National News

इजराइली सैनिकों ने फिलिस्तीनियों के 16 कब्रिस्तान तोड़े:नेतन्याहू बोले- जंग नहीं रोकेंगे; गाजा में अब तक 25 हजार लोगों की मौत

TIN NETWORK
TIN NETWORK

इजराइली सैनिकों ने फिलिस्तीनियों के 16 कब्रिस्तान तोड़े:नेतन्याहू बोले- जंग नहीं रोकेंगे; गाजा में अब तक 25 हजार लोगों की मौत

इजराइली सेना के एक सोर्स का कहना है कि वो पिछले हफ्ते हमास की कैद में मौजूद बंधकों के ठिकाने तक पहुंच गए थे। (फाइल) - Dainik Bhaskar

इजराइली सेना के एक सोर्स का कहना है कि वो पिछले हफ्ते हमास की कैद में मौजूद बंधकों के ठिकाने तक पहुंच गए थे। (फाइल)

इजराइली सेना ने गाजा में कम से कम 16 कब्रिस्तानों में फिलिस्तीनियों की कब्र तोड़ी। अमेरिकी मीडिया हाउस CNN के मुताबिक उन्होंने कई वीडियोज और सैटेलाइट तस्वीरें देखी हैं। इनमें इजराइली सैनिकों की तोड़ी गई कब्रें दिखाई दे रही हैं।

सैनिकों ने मारे गए लोगों को कब्र से भी निकाला। संयुक्त राष्ट्र संघ ने कहा है कि गाजा में जो कुछ हो रहा है वो किसी जनसंहार से कम नहीं है। गाजा में 7 अक्टूबर से शुरू हुई जंग में अब तक 25 हजार फिलिस्तीनी मारे जा चुके हैं।

दूसरी तरफ, नेतन्याहू ने जंग रोकने से इनकार कर दिया है। हमास ने बंधकों के बदले जंग रोकने की मांग की थी। नेतन्याहू ने कहा कि उन्हें अलग फिलिस्तीन देश की मांग मंजूर नहीं है।

वहीं, इजराइली सेना ने रविवार को लेबनान में आतंकी संगठन हिजबुल्लाह के कई ठिकानों पर हमले किए। इसमें अब तक दो आतंकियों के मारे जाने की खबर है। हालांकि, इस आतंकी संगठन को आर्थिक तौर पर जबरदस्त नुकसान हुआ है।

रविवार दोपहर गाजा में एक इजराइली हमले के बाद तबाह इमारत।

रविवार दोपहर गाजा में एक इजराइली हमले के बाद तबाह इमारत।

हमास ने माना 7 अक्टूबर को गलतियां भी हुईं

  • इजराइल और हमास के बीच 7 अक्टूबर 2023 से जंग जारी है। ये वही दिन था, जब हमास के आतंकियों ने इजराइल में घुसकर हमले किए थे और इसमें 1200 इजराइली नागरिक मारे गए थे। 234 लोगों को किडनैप किया गया था। इनमें से 130 अब भी हमास की कैद में हैं।
  • हमास ने पहली बार इस हमले पर बयान दिया है। 16 पेज के इस बयान के मुताबिक- इजराइल गाजा और फिलिस्तीनी लोगों के खिलाफ कई साल से साजिश रच रहा है और 7 अक्टूबर को पहली बार इसका जवाब दिया गया।
  • बयान में आगे कहा गया- ऑपरेशन अल अक्सा फ्लड के दौरान हंगामा हुआ और इसकी वजह से कुछ गलतियां भी हुईं। इजराइली सेना भी परेशान हो गई थी। हम अपना टारगेट हासिल नहीं कर पाए। इजराइल के पास अब भी वक्त है कि वो सीजफायर के लिए तैयार हो जाए। हम तब तक जंग जारी रखेंगे।
  • अंग्रेजी और अरबी में जारी बयान में हमास ने कहा- इजराइल के खिलाफ एक्शन जरूरी था, क्योंकि उसने फिलिस्तीन के इलाकों पर कब्जा कर रखा है। इजराइल को गाजा में कार्रवाई फौरन बंद करनी चाहिए। वहां नरसंहार किया जा रहा है। गाजा के फ्यूचर के बारे में इजराइल या दुनिया की दूसरी ताकतें फैसला नहीं कर सकतीं। फिलिस्तीन के लोग खुद अपने फ्यूचर के बारे में फैसला करेंगे।
रविवार को गाजा के एक स्कूल के बाहर मौजूद इजराइली सैनिक।

रविवार को गाजा के एक स्कूल के बाहर मौजूद इजराइली सैनिक।

चार देश सीजफायर के लिए तैयारी कर रहे

  • ‘टाइम्स ऑफ इजराइल’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक- अमेरिका, कतर, इजिप्ट और तुर्किये एक सीक्रेट डिप्लोमैटिक मिशन में जुटे हैं। इसका मकसद ये है कि गाजा में जल्द से जल्द सीजफायर कराया जाए। हालांकि, इस सीक्रेट बातचीत की ज्यादातर प्रस्ताव इजराइल ने खारिज कर दिए हैं और इसकी वजह से ही बंधकों की रिहाई का मामला अटक रहा है।
  • अमेरिकी अखबार ‘वॉल स्ट्रीट जर्नल’ की एक अलग रिपोर्ट में कहा गया- इजराइल दो बातों पर तैयार नहीं है। पहली- वो बंधकों के बदले फिलिस्तीनी नागरिकों को रिहा तो कर सकता है, लेकिन सीजफायर करने को तैयार नहीं है। दूसरी- फिलिस्तीन को अलग राष्ट्र बनाने के मुद्दे पर इजराइली सरकार बिल्कुल तैयार नहीं है। यही वजह है कि अब तक यह मामला अटक रहा है।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

Topics

Translate:

Google News
Translate »
error: Content is protected !!