National News

गुजरात से किडनैप कर राजस्थान में बेच रहे बेटियां:नौकरी के बहाने बच्चियों की सौदेबाजी, हर दिन गैंगरेप; एक बच्ची के रेस्क्यू से हुआ खुलासा

TIN NETWORK
TIN NETWORK

गुजरात से किडनैप कर राजस्थान में बेच रहे बेटियां:नौकरी के बहाने बच्चियों की सौदेबाजी, हर दिन गैंगरेप; एक बच्ची के रेस्क्यू से हुआ खुलासा

नागौर

नाबालिग बच्चियों को किडनैप कर राजस्थान लाया जाता है। फिर उन्हें रेस्टोरेंट, ब्यूटी सैलून में नौकरी का झांसा देकर देह व्यापार करवाने वाली गैंग के हवाले कर दिया जाता है। गैंग से जुड़े लोग इन बच्चियों को होटलों में ले जाकर हर दिन रेप-गैंगरेप करवाते हैं।

सूरत (गुजरात) के अमरोली इलाके से गायब हुई 14 साल की एक लड़की की तलाश में जब पुलिस राजस्थान पहुंची तो चौंकाने वाली जानकारियां सामने आईं।

पढ़िए- नाबालिग बेटियों की दलाली का सच बयां करती ये संडे बिग स्टोरी…

14 वर्षीय सुमन (बदला हुआ नाम) अपने परिवार के साथ सूरत शहर के अमरोली इलाके में रहती थी। परिवार मूल रूप से उत्तर प्रदेश का रहने वाला है। सुमन कढ़ाई सेंटर पर धागा काटने का काम करती थी। उससे मिलने वाले रुपयों से अपने परिवार की आर्थिक मदद करती थी।

सूरत पुलिस की गिरफ्त में मोहिमा मोल्ला उर्फ रिया, जिसने बच्ची की सौदेबाजी की।

सूरत पुलिस की गिरफ्त में मोहिमा मोल्ला उर्फ रिया, जिसने बच्ची की सौदेबाजी की।

ट्रेन में पहली मुलाकात
कुछ टाइम पहले सुमन अपने माता-पिता के साथ ट्रेन में वडोदरा से सूरत आ रही थी। ट्रेन में ही सुमन की मुलाकात एक महिला से हुई। महिला ने अपना नाम ज्योति और खुद को सूरत की ही रहने वाली बताया। यहीं ज्योति ने सुमन का मोबाइल नंबर ले लिया और उसे अपना मोबाइल नंबर दे दिया। इसके बाद दोनों में बातें होने लग गई थी।

ज्यादा पैसे कमाने का झांसा
एक दिन बातों ही बातों में ज्योति ने सुमन से कहा- तुम्हें ब्यूटी पार्लर में काम करना चाहिए, वहां बढ़िया रुपए कमा सकती हो। इससे घर वालों की भी मदद होगी। अगर तुम्हारा मन है तो तुम्हें 25-30 हजार रुपए महीना दिला सकती हूं। सुमन ज्योति की बातों में आ गई और ब्यूटी पार्लर में काम करने के लिए तैयार हो गई।

कपड़े चेंज करते समय वीडियो बनाया
ज्योति ने 8 मार्च 2024 को सुमन को अपने घर बुलाया। वहां ज्योति ने सुमन को बेहद तंग और अश्लील कपडे पहनने को दिए। सुमन ने इनकार किया तो ज्योति ने कहा यहां कोई नहीं है, हम दो ही हैं। इन्हे पहनकर डांस करके दिखाओ। सुमन ने वो कपड़े पहने और डांस भी किया। इस दौरान ज्योति ने अपने मोबाइल से उसका वीडियो शूट कर लिया।

सुमन को ब्यूटी सैलून में काम करने का लालच दिया गया था। (सांकेतिक तस्वीर)

सुमन को ब्यूटी सैलून में काम करने का लालच दिया गया था। (सांकेतिक तस्वीर)

