Income Tax / Sale Tax Ministry of Commerce and Industry MINISTRY OF FINANCE

500 रुपए के 88 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा के नोट हुए गायब, नहीं मिल रहा कोई हिसाब: RTI में हुआ खुलासा

RBI: 500 रुपए के 88 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा के नोट हुए गायब, नहीं मिल रहा कोई हिसाब: RTI में हुआ खुलासा

नेशनल डेस्क: सरकार ने 500 रुपए के करीब 8810.65 मिलियन नोट छापे थे, लेकिन रिजर्व बैंक तक सिर्फ 7260 मिलियन नोट ही पहुंचे हैं। लगभग 1550 मलियिन 500 रुपए के नोट रिजर्व बैंक तक नहीं पहुंचे हैं। आरटीआई के तहत इस बात का खुलासा हुआ है। अप्रैल 2015-मार्च 2016 के बीच करंसी नोट प्रेस, नासिक की तरफ से 210 मिलियन 500 रुपए के नोट छापे गए, जो रिजर्व बैंक के पास नहीं पहुंचे। लगभग 1760 मिलियन यानी करीब 176 करोड़ 500 रुपए के नोट रास्ते से ही गायब हो गए। अगर इन नोटों की वैल्यू निकाली जाए तो वह लगभग 88 हजार करोड़ रुपए निकलती है। 

375.450 मिलियन नोट करेंसी छपी, 345 मिलियन नोट ही पहुंचे
एक्टिविस्ट मनोरंजन रॉय द्वारा सूचना के अधिकार अधिनियम (आरटीआई) के तहत प्राप्त आंकड़ों के अनुसार, 500 रुपए के नए डिज़ाइन किए गए 375.450 मिलियन नोट करेंसी नोट प्रेस, नासिक द्वारा छापे गए थे, लेकिन भारतीय रिजर्व बैंक का रिकॉर्ड दिखाता है कि उसके पास लगभग 345 मिलियन नोट ही पहुंचे। पिछले महीने एक अन्य आरटीआई जवाब में करेंसी नोट प्रेस, नासिक ने कहा कि वित्तीय वर्ष 2015-2016 के दौरान 500 रुपए के 210 मिलियन नोट छापे गए और रिजर्व बैंक को भेजे गए, जब रघुराम राजन गवर्नर थे।

आरबीआई की वार्षिक रिपोर्ट नोट मिलने का कोई उल्लेख नहीं
करेंसी नोट प्रेस, नासिक की रिपोर्ट ने दिखाया है कि नए डिज़ाइन किए गए 500 रुपए के करेंसी नोट केंद्रीय बैंक को सप्लाई किए गए थे, लेकिन आरबीआई की वार्षिक रिपोर्ट में सार्वजनिक डोमेन वार्षिक रिपोर्ट में नए डिज़ाइन के साथ 500 रुपए के नोट मिलने का कोई उल्लेख नहीं है। यानी ये 210 मिलियन 500 रुपए के नोट भी रिजर्व बैंक को नहीं मिले। रिजर्व बैंक से जब इस बारे में बात करने की कोशिश की गई तो, केंद्रीय बैंक के अधिकारियों ने इस पर कोई भी कमेंट नहीं किया है।  

रिजर्व बैंक को 7260 मिलियन नोट ही मिले, 1760 मिलियन नोट मिसिंग 
करेंसी नोट प्रेस, नासिक द्वारा प्रदान की गई जानकारी में बताया गया है कि 2016-2017 में नए डिज़ाइन किए गए 500 रुपए के नोट के 1,662 मिलियन नोट सप्लाई किए गए थे। भारतीय रिज़र्व बैंक नोट मुद्रण (पी) लिमिटेड, बेंगलुरु ने आरबीआई को 500 रुपए के 5,195.65 मिलियन नोट रिजर्ब बैंक को भेजे। वहीं, इस दौरान बैंक नोट प्रेस, देवास ने 1953 मिलिनय बैंक नोट रिजर्व बैंक को भेजे। इस अवधि में तीनों प्रेस में 8810.65 मिलियन 500 रुपए के नोट छापे गए, लेकिन भारतीय रिजर्व बैंक को सिर्फ 7260 मिलियन नोट ही मिले हैं। मनोरंजन रॉय कहते हैं कि जो 1760.65 मिलियन नोट मिसिंग हैं, वह सिक्योरिटी पर सवालिया निशान लगाते हैं। RTI कार्यकर्ता ने इस बारे में केंद्रीय आर्थिक खुफिया ब्यूरो और ED को लिखा है।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

Topics

Translate:

Google News
Translate »
error: Content is protected !!