National News

सीएम बोले- परीक्षा को धंधा बनाने वालों को छोड़ेंगे नहीं:कहा- पिछली सरकार ने प्रदेश की हालत खराब की, चुनावों में केवल गारंटियां दीं

TIN NETWORK
TIN NETWORK

सीएम बोले- परीक्षा को धंधा बनाने वालों को छोड़ेंगे नहीं:कहा- पिछली सरकार ने प्रदेश की हालत खराब की, चुनावों में केवल गारंटियां दीं

मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने महिला अत्याचार, पेपर लीक और किसान कर्ज माफी पर कांग्रेस की पिछली सरकार पर निशाना साधा। मुख्यमंत्री ने कहा कि नकल माफिया के कारण प्रतिभाओं को मौका नहीं मिल पाया, स्टूडेंट पूरा मन लगाकर पढ़ाई करते लेकिन पेपर देने के बाद उनके अरमा आंसुओं में बह जाते। कुछ संस्थाओं ने इसे धंधा बनाया उन्हें हम छोड़ेंगे नहीं। वे बोले- पिछली सरकार ने चुनाव में केवल गारंटियां ही दीं हैं।

दरअसल, शुक्रवार को मुख्यमंत्री नागौर के मारवाड़ मूंडवा में वीर तेजा महिला शिक्षण एवं शोध संस्थान तेजास्थली के वार्षिकोत्सव में शामिल होने पहुंचे थे। यहां वीर तेजाजी की प्रतिमा भेंट कर उनका स्वागत किया।

मुख्यमंत्री ने हाथ जोड़कर सभी का अभिवादन स्वीकार किया।

मुख्यमंत्री ने हाथ जोड़कर सभी का अभिवादन स्वीकार किया।

पिछली सरकार में महिलाओं पर अत्याचार हुए-मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने कहा कि मैंने देखा है कि यह ऐसा संस्थान है जो मन से काम करती हैं। संस्थान के माध्यम से समाज में अच्छा वातारण तैयार करें। हमारी बहनों की आबादी 50 फीसदी है। हमारी बहने आज हर क्षेत्र में योगदान देकर भारत को मजबूत कर रही हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कहते हैं कि महिलाएं बढ़ेगी तो विश्व का कल्याण होगा। महिलाओं के ऊपर दो जिम्मेदारी होती हैं, लेकिन वे तीसरी जिम्मेदारी लेने को तैयार रहती है और अच्छे से निभाती है।

कल ही हमारा बजट आया, हमने महिलाओं के उत्थान के लिए जन्म से लेकर किस तरह सशक्त हो सकती है, उसका ध्यान रखा। पिछली सरकार में महिलाओं पर अत्याचार हुए थे, हमने हमारे संकल्प पत्र में कहा था कि महिला अत्याचार बर्दाश्त नहीं करेंगे। हमने महिलाओं के लिए अलग से स्क्वायड फोर्स बनाया है। पुलिस में महिलाओं की अलग से भर्ती की जाएगी।

छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति दी।

छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति दी।

28 लाख महिलाओं को देंगे 1 लाख रुपए का ऋण

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि हम दो करोड़ लखपति दीदी बनाएंगे। बजट में इसे बढ़ाकर 3 करोड़ किया गया। राजस्थान में 11 लाख 25 हजार लखपति दीदी है। हम इसे और बढ़ाना चाहते हैं। हमारी सरकार महिला उत्थान के लिए वचनबद्ध है।

हमने महिला सशक्तिकरण के लिए 2 लाख नए महिला एसएसजी बनाने का लक्ष्य दिया है। , 28 लाख महिलाओं को महिला सशक्तिकरण क्रेडिट कार्ड योजना से 1 लाख रुपए का ऋण देंगे। जिससे वो खुद का काम शुरू कर सके। 10 हजार बालिकाओं का स्कूटी दी जाएगी। पॉलिटेक्निक क्षेत्र में महिलाओं को आगे बढ़ाएंगे। हमने 1 जनवरी से 73 लाख महिलाओं को 450 रुपए में गैस सिलेंडर देने का काम किया है।

महिलाओं को देंगे रोजगार के अवसर-मुख्यमंत्री

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरे देश में विकसित भारत संकल्प शिविर का आयोजन किया गया। राजस्थान में संकल्प यात्राएं निकाली गई। हमने उसमें कहा कि महिलाओं को रोजगार के अवसर दिए जाएंगे। विकसित भारत संकल्प यात्रा में हमने ऐसी महिलाओं को चिह्नित किया है। योजनाओं का लाभ कितनी महिलाओं को मिला, इसकी भी मॉनिटरिंग की जा रही है। हर पात्र व्यक्ति तक योजनाओं का लाभ पहुंचाने का प्रयास कर रहे हैं।

छात्रा ने जिम्नैस्टिक्स का प्रदर्शन किया।

छात्रा ने जिम्नैस्टिक्स का प्रदर्शन किया।

2028 ओलिंपिक के लिए राजस्थान में तैयारी

हमारी सरकार राजस्थान को अग्रणी बढ़ाने के लिए काम कर रही हैं। हम 2028 ओलिंपिक की तैयार राजस्थान की धरती पर कर रहे हैं। खिलाड़ियों को अवसर मिलेंगे। प्रतिभाओं की तलाश कर ओलिंपिक के लिए तैयार किया जाएगा। राजस्थान में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है। आने वाले समय में हर क्षेत्र में राजस्थान आगे होगा।

पिछली सरकार ने प्रदेश की हालत खराब की

पिछली सरकार ने प्रदेश की हालत खराब कर दी। उन्होंने कर्जा माफ करने की बात कहीं। लेकिन किसी का कर्जा माफ नहीं हुआ। हमने वादा किया था किसानों की सम्मान निधि बढ़ाएंगे, हमने पहले ही बजट में 2 हजार रुपए बढ़ाने का काम किया है। हमने किसानों की फसलों के लिए 125 रुपए का बोनस बढ़ाया है। हम वादा कर गारंटी देते हैं। इन्होंने पांच साल कुछ नहीं किया, लेकिन चुनावों के दौरान कई गारंटियां दी।

इससे पहले संस्थान के अध्यक्ष पूर्व केंद्रीय मंत्री सीआर चौधरी और प्रशासिका शीला दत्ता समेत अन्य पदाधिकारियों ने उनकी अगवानी की। संस्थान के चेयरमैन सीआर चौधरी ने संबोधित करते हुए संस्थान की जमीन समेत अन्य मांग मुख्यमंत्री के सामने रखी।

इस दौरान मुख्यमंत्री ने संस्थान में कन्या छात्रावास की आधारशिला भी रखी। कार्यक्रम में चिकित्सा मंत्री गजेन्द्र सिंह खींवसर, प्रदेश के कानून एवं न्याय मंत्री जोगाराम पटेल, राजस्व राज्य मंत्री विजयसिंह चौधरी, महिला एवं बाल विकास मंत्री डॉ. मंजू बाघमार, समाजसेवी पूनमचंद राठी, सुरेश सुथार, सुरेश राठी और माधव मोदी भी मंच पर मौजूद रहे।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

Topics

Translate:

Google News
Translate »
error: Content is protected !!