राजस्थान चलने का ऑफर
ज्योति सुमन को लेकर सैदुल मोल्ला मुनब्बर नाम के एक शख्स के पास ले गई। वहां मुनब्बर की पत्नी मोहिमा मोल्ला उर्फ रिया भी थी। तीनों ने सुमन को ब्यूटी पार्लर में काम करने का लालच दिया। उससे बोले कि हर महीने 25 से 30 हजार रुपए मिलेंगे। उसे राजस्थान चलने का ऑफर दिया गया।

वीडियो दिखाकर धमकाया
मोटी रकम कमाने का लालच देने के बाद भी सुमन राजस्थान जाने को तैयार नहीं हुई। ज्योति व उसके साथ वाली महिलाओं ने सुमन को खूब समझाया। पर राजस्थान जाने से सुमन लगातार इनकार करती रही। इसके बाद ज्योति ने अपना मोबाइल निकाला और सुमन का डांस वाला वीडियाे दिखाया। धमकाया कि वो नहीं जाएगी तो ये वीडियो वायरल कर दिया जाएगा। डरी-सहमी सुमन ने उनकी बात मान ली।

8 मार्च को नागौर लाया गया
ज्योति 8 मार्च को सुमन को अपने साथ लेकर राजस्थान ट्रैवल्स की बस से नागौर के डेगाना (राजस्थान) के लिए रवाना हो गई। अगले दिन सुमन को डेगाना स्थित वृन्दावन होटल में ले जाया गया। वहां ज्योति ने सुमन को सैदुल मोल्ला मुनब्बर और उसकी पत्नी मोहिमा उर्फ रिया को सौंप दिया। इसके बाद ज्योति वहां से चली गई।

सूरत पुलिस ने राहुल टेलर , समीर व आरिफ को गिरफ्तार किया है। तीनों ही नागौर के डेगाना के रहने वाले हैं।

सूरत पुलिस ने राहुल टेलर , समीर व आरिफ को गिरफ्तार किया है। तीनों ही नागौर के डेगाना के रहने वाले हैं।

अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कराई
सूरत के अमरोली में रहने वाले सुमन के परिजन 14 साल की बेटी के घर नहीं पहुंचने से परेशान थे। काफी खोज-खबर और तलाश करने के बाद भी जब कुछ पता नहीं चला तो उन्होंने अमरोली पुलिस स्टेशन में सुमन के अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कराई। नाबालिग बच्ची से जुड़ा सेंसेटिव मामला होने से पुलिस भी तुरंत हरकत में आ गई थी। सुमन का कहीं कोई सुराग नहीं मिल रहा था।

भाई के पास आए एक फोन कॉल से मिला पहला सुराग
11 मार्च को सुमन का भाई अमरोली पुलिस स्टेशन पहुंचा। उसने बताया कि उसकी बहन (सुमन) का फोन आया था। वो बहुत मुसीबत में है। उसे कुछ लोगों ने बंधक बना रखा है। उससे गलत काम कराया जा रहा है। हालांकि सुमन ये नहीं बता पाई कि वो अभी कहां पर है। ये बात सुनकर पुलिस भी चौंक गई। उन्होंने सुमन के भाई से वो मोबाइल नंबर लिया, जिससे कॉल आया था।

पुलिस ने उस नंबर पर कॉल लगाया तो सामने वाला शख्स पहले तो काफी डर गया लेकिन उसे विश्वास में लेकर पूछा तो वह मदद के लिए तैयार हो गया। इसके बाद जो उसने बताया वो रूह कंपाने वाला था।

ग्राहक ने बताई हकीकत
उस शख्स ने बताया कि सुमन से डेगाना के वृंदावन होटल में देह व्यापार करवाया जा रहा है। वो खुद भी उस होटल में ग्राहक बनकर गया था। जब उसने सुमन को देखा तो उसे पता चला कि ये तो मासूम बच्ची है। इसके बाद उसे उस पर दया आ गई थी। सुमन ने ही उसे बताया कि उसे ज्योति नाम की महिला ने सूरत से किडनैप करवाया। उसके बाद यहां लाकर सौंपा गया था। उस शख्स ने पुलिस को बताया कि सुमन ने मेरा मोबाइल लेकर अपने भाई को कॉल लगाया था।

डेगाना (नागौर) का यह वही होटल है, जहां नाबालिग लड़की से देह व्यापार कराया जा रहा था।

