DEFENCE, INTERNAL-EXTERNAL SECURITY AFFAIRS

चीनी सेना ने म्यांमार सीमा पर किया युद्धाभ्यास, तोपों ने उगला बारूद, सैनिकों को दी गई खास ट्रेनिंग

TIN NETWORK
TIN NETWORK

चीनी सेना ने म्यांमार सीमा पर किया युद्धाभ्यास, तोपों ने उगला बारूद, सैनिकों को दी गई खास ट्रेनिंग

चीन ने कहा है कि यह अभ्यास एक वार्षिक प्रशिक्षण योजना का हिस्सा है, जो दर्शाता है कि अग्रिम पंक्ति के सैनिक कई अभियानों के लिए सामान्यीकृत युद्ध तैयारी प्रशिक्षण बनाए रख रहे हैं। ये अभ्यास ऐसे समय हो रहा है जब म्यांमार में गृह युद्ध चल रहा है और हालात काफी खराब हैं।

 

हाइलाइट्स

  • चीनी सेना ने किया है युद्धाभ्यास
  • म्यांमार के बॉर्डर पर किया अभ्यास
  • चीन ने कहा- म्यांमार की स्थिति चिंताजनक

बीजिंग: चीनी सेना ने म्यांमार बॉर्डर पर युद्धाभ्यास किया है। चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) की दक्षिणी थिएटर कमांड ने ये फायर ड्रिल किया। इस ड्रिल का उद्देश्य चीनी सेना की गतिशीलता, सटीक लक्ष्य, व्यापक नाकाबंदी और ज्वाइंट स्ट्राइक का परीक्षण करना है। चीनी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने इसकी जानकारी दी है। रिपोर्ट में बताया गया है कि इस दौरान एयरफोर्स एविएशन, आर्मी एविएशन, बख्तरबंद पैदल सेना, तोपखाने, वायु रक्षा बल और ज्वाइंट फायर का अभ्यास किया गया।

एकीकृत कमान के तहत, अभ्यास में भाग लेने वाली सेनाओं को लड़ाई की संरचनाओं के अनुसार व्यवस्थित करते हुए संयुक्त सशस्त्र गश्ती की योजना बनाई गई। इसके बाद ज्वाइंट वायु रक्षा नियंत्रण और एक यथार्थवादी अभ्यास में संयुक्त गोलाबारी और हमले की ट्रेनिंग की गई। अभ्यास के दौरान रिमोट मल्टीपल रॉकेट लॉन्चर, वाहन-घुड़सवार, होवित्जर और मोर्टार से बने एक ग्राउंड फायरपावर स्ट्राइक ग्रुप ने तेजी से लॉन्च पोस्ट पर कब्जा किया। अभ्यास में अलग हथियारों से बारी-बारी से कई दिशाओं से गोलाबारी करते हुए पहाड़ी जंगलों में लक्ष्यों को निशाना बनाया गया।

ड्रिल को व्याहवारिक बनाने के लिए अलग डिजाइन

रिपोर्ट में कहा गया है कि इस ड्रिल को व्यावहारिक बनाने के लिए डिजाइन किया गया, जिसमें कई परिदृश्यों को पहले से समन्वित किया गया है। इसमें वास्तविक सैन्य उपकरणों को जुटाया गया और लंबी दूरी के तीव्र युद्धाभ्यास को कई दिनों तक निरंतर लागू किया गया है। इसका फोकस फौज के संचालन और तेजी से युद्धाभ्यास, सटीक लक्ष्यीकरण, त्रिआयामी नियंत्रण और थिएटर बलों के संयुक्त हमलों का परीक्षण करना है। पीएलए दक्षिणी थिएटर कमांड के प्रवक्ता तियान जुनली ने मंगलवार को जारी बयान में कहा कि पीएलए दक्षिणी थिएटर कमांड ने मंगलवार से शुरू होने वाली चीन-म्यांमार सीमा के चीनी पक्ष पर लाइव-फायर अभ्यास करने के लिए सेना और वायु सेना को तैनात किया है। यह कमांड विभिन्न आपात स्थितियों का जवाब देने के लिए हर समय तैयार है और राष्ट्रीय संप्रभुता और सीमा स्थिरता की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध है।

स्कूल ऑफ इंटरनेशनल में अंतरराष्ट्रीय मामलों के विशेषज्ञ झूओ हुआ ने कहा कि इस अभ्यास में सेना और वायु सेना की समन्वित भागीदारी शामिल है, जिसमें सैनिकों की गतिशीलता, सटीकता और हड़ताल क्षमताओं का परीक्षण करने पर ध्यान केंद्रित किया गया है। ये वर्तमान सुरक्षा स्थितियों का जवाब देने के लिए परिचालन आवश्यकताओं के अनुरूप है। झूओ ने कहा कि चीन और म्यांमार एक लंबी सीमा साझा करते हैं। दोनों का सहयोग व्यापक और व्यापक है। ऐसे में म्यांमार की सुरक्षा और स्थिरता सीधे तौर पर दोनों लोगों के हितों को प्रभावित करती है।

उत्तरी म्यांमार में बीते कुछ समय से जुंटा सेनाओं और विद्रोहियों के बीच तीव्र संघर्ष देखने को मिला है। इससे चीनी सीमा पर भी तनावपूर्ण स्थिति बन गई है। ग्लोबल टाइम्स का कहना है कि उत्तरी म्यांमार में संघर्ष से दोनों देशों के बीच सीमा क्षेत्रों की सुरक्षा और स्थिरता के साथ-साथ सीमावर्ती निवासियों के जीवन और संपत्ति को खतरा है। ऐसे में म्यांमार के मित्रवत पड़ोसी के रूप में चीन उत्तरी म्यांमार की वर्तमान स्थिति पर बारीकी से ध्यान देता है और इसमें शामिल सभी पक्षों से तुरंत गोलीबारी बंद करने का आग्रह करता है।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

Topics

Translate:

Google News
Translate »
error: Content is protected !!