DEFENCE, INTERNAL-EXTERNAL SECURITY AFFAIRS

ऑडियो में दावा- सीमा हैदर आर्मी कैंप में जाती थी:करीबी बोले- कई हफ्ते ट्रेनिंग सेंटर में रही, चाचा पाकिस्तानी फौज में ट्रेनर

ऑडियो में दावा- सीमा हैदर आर्मी कैंप में जाती थी:करीबी बोले- कई हफ्ते ट्रेनिंग सेंटर में रही, चाचा पाकिस्तानी फौज में ट्रेनर

दिल्ली

‘सीमा हैदर के चाचा हैं गुलाम अकबर। पाकिस्तान आर्मी में ट्रेनिंग देते हैं। सीमा अक्सर अपने चाचा के पास जाती थी। वे छावनी में रहते थे। सीमा एक-एक हफ्ता रहकर वापस आ जाती थी। अकेले ही जाती थी। उसे लेने के लिए एक रिक्शावाला आता था। वो अब नजर नहीं आ रहा है, कहीं गायब हो गया है।’

पाकिस्तान से प्रेमी सचिन मीणा के पास ग्रेटर नोएडा आई सीमा हैदर के बारे में उसके एक करीबी ने नया खुलासा किया है। ये शख्स पाकिस्तान में रहता है और सीमा के अलावा उसके पति गुलाम हैदर को भी अच्छे से जानता है। उसके मुताबिक, सीमा अक्सर पाकिस्तानी फौज के ट्रेनिंग सेंटर जाती थी।

सीमा के बारे में बताने वाला शख्स भारत में गुलाम हैदर के वकील मोमिन मलिक के संपर्क में है। मोमिन उसकी पहचान उजागर नहीं करते, लेकिन कहते हैं कि मैं उसे कोर्ट में पेश करने की कोशिश करूंगा।

सीमा हैदर एक साल पहले नेपाल बॉर्डर से भारत आई थीं। तभी से ग्रेटर नोएडा के रबूपुरा गांव में रह रही हैं। शुरुआत से ही उन पर जासूस होने के आरोप लगते रहे हैं।

सीमा हैदर एक साल पहले नेपाल बॉर्डर से भारत आई थीं। तभी से ग्रेटर नोएडा के रबूपुरा गांव में रह रही हैं। शुरुआत से ही उन पर जासूस होने के आरोप लगते रहे हैं।

सीमा के बारे में नए दावे
1.
 सीमा के करीबी के मुताबिक, मेरा फोन हैंग हो जाता था तो सीमा उसे सही करके दे देती थी। वो इतनी चालाक हो गई थी कि बैन होने के बावजूद टिकटॉक चलाती थी।

2. सीमा के मुताबिक, सचिन मीणा से उसकी बातचीत पबजी खेलते शुरू हुई थी। वहीं, उनके करीबी का दावा है कि सीमा पबजी का झूठ बोल रही है। पबजी का तो उसे पता ही नहीं है।

3. सीमा कंप्यूटर भी चलाती थी। वो एक कंप्यूटर लेकर आई थी। सीमा के करीबी बताते हैं, मेरे पास अब भी उसका कंप्यूटर पड़ा है। उसने कंप्यूटर तोड़कर दिया था।

बच्चों को लाई, ताकि जेल हो तो जल्दी छूट जाए
सीमा के करीबी बताते हैं कि भारत आने के लिए उसने बच्चों को ढाल बनाया। उसने पहले ही सोच लिया था कि अगर उसे जेल होती है तो बच्चों की खातिर उसे छोड़ा जा सकता है। वो बॉर्डर क्रॉस कर रही थी, तो एक पुलिसवाला उससे पूछताछ के लिए आया। तब इसने बड़ी बेटी की मुंह में हाथ डालकर उल्टी करा दी। इसके बाद पुलिसवाले ने कुछ नहीं पूछा और चला गया।

सीमा दो बार भारत आई, पहली बार अकेले आई थी
गुलाम हैदर के वकील मोमिन मलिक के मुताबिक, सीमा पाकिस्तान से दो बार भारत आई थी। पहली बार वो अकेले आई थी। इसके बाद बच्चों को लेकर आई। इसके सबूत हैं, अगर जरूरत पड़ी तो ये सबूत कोर्ट में भी देंगे।

