Bikaner update

महापौर ले रही विशेषज्ञों से सलाह,जल्द बनेगा राम शरद कोठारी बंधु स्मृति उद्यान

TIN NETWORK
TIN NETWORK

बीकानेर। 22 जनवरी को अयोध्या में हुई श्रीराम जन्मभूमि प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर नगर निगम में फिर से बीकानेर के शहीद कारसेवक कोठारी बंधु की स्मृति में बनने वाले “राम शरद कोठारी स्मृति उद्यान” की कार्यवाही फिर से गति पकड़ने लगी है। पूर्व में साधारण सभा की बैठक में महापौर सुशीला कंवर ने शिववैली स्थित डंपिंग यार्ड को खाली कर उसी स्थान पर 12 बीघा में टाउन लेवल पार्क को कोठारी बंधुओं की स्मृति में घोषित किया था। जिसका शिलान्यास भी केंद्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल,स्थानीय विधायकों की उपस्थिति में किया जा चुका है।
बहरहाल एक बार फिर इस उद्यान को लेकर नगर निगम में कार्यवाहियों ने गति पकड़ ली है। महापौर सुशीला कंवर कारसेवकों को समर्पित इस उद्यान को अपने कार्यकाल में पूर्ण करने का संकल्प ले चुकी है। एक तरफ जहां डंपिंग यार्ड खाली होना शुरू हो गया है दूसरी ओर महापौर ने इस उद्यान को मूर्त रूप देने के लिए विभिन्न आर्किटेक्ट एवं विशेषज्ञों से वार्ता शुरू कर दी है। महापौर इसे अपने कार्यकाल का सबसे स्वर्णिम निर्णय मानती हैं। महापौर ने हाल ही में अपने सोशल मीडिया पर कोठारी बंधुओं की बहन पूर्णिमा के एक भावुक वीडियो को साझा करते हुए जल्द ही कोठारी बंधुओं के स्मारक और उद्यान को साकार करने की बात साझा की।
महापौर ने बताया की दो सगे भाई जो इतनी अल्पायु में रामलला के लिए शहीद हुए। उनकी स्मृति बीकानेर ही नही पूरे भारतवर्ष में आने वाली पीढ़ियों को प्रेरणा दे , इस उद्देश्य से हमने नगर निगम की साधारण सभा में बहुमत से इस प्रस्ताव को पारित किया था। वर्तमान में डंपिंग यार्ड खाली होना शुरू हो गया है, जल्द ही उद्यान की चारदीवारी का कार्य शुरू किया जाएगा। साथ ही उद्यान में कोठारी बंधुओं की मूर्ति के साथ इस कारसेवा में शहीद हुए समस्त कारसेवकों के नाम अंकित किए जाएंगे एवं राम मंदिर की तब से अब तक का सफर भी चित्रों के माध्यम से दर्शित किया जाएगा। 2 दिन पहले मुख्यमंत्री जी के बीकानेर प्रवास के दौरान उनसे भी इस विषय में चर्चा हुई और उन्होंने राज्य सरकार की तरफ से हरसंभव सहयोग का आश्वासन दिया। यह उद्यान पूरे भारत में सबसे अनोखा और अद्वितीय होगा। हमारी कोशिश होगी की इस उद्यान का उद्घाटन भी स्व. राम एवं शरद कोठारी जी की बहन पूर्णिमा जी के करकमलों से हो। अभी हम इस उद्यान के डिजाइन को लेकर चर्चा कर रहे हैं।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

Topics

Translate:

Google News
Translate »
error: Content is protected !!