National News

14 RAS अधिकारियों के औचक निरीक्षण में खुली पोल:84 कार्यालयों में 504 अधिकारी, कर्मचारी गैर हाजिर मिले

TIN NETWORK
TIN NETWORK

14 RAS अधिकारियों के औचक निरीक्षण में खुली पोल:84 कार्यालयों में 504 अधिकारी, कर्मचारी गैर हाजिर मिले

84 कार्यालयों में 504 अधिकारी, कर्मचारी गैर हाजिर मिले। - Dainik Bhaskar

84 कार्यालयों में 504 अधिकारी, कर्मचारी गैर हाजिर मिले।

जिले कर सरकारी कार्यालयों में अधिकारी- कर्मचारियों के ड्यूटी पर पहुंचने को लेकर कलेक्टर डॉ. रविंद्र गोस्वामी ने औचक निरीक्षण के निर्देश दिए। प्रशासन की ओर से सरकारी कार्यालय के औचक निरीक्षण में लेट लतीफ कार्मिकों की पोल खुल गई। कलेक्टर के निर्देश पर हुए निरीक्षण में 84 कार्यालयों में 504 अधिकारी कर्मचारी गैर हाजिर मिले।

निरीक्षण के दौरान JVVNL कैथून कार्यालय में ताला लगा मिला।

निरीक्षण के दौरान JVVNL कैथून कार्यालय में ताला लगा मिला।

अतिरिक्त कलेक्टर प्रशासन भगवत सिंह राठौड़ ने बताया कि कलेक्टर ने 14 आरएएस अधिकारियों को कार्यालयों के निरीक्षण के निर्देश दिए थे। इन अधिकारियों ने सुबह साढ़े 9 से 10 बजे के बीच अलग अलग कार्यालयों में पहुंचकर औचक निरीक्षण किया। कार्यालयों में निरीक्षण कर 122 उपस्थिति रजिस्टर जब्त किए। इनमें अनुपस्थित पाए गए अधिकारियों, कर्मचारियों के नाम के आगे क्रॉस लगाया। इनमें 105 अधिकारी व 399 कर्मचारी सहित कुल 504 अधिकारी कर्मचारी थे।

उन्होंने बताया कि सहायक अभियंता जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी, जयपुर विद्युत वितरण निगम लि., सार्वजनिक निर्माण विभाग कैथून के कार्यालयों में सुबह 9.40 बजे के बाद तक ताले लगे मिले। अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक (समसा) कोटा, देवस्थान विभाग एवं जयपुर विद्युत वितरण निगम लि. मंडाना के कार्यालयों में सभी गैर हाजिर पाए गए। जिला परिषद कोटा में वाटर शेड का रजिस्टर उपलब्ध नहीं हुआ। मुख्य आयोजना अधिकारी के सांख्यिकी प्रकोष्ठ में प्रतिनियुक्त सभी चार कार्मिक अनुपस्थित मिले। शिक्षा, चिकित्सा, जिला परिषद, नगर निगम, नगर विकास न्यास, पंचायत समिति लाडपुरा, सार्वजनिक निर्माण विभाग, बाल विकास परियोजना अधिकारी आदि कार्यालयों में अधिक संख्या में अधिकारी, कर्मचारी अनुपस्थित मिले।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

Topics

Translate:

Google News
Translate »
error: Content is protected !!