सीमा और सचिन ने नेपाल में शादी की है। तभी से दोनों साथ में रह रहे हैं। शादी की ये फोटो दया याचिका के साथ राष्ट्रपति को भी भेजी गई थी।

सीमा और सचिन ने नेपाल में शादी की है। तभी से दोनों साथ में रह रहे हैं। शादी की ये फोटो दया याचिका के साथ राष्ट्रपति को भी भेजी गई थी।

पिटाई वाले वीडियो सामने आए, सीमा बोली- सब पाकिस्तानियों की साजिश
कुछ दिन पहले एक ऑडियो क्लिप सामने आई थी। इसमें सुनाई दे रही आवाज हूबहू सीमा हैदर जैसी है। फिर कई फोटो, वीडियो और ऑडियो भी सामने आए, जिनमें सीमा पति सचिन और उसके परिवार पर पीटने का का इल्जाम लगा रही हैं।

ऑडियो में महिला कहती है, ‘जब कभी मारते हैं, संदीप भैया को कॉल करके बता देती हूं। फिर संदीप भैया मम्मी से बात करते हैं। यहां सबके आगे वे हाथ जोड़कर गए हैं कि ऐसा मत करो। पैर भी पड़े और मैं झुक गई। जैसे-जैसे कहते हैं, मैं वैसे ही करती हूं। ऐसे उठो, ऐसे बैठो। रूल में रखते हैं, इस टाइम उठो और इस टाइम सो जाओ। कैदी से भी बदतर जिंदगी हो गई है।’

इसी बीच पाकिस्तान से सीमा के पहले पति गुलाम हैदर ने भी एक वीडियो जारी किया। इसमें रीमा नाम की महिला सीमा से पाकिस्तान लौटने की अपील कर रही है। रीमा खुद को सीमा की बहन बताती है। कहती है कि गुलाम और सीमा का तलाक नहीं हुआ। सीमा को भारत में डरा-धमकाकर पाकिस्तान के खिलाफ बुलवाया जा रहा है।

हालांकि, सीमा इन वीडियो और ऑडियो को गलत बताती हैं। पाकिस्तान के सिंध की रहने वाली सीमा हैदर ठीक एक साल पहले 13 मई, 2023 को नेपाल के रास्ते चार बच्चों के साथ भारत आई थीं।

इस एक साल में सचिन-सीमा के रिश्ते में क्या बदला, मारपीट के आरोपों का सच क्या है, पाकिस्तान से दावे करने वाली रीमा कौन है और ये दावे कितने सच हैं। इन सवालों के जवाब जानने टीम ग्रेटर नोएडा में सीमा के गांव रबूपुरा पहुंची।

सचिन-सीमा होम से गूगल पर घर की लोकेशन
सीमा और सचिन का गांव रबूपुरा दिल्ली-नोएडा बॉर्डर से करीब 60 किमी दूर ग्रेटर नोएडा एरिया में हैं। उनका घर इतना पॉपुलर है कि गूगल मैप पर रबूपुरा सर्च करते ही सीमा-सचिन होम नाम से लोकेशन मिल जाती है।

सीमा और सचिन के घर के मेन गेट पर CCTV कैमरा लगा है। घर पर हमेशा पुलिस तैनात रहती है। सीमा को बिना परमिशन घर से बाहर जाने की इजाजत नहीं है।

सीमा और सचिन के घर के मेन गेट पर CCTV कैमरा लगा है। घर पर हमेशा पुलिस तैनात रहती है। सीमा को बिना परमिशन घर से बाहर जाने की इजाजत नहीं है।

सीमा-सचिन के घर के मेन गेट पर CCTV कैमरा लगा है। बरामदे में एक महिला पुलिसकर्मी बैठी रहती हैं। इनकी रोज यहां ड्यूटी लगती है। हर आने-जाने वाले से पूछताछ करती हैं। हमने पूछा कि अब यहां पहरा क्यों है।

वे बतातीं हैं कि अभी सीमा को क्लीनचिट नहीं मिली है। बिना पुलिस की इजाजत के सीमा घर से बाहर नहीं जा सकतीं। सिर्फ मेडिकल इमरजेंसी में ही परमिशन लेकर जा सकती हैं। हां, सचिन और उसके परिवार के लोग कहीं भी आ-जा सकते हैं।

