National News

राजस्थान में जमीन-मकान लेना और भी महंगा हुआ:हाउसिंग बोर्ड ने 26 फीसदी तक बढ़ाई रेट; जानें- जयपुर-जोधपुर जैसे शहरों में कितना असर

TIN NETWORK
TIN NETWORK

राजस्थान में जमीन-मकान लेना और भी महंगा हुआ:हाउसिंग बोर्ड ने 26 फीसदी तक बढ़ाई रेट; जानें- जयपुर-जोधपुर जैसे शहरों में कितना असर

ADVERTISEMENT

Ads by

राजस्थान हाउसिंग बोर्ड ने अपनी जमीनों की कीमतें बढ़ा दी हैं। जयपुर, जोधपुर समेत 15 से ज्यादा जिलों में 170 से ज्यादा आवासीय योजना में कीमतें 8.50 से लेकर 26 फीसदी तक बढ़ाई हैं।

सबसे ज्यादा कीमतें हनुमानगढ़, झुंझुनूं की स्कीमों में बढ़ाई गई हैं। जयपुर के जगतपुरा में स्थित इंदिरा गांधी आवासीय योजना में अब कीमत 17,875 रुपए प्रति वर्गमीटर (करीब 1.20 गज) कर दी है।

यानी 100 वर्ग मीटर (करीब 120 गज) की जमीन करीब 17,87,500 रुपए की होगी। यहां कीमतें में 23 फीसदी से ज्यादा बढ़ाई गई हैं। ये कीमतें 1 जनवरी से लागू मानी जाएगी। इस निर्णय के बाद अब निर्माणाधीन मकानों की कीमतों में भी बढ़ोतरी हो जाएगी।

हाउसिंग बोर्ड से जारी नई रेट लिस्ट में सबसे ज्यादा 26 फीसदी दरें हनुमानगढ़ योजना की बढ़ाई हैं। हनुमानगढ़ योजना की आवासीय आरक्षित दर 6355 रुपए प्रति वर्गमीटर थी, जो बढ़कर अब 8015 रुपए प्रति वर्गमीटर हो गई।

यानी 26.12 फीसदी का इजाफा किया है। हाउसिंग बोर्ड अगले महीने यहां 400 से ज्यादा मल्टी स्टोरी फ्लैट्स की स्कीम लाने की तैयारी कर रहा है, जिसके लिए फरवरी से आवेदन मांगने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

इसी तरह अजमेर की पंचशील, किशनगढ़ आवासीय योजना, जोधपुर की बड़ली स्कीम, विवेक विहार और कुड़ी भगतासनी सेकेंड में भी 8.52 फीसदी आवासीय आरक्षित दर बढ़ाई है।

जोधपुर के बड़ली में तैयार सैंपल इंडिपेंडेंट हाउस।

जोधपुर के बड़ली में तैयार सैंपल इंडिपेंडेंट हाउस।

बोर्ड की बढ़ाई ये दरें मध्यम आय वर्ग (ए) के लिए निर्धारित की गई हैं। मध्यम आय वर्ग (बी), एचआईजी कैटेगिरी के मकानों में दरें निर्धारित आवासीय आरक्षित कीमतों से 10 और 20 फीसदी ज्यादा रहेगी। जबकि एलआईजी और ईडब्ल्यूएस में दरें आरक्षित दर से 10 और 20 फीसदी कम रहेंगी।

जयपुर की इंदिरा गांधी नगर में बढ़ाई रेट्स
जयपुर में जगतपुरा स्थित इंदिरा गांधी नगर आवासीय योजना में पहले 14530 रुपए प्रति वर्गमीटर की दरें थी, जो अब बढ़ाकर 17 हजार 875 रुपए प्रति वर्गमीटर कर दी है। इसी तरह जयपुर की मानसरोवर योजना की रेट्स भी 17.28 फीसदी तक की बढ़ोतरी की है।

यहां पहले आरक्षित दर 26 हजार 180 रुपए प्रति वर्गमीटर (करीब 1.20 गज) थी, जो अब बढ़कर 30 हजार 705 रुपए प्रति वर्गमीटर हो गई। यानी 100 वर्ग मीटर (करीब 120 गज) की जमीन करीब 30,705,00 रुपए की होगी।

ऐसे समझें कीमतों में बदलाव

उदाहरण के तौर पर हाउसिंग बोर्ड की जोधपुर की बड़ली में आवासीय योजना में कोई एमआईजी ‘ए’ कैटेगिरी का 90 वर्ग मीटर में बना मकान आवंटित किया जाना है।

पहले इस योजना में आरक्षित दर 4160 रुपए थी तो जमीन की कुल कीमत 3 लाख 74,400 रुपए होती। उस जमीन पर बनाया 700 वर्गफीट का कंस्ट्रक्शन जिसकी लागत 1350 रुपए प्रति वर्गफीट है तो उसकी लागत 9 लाख 45 हजार रुपए आती। इस तरह एक 90 मीटर के मकान की अनुमानित कीमत 13.19 लाख रुपए में आती। इसमें लीज राशि और अन्य प्रशासनिक शुल्क अलग से लगते है।

अब कीमतें यहां 8.54 फीसदी बढ़कर 4515 रुपए प्रति वर्गमीटर हो गई। इस नई दर से 90 मीटर जमीन की लागत 4 लाख 6,350 रुपए, जबकि कंस्ट्रक्शन लागत 700 वर्गफीट 9.45 लाख रुपए आती है। मकान की कुल अनुमानित लागत 13.51 लाख रुपए आएगी।

इन कॉलोनियों में 15 फीसदी से ज्यादा कीमतें बढ़ीं

कॉलोनीबढ़ोतरी (%)
मानसरोवर, जयपुर17.28
नई आवासीय योजना, झुंझुनूं21.48
इंदिरा गांधी नगर, जगतपुरा जयपुर23.00
खान भांकरी, दौसा14.61
एन.आई.बी. विस्तार, अलवर18.27
हनुमानगढ़ योजना, हनुमानगढ़26.12
न्यू कॉलोनी डीटीओ, हनुमानगढ़15.80

निर्माणाधीन प्रोजेक्ट्स पर भी असर

हाउसिंग बोर्ड के उन निर्माणाधीन प्रोजेक्ट जिनके आवंटन पत्र अभी तक जारी नहीं हुए हैं। उन पर इन बढ़ी हुई कीमतों का असर आएगा। पिछले साल मार्च में बोर्ड ने जोधपुर के बड़ली, अजमेर के ब्यावर, किशनगढ़ खोड़ा, उदयपुर के हिरण मगरी समेत कई शहरों में आवासीय योजना लॉन्च की थी। इन योजनाओं में बन रहे मकानों पर भी इन बढ़ी हुई कीमतों का प्रभाव आएगा। इन मकानों की लागत में इजाफा होगा।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

Topics

Translate:

Google News
Translate »
error: Content is protected !!