DEFENCE / PARAMILITARY / NATIONAL & INTERNATIONAL SECURITY AGENCY / FOREIGN AFFAIRS / MILITARY AFFAIRS

32 महीने बाद पाकिस्तान से लौटा शब्बीर:भटक कर पार कर गया था बॉर्डर, दो दिन से सुरक्षा एजेंसियां कर रही हैं पूछताछ

32 महीने बाद पाकिस्तान से लौटा शब्बीर:भटक कर पार कर गया था बॉर्डर, दो दिन से सुरक्षा एजेंसियां कर रही हैं पूछताछ

बाड़मेर

शबीर 32 माह पहले बाड़मेर बॉर्डर से इंडो-पाक तारबंदी क्रॉस करके गया था पाकिस्तान। वीडियो पाकिस्तान का बताया जा रहा है।

रास्ता भटक कर पाकिस्तान पहुंचा बाड़मेर का शब्बीर (25) वाघा बॉर्डर के रास्ते 32 महीने बाद 29 मई को भारत लौटा। दो दिन से सुरक्षा एजेंसियां उससे पूछताछ कर रही हैं। इसके बाद परिवार के हवाले किया जाएगा। शब्बीर का गांव बाड़मेर में बॉर्डर से दो किमी दूर है। दरगाह जाने के लिए कहकर घर से निकला था।

सेड़वा थाना इंचार्ज दीप सिंह ने बताया- थाना इलाके के जानपालिया गांव निवासी मुराद खान पुत्र इस्माइल ने 24 अक्टूबर 2021 को थाने में बेटे की गुमशुदगी दर्ज कराई थी। रिपोर्ट में मुराद ने बताया कि उसका 25 साल का बेटा शब्बीर अहमद 23 अक्टूबर 2021 की सुबह 8 बजे से गायब है।

तस्वीर शब्बीर के भारत लौटने के बाद की बताई जा रही है। 29 मई को वाघा बॉर्डर से उसकी भारत वापसी हुई।

शब्बीर घर में कहकर गया था कि वह नजदीकी गोहड़ का तला दरगाह जा रहा है। लेकिन वह दरगाह नहीं पहुंचा। घर से पाकिस्तान बॉर्डर 2 किलोमीटर की दूरी पर है, इसलिए परिजनों को चिंता हुई। पुलिस और परिवार के लोगों ने शब्बीर को काफी तलाश किया, लेकिन उसका कहीं कोई सुराग नहीं लगा।

जानकारी के अनुसार सेना के पास एक वीडियो आया, जिससे पता चला कि शब्बीर पाकिस्तान में है। सेड़वा थाना पुलिस ने तत्काल BSF के अधिकारियों से पत्र लिखकर शब्बीर के बारे में जानकारी मांगी। BSF के अधिकारियों ने पाकिस्तान की सेना के अधिकारियों से शब्बीर के बारे में बात की, लेकिन उनकी ओर से शब्बीर के पाकिस्तान पहुंचने की पुष्टि नहीं की गई।

उधर, वीडियो सामने आने के बाद शब्बीर की पाकिस्तान से वतन वापसी के लिए परिजनों ने प्रशासन व सरकार से गुहार लगाई।

बाड़मेर का तारबंदी एरिया। तारबंदी से 2 किलोमीटर दूर शब्बीर का गांव जानपालिया है।

शबीर के मामा सुभान ने बताया- शब्बीर का दिमागी संतुलन ठीक नहीं था। इसलिए वह तारबंदी की तरफ चला गया होगा। तारबंदी क्रॉस करके पाकिस्तान पहुंच गया। वह शादीशुदा है और उसके दो बेटियां और एक बेटा है। उसके जाने के बाद से पत्नी फैनल, बच्चों और माता-पिता का बुरा हाल हो गया था।

उन्होंने बताया- हमें 31 मई को बाड़मेर एसपी ऑफिस से सूचना मिली कि 29 मई को शब्बीर की वाघा बॉर्डर (पंजाब) के रास्ते वतन वापसी हो चुकी है। परिवार को अमृतसर (पंजाब) बुलाया गया है। सेड़वा थाना पुलिस की एक टीम परिवार को लेकर अमृतसर पहुंची है। फिलहाल वहां पर डॉक्यूमेंट की कार्रवाई चल रही है। आज शब्बीर को परिवार के हवाले करेंगे।

जानकारी के अनुसार पंजाब में भारत की सुरक्षा एजेंसियों ने शब्बीर से पूछताछ की है। सेना के सूत्रों के अनुसार बाड़मेर के रेत के टीले हवा से खिसकते हैं। ऐसे में कहीं-कहीं तारबंदी के नीचे जगह बन जाती है। इसका फायदा उठाकर लोग तारबंदी के इस पार या उस पार चले जाते हैं। राजस्थान से गेमराराम भी इसी तरह पाकिस्तान गया था।

error: Content is protected !!