National News

नागौर से हनुमान बेनीवाल ‘इंडिया’ गठबंधन के उम्मीदवार:27 मार्च को करेंगे नामांकन, गठबंधन और पार्टियां बदलकर ज्योति मिर्धा-बेनीवाल फिर आमने-सामने

TIN NETWORK
TIN NETWORK

नागौर से हनुमान बेनीवाल ‘इंडिया’ गठबंधन के उम्मीदवार:27 मार्च को करेंगे नामांकन, गठबंधन और पार्टियां बदलकर ज्योति मिर्धा-बेनीवाल फिर आमने-सामने

जयपुर

नागौर सीट पर आरएलपी विधायक हनुमान बेनीवाल इंडिया गठबंधन के उम्मीदवार बनाए गए हैं। हनुमान बेनीवाल 27 मार्च को नागौर में सभा करके नामांकन दाखिल करेंगे। इस नामांकन सभा में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शामिल होंगे। यहां पहले चरण में मतदान होना है, कांग्रेस ने आरएलपी के लिए यह सीट खाली छोड़ी है।

जयपुर में रविवार को हनुमान बेनीवाल ने नागौर के कांग्रेस विधायकों और प्रमुख नेताओं के साथ बैठक की। इसमें नेताओं ने खुद हनुमान बेनीवाल को खुद चुनाव लड़ने की सलाह दी। नागौर के प्रमुख कांग्रेस नेताओं की बैठक के बाद अब हनुमान बेनीवाल ने नामांकन की तैयारियां शुरू कर दी है।

नागौर सीट पर कांग्रेस के साथ गठबंधन होने के बाद हनुमान बेनीवाल ने कांग्रेस के विधायकों और विधायक उम्मीदवारों के साथ बैठक कर चर्चा की।

नागौर सीट पर कांग्रेस के साथ गठबंधन होने के बाद हनुमान बेनीवाल ने कांग्रेस के विधायकों और विधायक उम्मीदवारों के साथ बैठक कर चर्चा की।

गठबंधन और पार्टियां बदलकर फिर आमने-सामने होंगे ज्योति और ​हनुमान
नागौर सीट पर हनुमान बेनीवाल और ज्योति मिर्धा गठबंधन और पार्टियां बदलकर 2019 की तरह फिर आमने-सामने लड़ रहे हैं। 2019 में ज्योति मिर्धा कांग्रेस से उम्मीदवार थीं, जबकि हनुमान बेनीवाल एनडीए गठबंधन के उम्मीदवार थे। इससे पहले 2014 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस से ज्योति मिर्धा, बीजेपी से सीआर चौधरी और हनुमान बेनीवाल निर्दलीय मैदान में थे।

नागौर सीट के सभी कांग्रेस विधायकों और विधायक उम्मीदवारों से मिले बेनीवाल
कांग्रेस से गठबंधन के बाद कल जयपुर में हनुमान बेनीवाल ने नागौर जिले के प्रमुख कांग्रेस नेताओं से अलग-अलग मुलाकात करने के बाद सामूहिक रूप से बैठक की। बेनीवाल ने नागौर जिलाध्यक्ष और मकराना विधायक जाकिर हुसैन गैसावत, नागौर से कांग्रेस विधायक हरेंद्र मिर्धा, लाडनूं विधायक मुकेश भाकर, परबतसर विधायक रामनिवास गावड़िया, जायल से उम्मीदवार मंजू मेघवाल, नावां से उम्मीदवार महेंद्र चौधरी के साथ बैठक कर चुनावी रणनीति पर मंथन किया। इस बैठक से पहले महेंद्र चौधरी के घर जाकर बेनीवाल ने उनसे मुलाकात की।

नागौर के कई कांग्रेस नेताओं से बेनीवाल के तल्ख रिश्ते
नागौर के कई कांग्रेस नेताओं के साथ हनुमान बेनीवाल के तल्ख रिश्ते रहे हैं। कांग्रेस के खिलाफ चुनाव लड़ने के चलते इनके बीच सियासी लड़ाई रही है। चुनाव अभियान के दौरान बेनीवाल मिर्धा परिवार से लेकर कई नेताओं के खिलाफ तल्ख टिप्पणियां करते रहे थे। अब गठबंधन बाद पुरानी बातें भुलाकर साथ आने का मैसेज देने का प्रयास किया गया है।

बैठक में कांग्रेस नेताओं ने हनुमान बेनीवाल को खुद को चुनाव लड़ने की सलाह दी। बेनीवाल 27 मार्च को नामांकन दाखिल करेंगे।

बैठक में कांग्रेस नेताओं ने हनुमान बेनीवाल को खुद को चुनाव लड़ने की सलाह दी। बेनीवाल 27 मार्च को नामांकन दाखिल करेंगे।

कांग्रेस नेता बेनीवाल को वोट ट्रांसफर कितने करवा पाएंगे, इस पर निगाहें
हरेंद्र मिर्धा के सामने ​उप चुनाव में हनुमान बेनीवाल के भाई नारायण बेनीवाल चुनाव लड़ चुके हैं। उस चुनाव में भी खूब तल्ख बयानबाजी की थी। महेंद्र चौधरी के उप मुख्य सचेतक रहते उनके भाई पर मर्डर केस हुआ था। उस मामले को लेकर बेनीवाल ने जयपुर कूच किया था। उसके बाद बेनीवाल और महेंद्र चौधरी के बीच तल्खी बढ़ी हुई थी। अब गठबंधन के बाद हनुमान बेनीवाल ने महेंद्र चौधरी से तल्खी को खत्म कर साथ आने का आग्रह किया है।

राजनीतिक जानकारों का मानना है कि सियासी गठबंधन के बाद नागौर के कांग्रेस नेता भले ही बेनीवाल के साथ दिख रहे हों, लेकिन वे अपने हिस्से का कितना वोट बेनीवाल को ट्रांसफर करवा पाएंगे, सब कुछ इस पर निर्भर करेगा। सियासी तल्खी मिटने या न मिटने का पैमाना भी इसी से तय होगा।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

Topics

Translate:

Google News
Translate »
error: Content is protected !!