National News

ड्रेस कोड पर बोले दिलावर-कल तो हनुमानजी बनकर चले जाएंगे:शिक्षा मंत्री ने कहा- स्कूलों में कोई मुंह ढक कर, कोई घूंघट तो कोई बहरूपिया बनकर चला जाता है

TIN NETWORK
TIN NETWORK

ड्रेस कोड पर बोले दिलावर-कल तो हनुमानजी बनकर चले जाएंगे:शिक्षा मंत्री ने कहा- स्कूलों में कोई मुंह ढक कर, कोई घूंघट तो कोई बहरूपिया बनकर चला जाता है

कोटा

प्रदेश में स्कूल में लागू होने वाले ड्रेस कोड को लेकर चल रहा मामले में शिक्षा मंत्री मदन दिलावर ने सख्त एक्शन लेने को कहा है। वे बोले- स्कूलों का ड्रेस कोड तय है। यदि आदेश नहीं मानेंगे तो हमें मनवाना भी आत है।

वे ये भी बोले- कोई मुंह ढक कर तो कोई घूंघट लेकर जा रहा है। कल कोई हनुमानजी बनकर चले जाएंगे तो…? दरअसल, शिक्षा मं​त्री कोटा दौरे पर थे। यहां जिला परिषद की साधारण सभा में हिस्सा लिया। बैठक के बाद मीडिया से बातचीत में स्कूल ड्रेस कोड को लेकर हुए सवाल पर वे बोले- इसे लेकर पहले से स्थायी ऑर्डर है, पहले वाली सरकार में भी थे और अब भी वो ही है। जो ड्रेस कोड लागू है उसे ही पहनकर जाना है।

ड्रेस कोड के अलावा दूसरा पहनकर जाना, अनुशासनहीनता

शिक्षण संस्थाओं में ड्रेस, यूनिफॉर्म, पोशाक और गणवेश कुछ भी कह लो, उसके अतिरिक्त पहनकर जाना अनुशासनहीनता है। कहीं से कोई शिकायतें आती है कि कोई घूंघट लेकर जा रहा है, कोई मुंह ढक कर जा रहा है। कभी कोई कोई बहरूपिया बनकर जा रहा है।

कल को हिंदू समाज वाले हनुमानजी बनकर चले गए तो। किसी भी कीमत पर तय गणेवश के अलावा कुछ और पहनकर शिक्षण संस्थाओं में नहीं जाना चाहिए। ऐसा हमारा आग्रह है और नहीं माने तो एक्शन होगा। इसके बाद भी सकरार के आदेश नहीं मानते हैं तो सरकार को आदेश मनवाने भी आते हैं।

लोकसभा चुनाव के बाद होंगे तबादले
वहीं शिक्षा विभाग में तबादलों पर रोक को लेकर शिक्षा मंत्री ने कहा कि मुझे टीचर्स से ज्यादा चिंता छात्रों की है। छात्रों को किसी तरह की कोई परेशानी नहीं होनी चाहए। 29 फरवरी से बोर्ड परीक्षाएं शुरू हो जाऐंगी। तबादलों से टीचर इधर से उधर होंगे तो पढ़ाई में व्यवधान होगा। परीक्षा में डयूटी लगती है, फ्लाइंग बनती है, पेपर लाने ले जाने में दिक्कत होती है।

ऐसे में छात्रों के हित को ध्यान में रखते हुए सीएम से निवेदन कर लिया है कि शिक्षा विभाग में सामान्यता बेन कर रहे है। यह सच है कि बोर्ड परीक्षा के बाद ट्रांसफर करेंगे लेकिन तब तक आचार सहिंता लग जाएगी ऐसे में शिक्षा विभाग लोकसभा चुनाव के बाद ही ट्रांसफर होंगे।

मीटिंग में कई मुददे आए, जांच के निर्देश

इधर, जिला परिषद में करीब पांच घंटे तक बैठक चली। इस बैठक में उन्होंने सफाई को लेकर सख्त निर्देश दिए। वे बोले कि जो भी इसमें लापरवाही बरतेगा उस पर एक्शन लिया जाएगा। इसके अलावा उन्होंने बैठक डिपार्टमेंट में महिलाओं के साथ अभद्रता करने वालों के खिलाफ भी कार्यवाही को लेकर चर्चा की है। इस दौरान उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार ग्रामीण विरोधी सरकार थी। समय पर ग्रामीण क्षेत्रों को राशि जारी नहीं की जाती थी। ऐसा सदस्यों ने भी बताया है कि समय पर पैसे नहीं मिलते थे। बैठक के दौरान अवैध बिजली कनेक्शन जारी करने और वीसीआर के नाम पर अवैध वसूली की शिकायत सामने आने पर जांच के निर्देश दिए। वहीं बैठक में प्रपत्र पांच को लेकर चर्चा के दौरान जब सुल्तानपुर एईएन फिरोज से जवाब मांगा तो वह नहीं दे सके। इस पर मंत्री ने उन्हें एपीओ करने के निर्देश दिए हैं।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

Topics

Translate:

Google News
Translate »
error: Content is protected !!