DEFENCE, INTERNAL-EXTERNAL SECURITY AFFAIRS

सेना की वर्दी पहनी गले में लटकाया फर्जी कार्ड, जब पुलिस ने पकड़ा तो हुआ ये

सेना की वर्दी पहनी गले में लटकाया फर्जी कार्ड, जब पुलिस ने पकड़ा तो हुआ ये

यूपी के बरेली कैंट इलाके में सेना की वर्दी और फर्जी आईडी कार्ड गले में लटकाए घूम रहे युवक को आर्मी इंटेलीजेंस ने पकड़ा। कई घंटे तक कड़ी पूछताछ के बाद उसे कैंट पुलिस को सौंप दिया गया है।

सेना की वर्दी पहनी गले में लटकाया फर्जी कार्ड, जब पुलिस ने पकड़ा तो हुआ ये

बरेली कैंट इलाके में सेना की वर्दी और फर्जी आईडी कार्ड गले में लटकाए घूम रहे असम के युवक को आर्मी इंटेलीजेंस ने पकड़ लिया। कई घंटे तक कड़ी पूछताछ के बाद उसे कैंट पुलिस को सौंप दिया गया है। थाना कैंट में आरोपी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। मंगलवार को उसे जेल भेजा जाएगा। सेना की पशु परिवहन बटालियन की यूनिट 883 में तैनात सैन्यकर्मी मारू विजय कुमार की ओर से इस संबंध में थाना कैंट में शिकायत की गई है। उन्होंने पुलिस को बताया कि सोमवार दोपहर करीब डेढ़ बजे आर्मी इंटेलीजेंस से फोन पर सूचना मिली कि कैंट में एक संग्धित व्यक्ति भारतीय सेना की वर्दी पहने हुए घूम रहा है। 

सूचना पर वह टीम के साथ मौके पर पहुंचे और आर्मी इंटेलीजेंस भी पहुंच गई। आरोपी को पकड़ लिया गया। पूछताछ के दौरान उसने अपना नाम अखिल कालिता पुत्र वीरेंद्र कालिता और खुद को ग्राम इश्चा डगरिया पब बारी काहिना कमरूल, असम का रहने वाला बताया। आरोपी के गले में सेना का फर्जी आईडी कार्ड भी पड़ा था। सेना की टीम आरोपी अखिल कालिता को पकड़कर अपने साथ ले गई। मगर वह पूछताछ के दौरान ठीक तरह से जवाब नहीं दे पा रहा था। 

मोबाइल और कॉल डिटेल की होगी जांच
आरोपी को कैंट पुलिस के हवाले के बाद पुलिस की खुफिया इकाइयों ने भी उससे पूछताछ की। उसकी कॉल डिटेल की जानकारी कर पुलिस उसके संपर्क के बारे में भी पता कर रही है। इंस्पेक्टर जेएन पांडेय ने बताया कि आरोपी से तमाम जानकारियां जुटाई जा रही हैं, जिन्हें विवेचना में शामिल किया जाएगा। पुलिस का कहना है कि मामले में जांच जारी है और पकड़े गए आरोपी का बयान दर्ज किया जा रहा है। पुलिस जानकारी जुटा रही है कि वो किससे संपर्क में था और कहां से यहां पहुंचा है।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

Topics

Translate:

Google News
Translate »
error: Content is protected !!