कुछ इंतजार के बाद सीमा और सचिन आए और हमें अपने नए कमरे में ले गए। हमने सीमा से पूछा कि आपके कई फोटो और वीडियो हैं, जिनमें आपके चेहरे पर सूजन, होंठ और आंखों के पास गहरी चोट के निशान दिख रहे हैं। आप सचिन और उनकी फैमिली पर कैद में रखने का आरोप लगा रही हैं।

जवाब में सीमा अपना हाथ दिखाते हुए कहती हैं, ‘ये देखिए… मेरे हाथ पर किसी तरह के चोट के निशान दिख रहे हैं? नहीं न। ऐसे कई वीडियो हैं, जिनमें चेहरा मेरा होता है, बाकी सब अलग होता है। पता नहीं किस टाइप के कपड़े पहने होते हैं।’

‘मेरा चेहरा अलग-अलग तरीके से दिखाया जा रहा है। ये सब पाकिस्तान से हो रहा है। कई लोग मेरे नाम से यूट्यूबर बन गए। हमने साइबर सेल में इसकी कम्प्लेंट की है।’

सीमा हैदर के नाम से ये फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है, जिसमें आंख पर चोट के निशान नजर आ रहे हैं। सीमा और उनके वकील इन तस्वीरों को फेक बता रहे हैं।

सीमा हैदर के नाम से ये फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है, जिसमें आंख पर चोट के निशान नजर आ रहे हैं। सीमा और उनके वकील इन तस्वीरों को फेक बता रहे हैं।

सीमा आगे कहती हैं, ‘लड़ाई तो हर घर में होती है। हमारे बीच लड़ाई होती, तो भी हम ऐसा नहीं करते। प्यार में तू-तड़ाक होती रहती है, लेकिन हमारी कभी बड़ी लड़ाई नहीं हुई।’

ऑडियो में संदीप यादव का नाम आया है, ये कौन हैं? सीमा कहतीं हैं, ‘संदीप यादव फेक है। मेरे भाई आशीष चौरसिया हैं। वे लखनऊ से थे। उन्होंने मुझसे राखी बंधवाई है। वैसे तो ढेर सारे लोग मुझसे मिलने आते हैं। मुझे बहन मानते हैं, भाभी कहते हैं। ये हिंदुस्तान का प्यार है। पाकिस्तानी इसे नहीं समझेंगे।’

‘मैंने पहली बार वे वीडियो देखे तो मैं परेशान हो गई थी। ये सब पाकिस्तान के लोगों की चाल है। किसी न किसी तरह से सचिन और मेरे ससुर को फंसाना चाहते हैं। वे दिखाना चाहते हैं कि ससुराल में सीमा की पिटाई हो रही है, ताकि पति, ससुर और दादाजी जेल चले जाएं।’

‘उनसे सचिन की खुशी बर्दाश्त नहीं हो रही है। इसके पीछे गुलाम हैदर की साजिश है। वो किसी ना किसी तरीके से सचिन को जेल में डलवाना चाहते हैं या उनकी जान लेना चाहते हैं।’

ये रबूपुरा गांव में सीमा और सचिन के घर की फोटो है। इसमें सीमा बिल्कुल ठीक और खुश लग रही हैं।

ये रबूपुरा गांव में सीमा और सचिन के घर की फोटो है। इसमें सीमा बिल्कुल ठीक और खुश लग रही हैं।

क्लीन चिट नहीं मिली, हर तरफ CCTV कैमरे, फोन भी ट्रेस हो रहे
सीमा कहती हैं, ‘अब भी हमारी जांच चल रही है। जांच करने वाले घर आते रहते हैं। सचिन जी को भी बुला लेते हैं, लेकिन अब तक क्लीनचिट नहीं मिली। हमारे घर के सभी फोन ट्रेसिंग पर लगे हैं। हर फोन का डेटा निकाला जा रहा है। चारों तरफ CCTV कैमरे लगे हैं। हमेशा पुलिस तैनात रहती है। घर से बाहर जाने की इजाजत नहीं है। जो भी वीडियो आए हैं वे पूरी तरह से फेक हैं।’