डेगाना (नागौर) का यह वही होटल है, जहां नाबालिग लड़की से देह व्यापार कराया जा रहा था।

हिंदू नाम से गरीब लड़कियों को फंसाती थी
पुलिस ने उस शख्स से डेगाना स्थित वृन्दावन होटल की पूरी डिटेल ली और कार्रवाई के लिए स्पेशल टीम का गठन किया। सबसे पहले 13 मार्च को पुलिस ने टेक्निकल सर्विलांस की मदद से सूरत में रहने वाली ज्योति नाम की उस महिला को ढूंढा, जिसने सुमन को फंसाया था। ज्योति से पूछताछ में पता चला कि उसका असली नाम मोनिरा खातून उर्फ ज्योति पत्नी शकील हलदर है। वो अपना हिन्दू नाम रखकर गरीब लड़कियों को अपना शिकार बनाती है। वो एक ऐसी गैंग के लिए काम कर रही थी, जो लड़कियों से राजस्थान में देह व्यापार करवा रहे थे।

पुलिस ने डेगाना में दी दबिश, सुमन को रेस्क्यू किया

सूरत पुलिस की स्पेशल टीम ने डेगाना (नागौर) के वृन्दावन होटल में दबिश दी। यहां से कमरे में बंद सुमन को रेस्क्यू किया गया। यहां 28 वर्षीय मास्टरमाइंड सैदुल मोल्ला मुनब्बर पुत्र मोल्ला सालोम, उसकी 25 वर्षीय पत्नी मोहिमा मोल्ला उर्फ रिया सैदुल मोल्ला पत्नी मुनब्बर, 21 वर्षीय राहुल पुत्र रामस्वरूप टेलर, 24 वर्षीय समीर पुत्र सलीम कुरैशी व 30 वर्षीय आरिफ पुत्र सादिक खान को गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने होटल से एक कार और सीसीटीवी फुटेज वाली डीवीआर भी जब्त की है। इन्वेस्टिगेशन में पुलिस को पता चला कि ये होटल किराए पर लेकर चलाया जा रहा था।

हैदराबाद में बैठा है मास्टरमाइंड
सूरत ACP आरपी झाला ने बताया- पीड़िता के 164 के तहत कोर्ट में बयान रिकॉर्ड करवा दिए हैं। अब तक की पड़ताल में पता चला है कि इस पूरे रैकेट का बॉस हैदराबाद में बैठा साहेब सैय्यद नाम का शख्स है। वो न सिर्फ राजस्थान बल्कि कई अन्य स्टेट में अपनी अलग-अलग गैंग के जरिए ये काम कर रहा है। फिलहाल उसकी तलाश की जा रही है।

सूरत ACP आरपी झाला ने बताया कि बच्ची की खरीद-फरोख्त कितने में की गई इसका खुलासा होना अभी बाकी है।

सूरत ACP आरपी झाला ने बताया कि बच्ची की खरीद-फरोख्त कितने में की गई इसका खुलासा होना अभी बाकी है।

मानव तस्करी का भी मामला दर्ज
पीड़िता सुमन के बयानों के बाद अब डेगाना के वृन्दावन होटल में जिन-जिन लोगों ने भी उसके साथ रेप किया है, उन सभी के खिलाफ पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है। इतना ही नहीं सभी आरोपियों के खिलाफ ह्यूमन ट्रैफिकिंग (मानव तस्करी) की धाराओं के तहत, रेप और गैंगरेप की धाराओं के तहत मामला दर्ज कर आगे की जांच की जा रही है।

डेगाना इंस्पेक्टर बोले- मामले की जानकारी नहीं

हमने इस पूरे मामले को लेकर डेगाना पुलिस थाने के इंस्पेक्टर बद्री प्रसाद से बात की। उन्होंने बताया कि सूरत पुलिस पॉक्सो मामले को लेकर यहां आई थी। हमसे मदद मांगी थी। दूसरे स्टेट का मामला था तो हमने उन्हें फोर्स दे दिया था। वो यहां हाईवे स्थित एक होटल से कुछ आरोपियों को पकड़ कर ले गए हैं। इससे ज्यादा मुझे इस मामले की जानकारी नहीं है।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

Topics

Translate:

Google News
Translate »
error: Content is protected !!