NATIONAL NEWS

कौन है मोहम्मद रफीक ! सलमान के घर फायरिंग करवाने का मास्टरमाइंड राजस्थान का:लॉरेंस के भाई ने शूटर से मिलवाया; घर की रेकी कर वीडियो बनाकर भेजा

TIN NETWORK
TIN NETWORK

सलमान के घर फायरिंग करवाने का मास्टरमाइंड राजस्थान का:लॉरेंस के भाई ने शूटर से मिलवाया; घर की रेकी कर वीडियो बनाकर भेजा

जयपुर/नागौर

सलमान खान के घर 14 अप्रैल सुबह 5 बजे हुई फायरिंग में राजस्थान का कनेक्शन सामने आया है। गैंगस्टर रोहित गोदारा और लारेंस बिश्नोई के इशारे पर नागौर (राजस्थान) के बदमाश ने इसका पूरा प्लान बनाया। इसका खुलासा उसकी गिरफ्तारी के बाद हुआ।

मुंबई में चलाता है चाय का होटल

मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच के DCP दत्ता किशन नलावडे ने बताया- मंगलवार को मुंबई पुलिस ने इस केस में पांचवें आरोपी के रूप में मोहम्मद रफीक चौधरी पुत्र मोहम्मद सरदार चौधरी को गिरफ्तार किया। यह कार्रवाई नागौर के बासनी गांव में हुई थी। रफीक मूल रूप से बासनी का रहने वाला है। मुंबई के कुर्ला इलाके में उसका चाय का होटल है। इस होटल पर शूटरों का अक्सर आना-जाना था। उसी इलाके में रफीक रहता भी है। आरोप है कि रफीक ने ही सलमान के घर का वीडियो बना लॉरेंस के भाई अनमोल बिश्नोई को दिया था।

रफीक ने इन दोनों शूटर्स के ठहरने और इनके लिए बाइक की व्यवस्था करवाई थी।

रफीक ने इन दोनों शूटर्स के ठहरने और इनके लिए बाइक की व्यवस्था करवाई थी।

शूटरों के लिए पैसे जुटाए

DCP दत्ता किशन नलावडे ने बताया- मोहम्मद रफीक चौधरी ने सलमान खान के घर की रेकी करने में शूटरों की मदद की थी। साथ ही इनके लिए पैसा भी जुटाया था। पूछताछ में सामने आया कि शूटर्स को ठहराने और फायरिंग के दौरान काम में ली गई बाइक भी रफीक ने ही दिलावाई थी। मुंबई पुलिस की अब तक की इन्वेस्टिगेशन में इसी का रोल इस फायरिंग केस में बतौर मास्टमाइंड सामने आया है।

8 और 11 अप्रैल को बदमाशों से मुलाकात की

पूछताछ में रफीक ने बताया कि सलमान खान के घर फायरिंग से पहले 8 और 11 अप्रैल को कुर्ला में दोनों शूटर से मुलाकात की थी। इसके बाद ही उसने सलमान खान के घर की रेकी कर वहां का वीडियो बनाया और अनमोल बिश्नोई को भेजा था।

रफीक बासनी गांव के संपन्न परिवार से आता है। ये कुल चार भाई है। चारों भाई मुंबई में दूध का व्यापार करते हैं। इसके चलते रफीक चौधरी भी अधिकतर समय मुंबई ही रहता था।

रफीक ने ही इस पूरे घटनाक्रम की प्लानिंग की थी। दोनों शूटर से लॉरेंस के भाई अनमोल ने मिलवाया था।

रफीक ने ही इस पूरे घटनाक्रम की प्लानिंग की थी। दोनों शूटर से लॉरेंस के भाई अनमोल ने मिलवाया था।

इनपुट मिलते ही क्राइम ब्रांच की टीम राजस्थान आई

नागौर सदर एसएचओ अजय कुमार मीणा ने बताया- सलमान खान के घर फायरिंग के बाद रफीक को शक हो गया था कि वह मुंबई पुलिस की रडार पर आ सकता है। इसलिए वह 16 अप्रैल को मुंबई से नागौर अपने गांव बासनी आ गया था। इसी दौरान मुंबई क्राइम ब्रांच को रफीक का इनपुट मिला। 5 मई को क्राइम ब्रांच की टीम नागौर आ गई।