सचिन बोले- वीडियो में जैसी चोट, उससे रिकवरी में 2 महीने लग जाते
सचिन कहते हैं, ‘पहली बार हमने रील्स में ही ये वीडियो देखे। हम भी हैरान थे कि ये कब और कैसे हो गया। पाकिस्तान के कुछ यूट्यूबर हैं। वे एडिटेड वीडियो बनाकर हमें बदनाम कर रहे हैं। हम परेशान होने वालों में से नहीं हैं। वीडियो में जिस तरह की चोट दिखाई है, उससे तो सीमा को ठीक होने में कम से कम 2 महीने लग जाते। हम तो रोज ही रील्स बनाकर डालते हैं।’

वकील बोले- वीडियो एडिटेड, AI का इस्तेमाल कर बनाए
सीमा की पिटाई वाले वीडियो पर हमने उनके वकील डॉ. एपी सिंह से बात की। वे कहते हैं, ‘सीमा के सारे विजुअल आए, कहीं चोट नहीं थी। वे यूट्यूब पर रोज 4 रील्स डालती हैं। कभी गैप नहीं हुआ। वीडियो में जिस तरह की चोटें दिखाई गई हैं, उससे तो उसे अस्पताल में होना चाहिए था।’

आंख और होंठ पर चोट के निशान दिखाती ये तस्वीर सीमा हैदर के नाम से वायरल वीडियो से ली गई है, जिसे सीमा क्रिएटेड और फेक बता रही हैं।

आंख और होंठ पर चोट के निशान दिखाती ये तस्वीर सीमा हैदर के नाम से वायरल वीडियो से ली गई है, जिसे सीमा क्रिएटेड और फेक बता रही हैं।

‘कुछ लोग उसके खिलाफ हैं। वीडियो में पूरी एडिटिंग है। ये आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से बनाया गया है। वॉट्सऐप पर भी वीडियो बनाकर डाल दिया। अब मैं कहता हूं कि सभी लोग जूम करके देखो, सीमा को कहां चोटें लगी हैं।’

डॉ. एपी सिंह आगे कहते हैं, ‘इस मामले में नोएडा पुलिस से साइबर क्राइम की शिकायत की गई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।’

पाकिस्तानी लड़की ने खुद को सीमा की बहन बताया, बोली- सीमा का तलाक नहीं हुआ
पाकिस्तान में गुलाम हैदर के नाम से एक यूट्यूब अकाउंट है। कुछ दिन पहले एक महिला हिजाब पहनकर लाइव आई। उसने खुद को सीमा की बहन रीमा बताया। वो बोली-, ‘मैं उसकी बड़ी बहन हूं। वो झूठ बोलती है कि हैदर ने उसे तलाक दिया और छोड़कर चला गया। वो कहती है कि पाकिस्तान में बोलने भर से तलाक हो जाता है। ऐसा कुछ नहीं होता। न कभी सिर्फ बोलने से शादी होती है और न तलाक।’

गुलाम हैदर ने अपने यूट्यूब अकाउंट पर ये लाइव स्ट्रीमिंग की थी। इसमें गुलाम के साथ खुद को सीमा हैदर की बहन बता रही रीमा नजर आई। (सोर्स- यूट्यूब)

गुलाम हैदर ने अपने यूट्यूब अकाउंट पर ये लाइव स्ट्रीमिंग की थी। इसमें गुलाम के साथ खुद को सीमा हैदर की बहन बता रही रीमा नजर आई। (सोर्स- यूट्यूब)

रीमा आगे कहती है, ‘शादी के लिए जैसे गवाह चाहिए, वैसे ही तलाक के लिए भी गवाह लगते हैं। अगर सीमा तलाक की बात को सच बोल रही है, तो उसके पास कोई गवाह होगा। वो कोई ऐसा सबूत दिखाए, जिससे साबित हो सके कि हैदर भाई ने तलाक दिया है। हमारे पास सबूत है, उसका निकाहनामा।’

‘सीमा बोलती है कि मेरे अब्बू ने मुझे बेच दिया था। ऐसा कुछ नहीं था। वो खुद घर से भाग गई थी। अब सीमा की पिटाई हो रही है, तो वो कह रही है कि ये पाकिस्तानियों की साजिश है। पिटाई के वीडियो में जो होंठ ऊपर करके दिखा रही है, वो पाकिस्तानी कैसे दिखाएंगे। तुम अपनी मार दिखा रही हो। ये पाकिस्तानियों ने कैसे बनाई होगी।’

ये तस्वीर भी सोशल मीडिया पर वायरल एक वीडियो से ली गई है। सीमा हैदर इसे फेक बताते हुए पाकिस्तान की साजिश करार देती हैं।

