NATIONAL NEWS

मुंबई होर्डिंग हादसे का आरोपी उदयपुर से गिरफ्तार:16 लोगों की हुई थी मौत, क्राइम ब्रांच ने एक रिसॉर्ट से पकड़ा

TIN NETWORK
TIN NETWORK

मुंबई होर्डिंग हादसे का आरोपी उदयपुर से गिरफ्तार:16 लोगों की हुई थी मौत, क्राइम ब्रांच ने एक रिसॉर्ट से पकड़ा

उदयपुर

मुंबई क्राइम ब्रांच ने बिलबोर्ड लगाने वाली कंपनी के मालिक भावेश भिंडे को गुरुवार को उदयपुर से गिरफ्तार कर लिया। वह यहां रिसॉर्ट में रुका हुआ था। भिंडे की एडवरटाइजिंग कंपनी इगो मीडिया लिमिटेड ने ही घाटकोपर में बिलबोर्ड लगाया था। घाटकोपर में जो होर्डिंग गिरा था, वह 100 फीट ऊंचा था। होर्डिंग के नीचे कई कार, टू-व्हीलर्स और लोग दब गए थे। हादसे में 16 लोगों की मौत और 75 लोग घायल हुए।

इस संबंध में उदयपुर एसपी योगेश गोयल ने बताया कि इस बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है। न ही ऐसी कोई कार्रवाई में मुंबई पुलिस ने उनकी मदद ली है। ऐसे में माना जा रहा है कि मुंबई क्राइम ब्रांच ने यह कार्रवाई सीधे अपने स्तर पर की है।

मुंबई होर्डिंग हादसे के आरोपी भावेश भिंडे को मुंबई क्राइम ब्रांच ने उदयपुर से अरेस्ट किया।

मुंबई होर्डिंग हादसे के आरोपी भावेश भिंडे को मुंबई क्राइम ब्रांच ने उदयपुर से अरेस्ट किया।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक हादसे के बाद से मुख्य आरोपी भावेश भिंडे फरार चल रहा था। जिस पर मुंबई पुलिस ने गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज किया था। मुंबई क्राइम ब्रांच की टीम लगातार भिंडे के संभावित ठिकानों पर दबिश दे रही थी। मुंबई क्राइम ब्रांच की टीम आरोपी भिंडे को पकड़कर मुंबई लेकर रवाना हो गई है।

13 मई को गिरा था होर्डिंग
मुंबई में 13 मई को दोपहर करीब 3 बजे तेज आंधी आई थी। घाटकोपर में 100 फीट ऊंचा और 250 टन वजनी लोहे का होर्डिंग एक पेट्रोल पंप पर जा गिरा था। इस दौरान कुछ कार, टू-व्हीलर्स और पैदल यात्री इसकी चपेट में आ गए थे। हादसे में 14 लोगों की मौत हो गई थी, दो लोगों की मौत बुधवार रात हुई। पुलिस ने बताया था कि यह होर्डिंग 120X120 फीट का था। इसलिए होर्डिंग लिम्का बुक में भी दर्ज है।

भिंडे पर पहले से 23 केस दर्ज
भिंडे पर 23 केस पहले से दर्ज है। इनमें से एक रेप का केस भी है। वह 2009 में मुलुंड से निर्दलीय कैंडिडेट के रूप में विधानसभा चुनाव लड़ चुका। इसमें खुद भिंडे ने खुद पर 23 केस दर्ज होने की बात कही थी। इसी साल जनवरी में उस पर रेप का केस दर्ज हुआ था। इस मामले में चार्जशीट भी दाखिल हो चुकी है।

इनमें चेक बाउंस, होर्डिंग्स-बैनरों के लिए कई रेलवे और ग्रेटर मुंबई नगर निगम (BMC) के ठेके हासिल करने जैसे मामलों में मुंबई नगर निगम अधिनियम और नेगोशिएबल इंस्ट्रूमेंट एक्ट के तहत कई केस शामिल हैं। BMC ने पेड़ों में जहर डालने के मामले में भी उसके खिलाफ केस दर्ज कराया था।

ईगो मीडिया से पहले भावेश गुजू एड्स नाम की एक कंपनी चलाता था। हालांकि, BMC ने कई केस दर्ज होने के बाद ​​​​​​कंपनी को ​ब्लैकलिस्ट कर दिया था। इसके बाद भावेश ने होर्डिंग और बिलबोर्ड का कॉन्ट्रैक्ट हासिल करने के लिए ईगो मीडिया प्राइवेट लिमिटेड नाम से दूसरी कंपनी लॉन्च की थी।

हादसे से जुड़ी तस्वीरें

मुंबई पुलिस, फायर ब्रिगेड, SDRF की टीम ने रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया था।

मुंबई पुलिस, फायर ब्रिगेड, SDRF की टीम ने रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया था।

हादसे के मौके पर रेस्क्यू चलाया गया था, जिसमें दो लोगों की और मौत हो गई थी।

हादसे के मौके पर रेस्क्यू चलाया गया था, जिसमें दो लोगों की और मौत हो गई थी।

100 फीट ऊंचा लोहे का यह बिलबोर्ड आंधी की वजह से सीधे पेट्रोल पंप जा गिरा था।

100 फीट ऊंचा लोहे का यह बिलबोर्ड आंधी की वजह से सीधे पेट्रोल पंप जा गिरा था।

हादसे के बाद बड़ी मशीनों के जरिए होर्डिंग के स्ट्रक्चर को हटाया गया था।

हादसे के बाद बड़ी मशीनों के जरिए होर्डिंग के स्ट्रक्चर को हटाया गया था।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

error: Content is protected !!