मारवाड़ जंक्शन रेलवे स्टेशन से हिरासत में लिया

रफीक को लगा कि मामला शांत हो गया है। 6 मई को ही वह नागौर से ब्रांदा के लिए रवाना होने की योजना बनाई। क्राइम ब्रांच को इनपुट मिला की वह मुंबई के लिए रवाना हो रहा है। टीम ने उसका पीछा किया। मारवाड़ जंक्शन रेलवे स्टेशन पर उसे कस्टडी में ले लिया गया था। 8 मई को रफीक को मुंबई कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे 13 मई तक पुलिस कस्टडी में भेज दिया है।

रोहित गोदारा से थी चौधरी की जान-पहचान
मोहम्मद रफीक चौधरी को बुधवार को मुंबई क्राइम ब्रांच ने मकोका कोर्ट में पेश किया। बताया कि रफीक चौधरी गैंगस्टर रोहित गोदारा का परिचित है। रोहित गोदारा के रेफरेंस से ही अनमोल विश्नोई के कहने पर दोनों शूटरों से मिला था। रफीक के वकील ने आरोपों को गलत बताया। कोर्ट से कहा कि रफीक को बिना किसी सबूत के आरोपी बनाया गया है।

13 मई तक पुलिस हिरासत में भेजा गया

कोर्ट में वकील ने इस बात को स्वीकार किया कि रफीक चौधरी पांच साल पहले रोहित गोदारा से एक केस के सिलसिले में मिला था। कोर्ट ने रफीक चौधरी को 13 मई तक पुलिस हिरासत में भेज दिया है। इससे पहले 25 अप्रैल को क्राइम ब्रांच ने पंजाब से सुभास चंद्र और अनुज थापन को अरेस्ट किया था। आरोप है कि दोनों ने इस घटना के लिए हथियार मुहैया कराए थे। 15 अप्रैल को गुजरात से विक्की गुप्ता और सागर पाल को गिरफ्तार किया गया था। विक्की और सागर ने ही 14 अप्रैल की सुबह करीब 5 बजे सलमान के घर के बाहर 4 राउंड फायरिंग की थी। उस समय सलमान घर में ही थे।

फायरिंग के बाद अनमोल ने पोस्ट कर इस फायरिंग की जिम्मेदारी ली थी।

फायरिंग के बाद अनमोल ने पोस्ट कर इस फायरिंग की जिम्मेदारी ली थी।

पुलिस कस्टडी में एक आरोपी ने की आत्महत्या
1 मई को आरोपी अनुज थापन ने मुंबई पुलिस की कस्टडी में चादर से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। अनुज के सुसाइड की जांच महाराष्ट्र की CID को सौंपी गई है। हालांकि थापन के भाई अभिषेक ने दावा किया कि पुलिस ने उसकी हत्या कर दी है। वह ऐसा नहीं था, जो आत्महत्या करे। इस मामले में अनुज के पैतृक गांव के सरपंच मनोज गोदारा ने न्यूज एजेंसी ANI से बात की थी। उन्होंने कहा था कि एक तरफ सुपरस्टार सलमान खान हैं और दूसरी तरफ मजदूर। दबाव में आकर पुलिस ने उसे मार डाला और आत्महत्या का रूप दे दिया। अनुज और सुभाष चंद्र कई साल से लॉरेंस के साथ मिलकर काम कर रहे थे।

सलमान खान का घर, जहां पर दोनों शूटर ने फायरिंग की थी।

सलमान खान का घर, जहां पर दोनों शूटर ने फायरिंग की थी।

मार्च 2023 में लॉरेंस बिश्नोई ने दी थी सलमान को धमकी

मार्च 2023 में लॉरेंस बिश्नोई से धमकी मिलने के बाद सलमान खान की सुरक्षा बढ़ा दी गई थी। उन्हें महाराष्ट्र सरकार की तरफ से Y+ कैटेगरी की सुरक्षा मिली हुई है। सलमान के साथ 11 जवान हर समय साथ रहते हैं। इसमें एक या दो कमांडो और 2 PSO भी शामिल होते हैं। सलमान की बुलेटप्रूफ गाड़ी के आगे-पीछे एस्कॉर्ट करने के लिए दो गाड़ियां हमेशा रहती हैं।

काले हिरण के शिकार मामले के बाद से नाराज है बिश्नाई समाज

NIA ने कहा था कि सलमान उन 10 लोगों की लिस्ट में टॉप पर हैं, जिन्हें जेल में बंद गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई ने मारने की धमकी दी है। 1998 में हुई काले हिरण के शिकार की घटना से बिश्नोई समाज नाराज है। इसी का हवाला देते हुए लॉरेंस ने एक TV इंटरव्यू में सलमान को मारने की धमकी दी थी।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

error: Content is protected !!