ASIAN COUNTRIES UNITED NATIONS / NATO / EU / SAARC & ALL COUNTRY GROUPS

एक घंटे में ताइवान पर कब्जा कर लेगा चीन… रूस-यूक्रेन जंग की भविष्यवाणी करने वाले एक्सपर्ट का दावा

TIN NETWORK
TIN NETWORK

एक घंटे में ताइवान पर कब्जा कर लेगा चीन… रूस-यूक्रेन जंग की भविष्यवाणी करने वाले एक्सपर्ट का दावा

जिस मिलिट्री एक्सपर्ट ने रूस-यूक्रेन के जंग की भविष्यवाणी की थी. उसी ने आशंका जताई है कि चीन एक घंटे के अंदर ताइवान पर कब्जा कर लेगा. ये काम इतनी तेजी से होगा कि ताइवान के मित्र देश यानी अमेरिका और नाटो सदस्य कुछ नहीं कर पाएंगे. हालांकि इसका जवाब अमेरिकी एडमिरल ने भी दिया.

ADVERTISEMENT

चीन से जंग के लिए ताइवान लगातार तैयारी करता रहता है. हमेशा इसकी सेना सीमाओं पर अलर्ट रहती है.

जिस मिलिट्री एक्सपर्ट ने यूक्रेन पर रूस के हमले और जंग की भविष्यवाणी की थी. अब उसी ने अनुमान लगाया है कि चीन बहुत जल्द ताइवान पर घुसपैठ करेगा. वो भी इतनी तेजी से कि अमेरिका को अपने मित्र देश को बचाने का मौका तक नहीं मिलेगा. घुसपैठ के पहले 15 मिनट में ताइवान के एयरपोर्ट्स पर कब्जा हो जाएगा. 

एक्सपर्ट ने बताया कि 30 मिनट के अंदर चीन ताइवान की राजधानी पर कब्जा करके उसे सीज कर देगा. इस घुसपैठ से दुनिया की आर्थिक व्यवस्था पर भारी असर पड़ेगा. क्योंकि ताइवान में ही दुनिया का 70 फीसदी सेमी कंडक्टर बनता है. इससे पहले भी अमेरिका के एक एडमिरल ने यही बात कही थी. 

अमेरिका के इंडो-पैसिफिक कमांडर एडमिरल सैम्यूएल पापरो ने जापानी मीडिया संस्थान निक्केई को बताया कि चीन ने ताइवान पर हमला करने का रिहर्सल कर लिया है. हाल ही में हुई मिलिट्री ड्रिल ताइवान पर हमला करने की रणनीति से ही की गई थी. यह एक तरह का प्रैक्टिस था. 

अमेरिका कर रहा है चीन के हिसाब से भविष्य की तैयारी

एडमिरल पापारो ने कहा कि अमेरिका और जापान मिलकर चीन के ड्रिल की स्टडी कर रहे हैं. किया भी है. नोट बनाए हैं. इसके सहारे हम भविष्य की तैयारियों में जुट गए हैं. ताइवान के नए राष्ट्रपति लाई चिंग ते के पद संभालते ही चीन ने बड़े पैमाने पर ताइवान के चारों तरफ मिलिट्री ड्रिल किया था. 

पापारो ने कहा कि चीन इस मिलिट्री ड्रिल से प्रेशर बनाना चाहता है. ताकि ताइवान और उसके साथी मित्र देश डरें. जब पापारो से पूछा गया कि चीन कब करेगा ताइवान पर हमला. तब उन्होंने कहा कि चीन को अपना असेसमेंट खुद करना होगा. लेकिन चेतावनी भी दी. कहा कि चीन ने अपनी मिलिट्री ताकत बहुत तेजी से बढ़ाई है. 

चीन के खिलाफ ताइवान का साथ अमेरिका और नाटो देश देंगे… 

एडमिरल पापारो ने कहा कि अमेरिकी सरकार ने मुझसे कहा है कि मैं और मेरी कमांड ताइवान के साथ आज भी है. कल भी रहेगी. जैसे ही चीन कोई हरकत करेगा. हम ताइवान के साथ मिलकर करारा जवाब देंगे. हम ताइवान की सुरक्षा और सेल्फ डिफेंस क्षमताओं को तेजी से बढ़ा रहे हैं. आगे भी बढ़ाते रहेंगे. 

पापारो ने कहा कि हमारे साथ जापान, ताइवान, नीदरलैंड्स, इटली औऱ जर्मनी भी हैं. वो भी चीन के खिलाफ साउथ चाइना सी में युद्ध को रोकने का प्रयास करेंगे. ताइवान को बचाने के लिए अमेरिका और नाटो देश साथ रहेंगे. इतना आसान नहीं है कि चीन आसानी से ताइवान को हराकर कब्जा कर ले. 

भयानक तेजी से बढ़ रही है चीन की नौसेना की ताकत… 

चीन की नौसेना लगातार अपनी ताकत बढ़ा रही है. वह भी बेहद तेजी से. चार दिन पहले ज्वाइंट स्वॉर्ड एक्सरसाइज खत्म हुआ. इस दौरान पीपुल्स लिबरेशन आर्मी नेवी (PLAN) ने ताइवान के चारों तरफ 46 जंगी जहाज उतारे. 111 विमान उड़ाए. जिसमें से 86 ने ताइवानी एयर डिफेंस आइडेंटिफिकेशन जोन को पार किया. 

इस बीच चीन ने अपने नए क्लास के स्टेल्थ जंगी जहाज को भी पेश कर दिया. इसे एक साल से भी कम समय में उसने बना लिया. चीन इस समय इतनी तेजी से अपनी नौसेना की ताकत बढ़ा रहा है, जितना इंग्लैंड की रॉयल नेवी दो साल में करती है.  

About the author

ER. SAHIL PATHAN

Add Comment

Click here to post a comment

error: Content is protected !!