ये तस्वीर भी सोशल मीडिया पर वायरल एक वीडियो से ली गई है। सीमा हैदर इसे फेक बताते हुए पाकिस्तान की साजिश करार देती हैं।

सीमा बोलीं- रीमा मेरी बहन, लेकिन वीडियो में दिखने वाली कोई और
सीमा से हमने रीमा के आरोपों के बारे में पूछा तो बोलीं, ‘वो मेरी बहन नहीं है। रीमा मेरी बहन का नाम है और ये सबको पता है। हैदर को भी पता है। नकाब पहनाकर किसी और लड़की को बैठा रहे हैं और कह रहे हैं कि वो रीमा है।’

‘हैदर उससे मनचाही बातें बुलवा रहा है। वो हर तरह से मुझे घेरना और कमजोर करना चाह रहे हैं। इसीलिए दिखा रहे हैं कि देखो, अब तुम्हारी बहन भी ऐसा बोल रही है। ये सब मुझे दुखी करने की चाल है। ये लोग मेरे बच्चे छीनना चाहते हैं। मुझसे बच्चे छीनने का मतलब मुझे ही वापस बुलाना है, क्योंकि मैं अपने बच्चों के बगैर नहीं जी सकती।’

भारत आने से 4 साल पहले तलाक हुआ, तो गवाह क्यों नहीं?
तलाक के गवाहों के बारे में पूछते ही सीमा कहती हैं, ‘मेरा तलाक हुआ तो गवाह मेरे अब्बू और मेरी बहनें थीं। अब्बू की तो डेथ हो गई है। आप खुद सोचिए कि जिस औरत की शादी हो गई हो, वो अपने घर रहेगी या ससुराल में रहेगी। मैं 4 साल से पिता के घर रह रही थी। मुझे तलाक देकर निकाला गया था। मैं मजबूरी में पिता के घर में थी।’

‘लोग कहते हैं कि मैंने हैदर का घर बेचा। वो छोटा सा करीब 30-35 गज का घर था। मेरे अब्बू ने मुझे दिलाया था। वो मेरे नाम पर था, इसलिए उसे बेचा था। तलाक के वक्त गवाह के तौर पर रीमा मौजूद थी, लेकिन आज वो मुकर रही है। मुझे लगता है कि जो वीडियो में आ रही है, वो रीमा नहीं है। मैं उसकी आवाज पहचानती हूं।’

इधर, सीमा के वकील डॉ. एपी सिंह का दावा है, ‘सीमा 2023 में भारत आई थी। इससे 4 साल पहले ही उसने तलाक लिया था। पाकिस्तान में तो तीन बार तलाक बोलकर ही तलाक ले लिया जाता है। सीमा सचिन से शादी करके अब सीमा मीणा हो गई है।’ डॉ. एपी सिंह ने सीमा को भारत की नागरिकता देने के लिए राष्ट्रपति को लेटर भेजा है।

गुलाम हैदर के वकील बोले- सही जांच होती तो सीमा को जमानत नहीं मिलती
सीमा और सचिन एक साल से साथ हैं। अब पाकिस्तान में रहने वाले सीमा के पहले पति गुलाम हैदर ने सीमा से 4 बच्चों की कस्टडी मांगी है। ग्रेटर नोएडा की जेवर कोर्ट में गुलाम के भारतीय वकील मोमिन मलिक ने सीमा और सचिन की जमानत को लेकर याचिका लगाई है। इसमें कहा गया है कि सीमा का गुलाम हैदर से आज तक कानूनी तलाक नहीं हुआ।

सीमा ने अरेस्ट होने के बाद 4 जुलाई, 2023 को अपने बयान में खुद को गुलाम हैदर की पत्नी बताया था। 7 जुलाई, 2023 को सीमा और सचिन को सशर्त जमानत मिली थी, उसमें सीमा के पति का नाम गुलाम हैदर दर्ज है।

सीमा ने खुद मीडिया में दावा किया था कि उसने 13 मार्च, 2023 को सचिन से शादी कर ली थी। अगर वाकई सीमा ने सचिन से शादी कर ली थी तो फिर 7 जुलाई, 2023 के जमानत पत्र में कैसे गुलाम हैदर को पति बताया।

