DEFENCE, INTERNAL-EXTERNAL SECURITY AFFAIRS INTERNATIONAL NEWS

किलर ड्रोन बनाकर पाकिस्‍तान में आया घमंड! अपने ही दोस्‍तों चीन और तुर्की को चिढ़ाया, जानें शहपार-2 की ताकत

TIN NETWORK
TIN NETWORK

किलर ड्रोन बनाकर पाकिस्‍तान में आया घमंड! अपने ही दोस्‍तों चीन और तुर्की को चिढ़ाया, जानें शहपार-2 की ताकत

Turkey Bayraktar TB2 Vs Pakistan Shahpar ii: चीन और तुर्की के हथियारों के बदल पर कूदने वाले पाकिस्‍तान ने अब अपने ही दोस्‍तों को चिढ़ाना शुरू कर दिया है। पाकिस्‍तान ने शाहपार 2 नाम से ड्रोन बनाया है जो मिसाइल की फायरिंग कर सकता है। पाकिस्‍तान का दावा है कि यह ड्रोन चीन और तुर्की के ड्रोन से भी बेहतर है।

 

इस्‍लामाबाद: चीन और तुर्की से ड्रोन खरीदकर काम चला रहे कंगाल पाकिस्‍तान ने एक किलर स्‍वदेशी ड्रोन शहपार-2 बनाने का दावा किया है। इस ड्रोन को बनाने के बाद पाकिस्‍तान इतराने लगा है और उसने दावा किया है कि यह चीन के CH-4 और तुर्की के यूक्रेन वाले टीबी-2 ड्रोन से भी ज्‍यादा बेहतर है। उसने इस ड्रोन को दुनिया के 11 देशों के सैन्‍य अधिकारियों को भी दिखाया है। पाकिस्‍तान की सरकारी कंपनी जीआईडीएस ने हाल ही में शाहपर 2 ड्रोन की उड़ान को आयोजित किया था। इस दौरान पाकिस्‍तानी ड्रोन ने दुनिया के विभिन्‍न सैन्‍य अधिकारियों के सामने लाइव फायरिंग करके भी दिखाया।

शाहपर 2 को मध्‍यम ऊंचाई तक लंबे समय तक उड़ान भरने वाला ड्रोन करार दिया गया है। इस ड्रोन की उड़ान को पाक‍िस्‍तान के बहावलपुर शहर में आयोजि किया गया। इस दौरान ड्रोन ने 14 हजार फुट की ऊंचाई से हवा से सतह पर मार करने वाली मिसाइल ‘बर्क’ की मदद से अपने लक्ष्‍यों को तबाह किया। उसने दावा किया कि ड्रोन ने सटीक तरीके से जमीनी लक्ष्‍यों को निशाना बनाया। पाकिस्‍तानी कंपनी के वरिष्‍ठ अधिकारियों ने दावा किया कि शाहपार 2 ड्रोन बाजार में मौजूद तुर्की के बायरकतार टीबी 2 ड्रोन और चीन के सीएच 4 ड्रोन से भी क्षमता और कीमत में ज्‍यादा बेहतर है।

पाकिस्‍तान क्‍यों कर रहा ड्रोन की तारीफ?

पाकिस्‍तानी अधिकारियों ने कहा कि यह ड्रोन तकनीक दिखाती है कि उनका देश अपनी रक्षा क्षमता को मजबूत करने को लेकर प्रतिबद्ध है। अब पाक‍िस्‍तानी कंपनी इस ड्रोन की क्षमता को बढ़ा रही है ताकि वह बर्क 2 मिसाइल और लेजर गाइडेड बम का इस्‍तेमाल कर सके। पाकिस्‍तान ने इस ड्रोन को जिन देशों को दिखाया उनमें सऊदी अरब, अजरबैजान, केन्‍या, नाइजीरिया और अन्‍य देशों के सैन्‍य अधिकारी थे। माना जा रहा है कि इन देशों को अपना ड्रोन बेचने के लिए पाकिस्‍तान ने यह लाइव फायरिंग ड्रिल किया है। पाकिस्‍तान कई देशों को हथियार बेचने की कोशिश कर रहा है ताकि उसकी कंगाली दूर हो।

इससे पहले अजरबैजान ने ऐलान किया था कि वह पाकिस्‍तान से जेएफ-17 फाइटर जेट खरीदने जा रहा है। यह फाइटर जेट पाकिस्‍तान ने चीन के साथ मिलकर बनाया है। पाकिस्‍तान ने जो तस्‍वीरें जारी की हैं, उनमें ड्रोन को सेंसर और दो बर्क 1 मिसाइल से लैस दिखाया गया है। पाकिस्‍तान इस ड्रोन को अपने लिए बड़ी सफलता मान रहा है। यह ड्रोन विमान 1000 क‍िमी दूरी पर मौजूद अपने लक्ष्‍य तक पहुंच सकता है। इसमें लेजर टारगेटिंग सिस्‍टम को लगाया गया है ताकि सटीक हमला किया जा सके। इसकी लंबाई 8 मीटर है। यह 53 किलो का आंतरिक और 190 किलो का बाह्य पेलोड लेकर जा सकता है। इसकी रफ्तार करीब 200 किमी है। यह रीयल टाइम सूचना और वीडियो भेजने में सक्षम है।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

Topics

Translate:

Google News
Translate »
error: Content is protected !!