Weather Forecast

मुंबई में बारिश, 60 किमी की रफ्तार से हवा चली:दोपहर 3 बजे कई इलाकों में अंधेरा छाया; मुंबई एयरपोर्ट पर ऑपरेशन बंद

मुंबई में बारिश, 60 किमी की रफ्तार से हवा चली:दोपहर 3 बजे कई इलाकों में अंधेरा छाया; मुंबई एयरपोर्ट पर ऑपरेशन बंद

नई दिल्ली/मुंबई

मुंबई में सोमवार 13 मई को दोपहर 3 बजे अचानक मौसम ने करवट ली। धूल भरी आंधी के बाद बारिश भी शुरू हो गई। तेज हवा और आंधी से दिन में ही रात सा नजारा दिखने लगा। अंधेरा छा गया।

मुंबई एयरपोर्ट पर ऑपरेशन अगले आदेश तक बंद कर दिया गया। कई राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को डायवर्ट किया गया, जबकि कुछ के समय में बदलाव किया गया। उधर, मेट्रो, लोकल रेल सर्विस भी प्रभावित हुई। हालांकि, दो घंटे बाद फिर से सेवाएं शुरू हो गईं।

मुंबई के घाटकोपर, बांद्रा, कुर्ला, धारावी, दादर,माहिम, मुलुंड और विक्रोली में तेज हवाओं के साथ बारिश हुई। इनके अलावा, मुंबई के उपनगर ठाणे, अबंरनाथ, बदलापुर, कल्याण और उल्लासनगर में भी धूल भरी आंधी चली। यहां 60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चली।

मौसम विभाग ने बताया कि अगले दो दिन ऐसा ही मौसम रह सकता है। पालघर और ठाणे जिलों में अलग-अलग स्थानों पर 50-60 किमी/घंटा की रफ्तार से हवा चल सकती है। कुछ जगहों पर तेज हवाओं के साथ बिजली गिर सकती है।

मुंबई में बदले मौसम की 5 तस्वीरें…

वडाला में मेंटल पार्किंग टॉवर, घाटकोपर में बिलबोर्ड गिरा
तेज आंधी की वजह से वडाला में अंडर-कंस्ट्रक्शन मेटल पार्किंग टावर गिर गया। इसकी चपेट में कई वाहन आ गए। उधर, घाटकोपर में एक बिलबोर्ड गिरने से 7 लोगों के जख्मी होने की खबर है। बीएमसी के अफसरों ने बताया कि घायलों को इलाज के लिए अस्पताल भेज दिया है।
नवी मुंबई के एरोली, घनसोली और वाशी के कई इलाकों में पेड़ गिरने की खबर है। कई इलाकों में पानी भरने की खबर है, इससे ट्रैफिक व्यवस्था पर भी असर पड़ा है।

घोटकोपर में तेज आंधी से बिलबोर्ड गिर गया। इसके नीचे दबने से 7 लोग घायल हो गए।

घोटकोपर में तेज आंधी से बिलबोर्ड गिर गया। इसके नीचे दबने से 7 लोग घायल हो गए।

मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में 5 दिन तक बारिश का अलर्ट

वहीं, देश में आंधी-बारिश और ओले का दौर जारी है। मौसम विभाग ने मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में 5 दिन तक बारिश का अलर्ट जारी किया है। इन राज्यों के कई जिलों में ओले भी गिर सकते हैं। राजस्थान में 16 मई तक बरसात का दौर बना रहेगा।

मौसम विभाग ने कहा है कि आज देश के 25 राज्यों में बारिश होगी। इनमें मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र के अलावा पश्चिम बंगाल, सिक्किम, ओडिशा, बिहार और झारखंड भी शामिल हैं। साथ ही नॉर्थ-ईस्ट के 7 राज्य भी शामिल हैं।

मौसम विभाग ने कहा है कि बारिश के चलते राज्यों में हीटवेव का असर लगभग खत्म हो गया है, लेकिन गर्मी का असर बरकरार है। मध्य प्रदेश, राजस्थान, गुजरात, छत्तीसगढ़ और तेलंगाना में रविवार को तापमान 40 से 42 डिग्री के बीच रिकॉर्ड किया गया।

मौसम विभाग ने कहा है कि राजस्थान और उत्तर प्रदेश में 3 दिन बाद हीटवेव की संभावना है। रविवार को देश में सबसे ज्यादा तापमान मध्य प्रदेश के नर्मदापुरम में 43.5 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है।

आगे कैसा रहेगा मौसम?

14 मई: छत्तीसगढ़-गुजरात में 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलेगी

  • महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, गुजरात, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में बिजली गिरने का अनुमान है।
  • मध्य प्रदेश, गोवा और कर्नाटक में 40-50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलेगी।
  • गुजरात में उमस भरी गर्मी का असर देखने को मिलेगा।

15 मई: नॉर्थ-ईस्ट के राज्यों में बिजली और आंधी चलने का अलर्ट

  • ओडिशा समेत नॉर्थ-ईस्ट के 7 राज्यों में बिजली गिरने का अनुमान है, बारिश होगी।
  • मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, गुजरात, तेलंगाना और गोवा में धूल भरी आंधी चलने का अनुमान है।
  • तमिलनाडु, पुडुचेरी, केरल में तेज बारिश का अलर्ट है।

हीटवेव घटी, मानसून के मजबूत संकेत
मौसम विभाग के मुताबिक, अच्छे मानसून के संकेत धीरे-धीरे मजबूत हो रहे हैं। प्रशांत और हिंद महासागर में अच्छी बारिश के लिए जरूरी बदलाव दिखने लगे हैं।

दुनिया की तमाम मौसम एजेंसियां पूर्वानुमान लगा रही थीं कि मानसून के पहले महीने में अल-नीनो खत्म हो जाएगा और कुछ हफ्तों की न्यूट्रल कंडीशन के बाद ला-नीना के हालात बनने लगेंगे।

अमेरिकी एजेंसी और ऑस्ट्रेलियाई मौसम ब्यूरो ने पुष्टि की है कि दुनिया के सबसे बड़े समुद्र प्रशांत महासागर के कुछ हिस्सों में तापमान तेजी से घट रहा है। दूसरी तरफ, IMD ने पुष्टि की है कि इंडियन ओशन डाइपोल कंडीशन पॉजिटिव हो रही हैं।

हिंद महासागर का तापमान करेगा डेंगू की भविष्यवाणी
हिंद महासागर के तापमान में होने वाले बदलाव से दुनिया भर में डेंगू के खतरे की भविष्यवाणी की जा सकती है। बीजिंग नॉर्मल विश्वविद्यालय की रिसर्च के मुताबिक, हिंद महासागर में तापमान बढ़ने से दुनिया भर में डेंगू के मामले बढ़ते हैं।

हाल ही में अल नीनो के कारण भी यह प्रसार देखा गया। विश्वविद्यालय ने 1990 से 2019 तक दुनिया भर के 46 देशों में डेंगू के दर्ज सालाना मामलों और 2014 से 2019 तक 24 देशों में दर्ज मासिक मामलों और हिंद महासागर के तापमान की स्टडी की है।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

Topics

Google News
error: Content is protected !!