मोमिन मलिक कहते हैं, ‘सीमा को मिली जमानत में बड़ी गड़बड़ी मिली है। अगर सही से जांच होती, तो जमानत ही नहीं मिलती। सीमा कहती हैं कि उन्होंने नेपाल में शादी की है। हमने उसे भी चैलेंज किया है। धर्म परिवर्तन को चैलेंज किया है। पूछा है कि तलाक का आधार क्या है। बच्चों का एडॉप्शन हुआ था, तो कैसे हुआ।’

सीमा का जवाब- मैं जेल में थी, पुराने वकील ने लिखवाया
जमानत के वक्त पति का नाम गुलाम हैदर लिखने पर सीमा कहती हैं, ‘उस कागज पर मैंने नहीं लिखा था। मैं तो उस वक्त जेल में थी। वो मेरे वकील हेमंत ने लिखवाया था। मैंने तो सीमा सचिन नाम बताया था। पाकिस्तान में मेरा शिनाख्ती कार्ड बना था, उसमें मेरे पति का नाम गुलाम हैदर लिखा था। वही, शिनाख्ती कार्ड लेकर हमने पाकिस्तान में दूसरे डॉक्युमेंट बनवाए थे, तो उसका नाम आना ही था।’

वे आगे कहती हैं, ‘अगर मैं पाकिस्तान के ऑफिस में जाकर कहती कि मैं तलाकशुदा हूं, तो वो 100 कागज मांगते। वहां कोई सिस्टम नहीं है। पहले पैसा मांगेंगे, फिर काम करेंगे। इसी वजह से मैंने हैदर के नाम वाले शिनाख्ती कार्ड से ही सारे कागजात बनवाए थे और उसी बात का ये फायदा उठा रहा है।’

सीमा के वकील बोले- गुलाम हैदर को टेरर फंडिंग हो रही, जांच जरूरी
सीमा के वकील डॉ. एपी सिंह का दावा है कि गुलाम हैदर को टेरर फंडिंग के जरिए पैसे मिल रहे हैं। हमने पूछा कि गुलाम हैदर एक साल बाद इंडिया आना चाहता है। इसके पीछे टेरर फंडिंग के दावे में कितनी सच्चाई है। एपी सिंह कहते हैं, ‘आप देख रहे हैं कि लगातार इतने महीने से उसके पास कोई काम नहीं है। फिर पैसे कहां से आ रहे हैं।’

सीमा के जासूस होने के आरोप पर डॉ. एपी सिंह कहते हैं, ‘अगर वो जासूस होती तो क्या अपने बच्चों को लेकर भारत आती। क्या कोई जासूस ऐसा करता है। ऐसा बिल्कुल नहीं है। वो सिर्फ अपने प्यार की खातिर भारत आई है। वो अपने बच्चों से प्यार करती है। सचिन से प्यार करती है। सिर्फ इसलिए इंडिया आई है।’

सीमा के आर्मी कैंप जाने के दावे पर उनके वकील डॉ. एपी सिंह ने कहा है, ‘इस ऑडियो की जांच होनी चाहिए। मैं ये कह नहीं रहा हूं कि ये सच है या झूठ है। ये जांच का विषय है। गृह मंत्रालय इसकी जांच NIA से कराए।’

वहीं, सीमा ने कहा कि भारत में रहकर कुछ लोग पाकिस्तान में दिन-रात बात कर रहे हैं। उनकी जांच जरूर की जाए। गुलाम हैदर से मिले लोगों की भी जांच हो। मैं भी जांच के लिए तैयार हूं।

हमने गुलाम हैदर को टेरर फंडिंग होने के बारे में सीमा से पूछा तो वे कहती हैं, ‘पाकिस्तान में जो मुल्ला हैं, वही फंडिंग कर रहे हैं। सीमा हिंदू बन गई, उसके बच्चे हिंदू बन गए हैं, इसमें कहीं न कहीं वे अपनी हार समझ रहे हैं। अपनी बेइज्जती समझ रहे हैं, इसलिए गुलाम हैदर को फंडिंग कर रहे हैं।’

‘हैदर के पास न जमीन है, न जायदाद। उनके पूरे खानदान में कोई नौकरी करने वाला नहीं है। सब क्राइम करके घर में छिपे बैठे हैं। किसी और की खेतीबाड़ी में काम करके खाना खाते हैं, इतना पैसा कहां से लाएंगे।’

Topics

Google News
error: Content is protected !!