NATIONAL NEWS

डीपफेक वीडियो केस में रश्मिका मंदाना का बयान दर्ज:दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल की IFSO टीम ने लिया बयान, नवंबर में वायरल हुआ था वीडियो

TIN NETWORK
TIN NETWORK

डीपफेक वीडियो केस में रश्मिका मंदाना का बयान दर्ज:दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल की IFSO टीम ने लिया बयान, नवंबर में वायरल हुआ था वीडियो

नवंबर 2023 में एक्ट्रेस रश्मिका मंदाना का एक डीपफेक वीडियो वायरल हुआ था। डीपफेक वीडियो के मामले में दिल्ली पुलिस ने इसके आरोपी को गिरफ्तार कर लिया था। रिपोर्ट्स के मुताबिक, अब इसी मामले में रश्मिका मंदाना ने पुलिस को अपना बयान दर्ज करवा दिया है। मिली जानकारी के अनुसार, डीपफेक वीडियो मामले की जांच कर रही दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल की IFSO टीम ने, मुंबई में रश्मिका का बयान दर्ज किया है।

बता दें, दिल्ली पुलिस की IFSO (Intelligence Fusion and Strategic Operations Unit) साइबर क्राइम यूनिट ने आंध्र प्रदेश से 24 साल के इंजीनियर ईमानी नवीन को गिरफ्तार किया था। दिल्ली पुलिस ने 10 नवंबर 2023 को इस केस की FIR दर्ज की थी। रश्मिका का डीपफेक इसी शख्स ने बनाया था।

IFSO DCP हेमंत तिवारी ने दिया था बयान
IFSO DCP हेमंत तिवारी ने बताया था कि DCW की शिकायत पर 10 नवंबर, 2023 को केस दर्ज किया था। जिसके बाद वीडियो की तकनीकी जांच में काफी मेहनत की गई। पहली बार ये वीडियो ब्रिटिश इंडियन लड़की ने इंस्टाग्राम पर 9 अक्टूबर, 2023 में अपलोड किया था। जिसमें डीप फेक के जरिये रश्मिका का चेहरा लगाकर 13 अक्टूबर, 2023 को अलग-अलग सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर पोस्ट शेयर किया गया था। जांच के दौरान 500 से ज्यादा सोशल मीडिया के अकाउंट खंगाले गए थे। जो पहली लीड मिली, वो हैंडल डिलीट कर दिया गया था।

Meta ने काफी मदद की और डिलीटेड अकाउंट्स का डेटा रिकवर करने में 2-3 हफ्ते का समय लगा था। IFSO की टीम कई राज्यों में गई। आखिर में ईमानी नवीन को आंध्र प्रदेश के गुंटूर से गिरफ्तार किया था। आरोपी ने अपना जुर्म भी कबूल कर लिया था।

दिल्ली पुलिस की IFSO टीम के साथ मामले का आरोपी ईमानी नवीन।

दिल्ली पुलिस की IFSO टीम के साथ मामले का आरोपी ईमानी नवीन।

पुलिस के मुताबिक आरोपी ईमानी नवीन रश्मिका मंदाना का फैन पेज चलाता था। हालांकि, डेढ़ साल रश्मिका मंदाना का फैन पेज चलाने के बाद भी उस पर सिर्फ 90 हजार फॉलोअर थे, जो वीडियो अपलोड करने के बाद 1 लाख 8 हजार हो गए। इसका डीप फेक वीडियो बनाने का मकसद एक्ट्रेस को हानि पहुंचाना नहीं था। आरोपी मेटा मोनिटाइजेशन के जरिए पैसे कमाना चाहता था और अपने फॉलोअर बढ़ाना चाहता था। इसलिए उसने यूट्यूब के चैनल से वीडियो एडिटिंग का कोर्स किया और रश्मिका मंदाना का डीपफेक बनाया।

जब आरोपी ने देखा कि ये अब नेशनल इशू बन गया और बड़े स्टार्स भी कार्रवाई की मांग करने लगे, तो ये डर गया था। आरोपी ने डीप फेक पोस्ट डिलीट कर दिया और फैन पेज का नाम भी बदल दिया था। आरोपी ने अपने फोन से भी काफी डेटा डिलीट कर दिया था।

ईमानी नवीन ने चेन्नई से 2021 में इलेक्ट्रॉनिक्स और टेलीकम्युनिकेशन में BTech किया है। आरोपी ने गूगल गैराज से डिजिटल मार्केटिंग का सर्टिफिकेट लिया है। इसके अलावा उसने यूट्यूब से वेबसाइट डेवेलपमेंट, फोटोशॉप और वीडियो एडिटिंग का भी कोर्स किया है। आरोपी मार्च, 2023 में घर आकर WFH कर रहा था।

रश्मिका मंदाना ने डीपफेक वीडियो वायरल होने के बाद शेयर किया था पोस्ट।

रश्मिका मंदाना ने डीपफेक वीडियो वायरल होने के बाद शेयर किया था पोस्ट।

नवंबर में वायरल हुआ था डीपफेक वीडियो
नवंबर 2023 में एक्ट्रेस रश्मिका मंदाना का एक डीपफेक वीडियो वायरल हुआ था। इसमें एक महिला लिफ्ट में एंटर करती नजर आ रही थी जो देखने में तो बिल्कुल रश्मिका जैसी लगती थी। हालांकि यह महिला रश्मिका नहीं बल्कि जारा पटेल नाम की एक लड़की थी, जिसके चेहरे को बदलकर रश्मिका का चेहरा लगा दिया गया था। ALT न्यूज के एक जर्नलिस्ट ने डीपफेक वीडियो वायरल होने के बाद इसका खुलासा किया था।

क्या है डीपफेक?
डीपफेक एक तरह की फेक वीडियो होती है, जिसमें किसी शख्स के चेहरे, आवाज और एक्सप्रेशन बदले जाते हैं। AI टूल्स के जरिए एडिटिंग इतनी सफाई से होती है कि सही और फेक वीडियो में पहचान कर पाना काफी मुश्किल होता है। पहले सिर्फ स्टिल फोटोज में मोर्फिंग होती थी, हालांकि अब वीडियोज में भी चेहरे के हाव-भाव बदल दिए जाते हैं। ज्यादातर डीपफेक का इस्तेमाल पोर्नोग्राफी के लिए होता है, जिसमें किसी की भी तस्वीर या वीडियो को टेक्नॉलोजी की मदद से न्यूड फोटो या वीडियो में बदल दिया जाता है।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

error: Content is protected !!