है कि संसद भवन के बाहर प्रदर्शन और अंदर धुआं फैलाने की पूरी साजिश यहीं तो नहीं रची गई। जब आरोपी यहीं से दिल्ली गए तो फिर क्या उनके मोबाइल यहीं रखे गए थे। 

इंजीनियर है मनोरंजन, पिता बोले- गलत किया तो बेटे को फांसी पर लटका दो
डी मनोरंजन कर्नाटक के मैसुरु का रहने वाला है। उसने 2016 में बैचलर इन इंजीनियरिंग (BE) की पढ़ाई पूरी की थी। दिल्ली और बेंगलुरु में कुछ कंपनियों में काम भी किया। अब वह परिवार के साथ खेती का काम देख रहा था। मनोरंजन ने भाजपा सांसद प्रताप सिम्हा के ऑफिस से लोकसभा में एंट्री के लिए पास लिया था। उसने सागर शर्मा को अपना दोस्त बताया था।

मनोरंजन के पिता देवराजे गौड़ा ने कहा कि अगर मेरे बेटे ने गलत किया है, तो उसे फांसी पर लटका दीजिए। वह संसद हमारी है। इसे बनाने में महात्मा गांधी और नेहरू जैसे नेताओं ने कड़ी मेहनत की थी। हालांकि, उन्होंने यह भी दावा किया कि उनका बेटा ईमानदार और सच्चा है। उसकी एकमात्र इच्छा समाज के लिए अच्छा करना और समाज के लिए बलिदान देना है।

सेना भर्ती में जाने की कहकर घर से निकला था अमोल
अमोल शिंदे (25) महाराष्ट्र के लातुर जिले के जरी गांव का रहने वाला है। उसने ग्रेजुएशन तक पढ़ाई की है। वह पुलिस और सेना भर्ती परीक्षाओं की तैयारी के साथ दिहाड़ी मजदूरी करता था। अमोल के मां-बाप और दो भाई भी मजदूरी करते हैं। अमोल के परिवार के मुताबिक, वह 9 दिसंबर को यह कहकर घर से निकला था कि वह सेना भर्ती के लिए दिल्ली जा रहा है। उसने पहले भी इस तरह के कई भर्ती परीक्षा में हिस्सा लिया था, इसलिए उसके माता-पिता को कोई शक नहीं हुआ।

ललित की जानकारी जुटा रही पुलिस
इन पांच किरदारों के अलावा एक और नाम सामने आया है। वो है ललित, जो हरियाणा का रहने वाला है। इसके बारे में इससे ज्यादा जानकारी अभी बाहर नहीं आई है। यह फरार है। पुलिस सूत्रों का कहना है कि इसकी तलाश में दबिशें दी जा रही हैं। पकड़े गए लोगों से केंद्रीय एजेंसियां पूछताछ कर रही हैं।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

Topics

Translate:

Google News
Translate »
error: Content is protected !!