DEFENCE, INTERNAL-EXTERNAL SECURITY AFFAIRS

अब औरतों का सहारा लेने लगा है ISI, नेवी कर्मचारी को हनी ट्रैप में फंसाया, महाराष्ट्र ATS ने पकड़ा

TIN NETWORK
TIN NETWORK

अब औरतों का सहारा लेने लगा है ISI, नेवी कर्मचारी को हनी ट्रैप में फंसाया, महाराष्ट्र ATS ने पकड़ा

महाराष्ट्र एटीएस ने हनी ट्रैप का शिकार हुए नेवी के कर्मचारी को गिरफ्तार कर लिया. (सांकेतिक तस्वीर)

महाराष्ट्र एटीएस ने हनी ट्रैप का शिकार हुए नेवी के कर्मचारी को गिरफ्तार कर लिया. (सांकेतिक तस्वीर)

आरोपित पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI के लिए काम करता था. सोशल मीडिया के जरिए ISI के लोगों ने लड़की बनकर युवक से संपर्क किया था और उसे हनी ट्रैप का शिकार बनाया था

मुंबईः महाराष्ट्र एटीएस ने मुंबई के मझगांव डॉक में काम करने वाले 23 वर्षीय युवक को गिरफ्तार कर लिया. पकड़े गए युवक की पहचान गौरव पाटिल के रूप में हुई है, जो पाकिस्तान के खुफिया एजेंसी आईएसआई के एजेंट से जानकारी शेयर करता था. मीडिया रिपोर्ट्स में सूत्रों के हवाले से जानकारी दी गई है कि गौरव मई 2023 से अक्टूबर 2023 तक आईएसआई के दो एजेंट्स से सोशल मीडिया फेसबुक और व्हाट्सएप के जरिए संपर्क में था. इस दौरान उसने दोनों एजेंट्स को भारत सरकार द्वारा प्रतिबंधित की गई जानकारी को शेयर किया था.

सूत्रों ने यह भी दावा किया कि आरोपी जिन दो पाकिस्तानी एजेंट्स के संपर्क में था उनके नाम पायल एंजल और आरती शर्मा है. आरोप है कि पाटिल खुफिया जानकारी पायल और औरती से शेयर करता था. सूत्रों ने यह भी दावा किया है कि पाटिल मझगांव डॉक पर अपरेंटिस के पद पर काम करता था और वहां रहने की वजह से उसे यह जानकारी होती थी कि नेवी की कौन सी वॉरशिप कब आई और कब गई.

वॉरशिप के नाम के साथ पाटिल सारी जानकारी पाकिस्तान के एजेंट्स से शेयर करता था. इसके अलावा आरोपित पाटिल ने किसी एक मुक्ता मोहितो नाम के शख्स से इन सभी जानकारी के बदले पैसे भी लिए. फिलहाल एटीएस दूसरे आरोपितों की तलाश में जुटी हुई है. इस मामले में एटीएस ने पाटिल, मोहित, पायल और आरती के खिलाफ आईपीसी की धारा 120(बी) और ऑफिशियल सीक्रेट एक्ट की धारा 3(1)ए, 5(ए)(बी)(डी) और 9 के तहत एफआईआर दर्ज की है.

आरोपित पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI के लिए काम करता था. सोशल मीडिया के जरिए ISI के लोगों ने लड़की बनकर युवक से संपर्क किया था और उसे हनी ट्रैप का शिकार बनाया था. इसके बाद नेवाल डॉकयार्ड में काम कर रहे आरोपी ने धीरे-धीरे नेवी की जानकारी ISI को दी. इस मामले में एटीएस के 3 और लोग रडार पर हैं.

Topics

Translate:

Google News
Translate »
error: Content is protected !!