National News

दो बहनों की विदाई से पहले बड़े भाई की मौत:बर्तन धोने जाते समय करंट आया, शव मॉर्च्युरी में रखाकर किया दुल्हनों को विदा

TIN NETWORK
TIN NETWORK

दो बहनों की विदाई से पहले बड़े भाई की मौत:बर्तन धोने जाते समय करंट आया, शव मॉर्च्युरी में रखाकर किया दुल्हनों को विदा

सिरोही

बहनों की विदाई के बाद घर में लगे शादी के टेंट को हटाकर अंतिम संस्कार की तैयारी की गई। - Dainik Bhaskar

बहनों की विदाई के बाद घर में लगे शादी के टेंट को हटाकर अंतिम संस्कार की तैयारी की गई।

दो बहनों के फेरे होने के बाद विदाई की तैयारी चल रही थी। उसी समय बर्तन धोने के लिए जा रहे बड़े भाई की करंट की चपेट में आने से मौत हो गई। परिवार में चल रहा खुशी का माहौल गम में बदल गया। परिजनों ने शव को सरकारी अस्पताल की मॉर्च्युरी में रखवाकर बहनों को विदा किया। मामला सिरोही जिले की पिंडवाड़ा का है।

मृतक छोगाराम अपनी दोनों बहनों के साथ। फाइल फोटो

मृतक छोगाराम अपनी दोनों बहनों के साथ। फाइल फोटो

सब इंस्पेक्टर पन्नालाल ने बताया कि पिंडवाड़ा तहसील मुख्यालय से करीब 6 किलोमीटर दूर अजारी के फूटेला फली गांव निवासी सतरा राम जोगी की दो बेटियों की गुरुवार को शादी थी। एक बेटी सूरता की बारात काछोली गांव से और दूसरी बेटी चंदी की बारात गुलाबगंज पालड़ी एम से आई थी। बारात सुबह 7 बजे पहुंची थी। सुबह 10 बजे फेरे होने के बाद विदाई का कार्यक्रम चल रहा था। इसी दौरान करीब 11.30 बजे दुल्हनों का बड़ा भाई छोगा राम (30) खाना बनाने के बाद एक बर्तन को धोने के लिए जा रहा था। इसी दौरान वहां लटक रहे बिजली के तार से करंट लगने से वह बेहोश होकर गिर गया।

वहां मौजूद लोग उसे पिंडवाड़ा के सरकारी अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां मौजूद डॉक्टर ने जांच के बाद उसे मृत घोषित कर दिया। इस पर शव को उन्होंने अस्पताल की मॉर्च्युरी में यह कहकर रखवा दिया की घर में दो बेटियों की शादी है। उनको विदा करने के बाद वह शव को लेकर जाएंगे। इसके बाद परिजन घर लौट आए और दुल्हनों की विदाई की तैयारी करने लगे। इस दौरान बहनों ने कहा- पहले भाई को बुलाओ, उसके बाद विदाई होगी। परिजनों ने कहा- उसकी तबीयत ठीक नहीं होने पर इलाज के लिए पालनपुर ले गए हैं। इसके बाद किसी तरह दोनों बहनों को समझाकर विदाई की गई।

भाई की मौत के बाद गमगीन माहौल में बहनों की विदाई की गई।

भाई की मौत के बाद गमगीन माहौल में बहनों की विदाई की गई।

अस्पताल पहुंचे परिजन, पोस्टमॉर्टम के लिए नहीं मिले डॉक्टर
गमगीन माहौल में दोनों दुल्हन की विदाई की गई। इसके बाद घर में लगे शादी के टेंट को हटाया गया। परिजन पिंडवाड़ा सरकारी अस्पताल पहुंचे। करीब 2 घंटे पोस्टमॉर्टम करने के लिए कोई डॉक्टर नहीं था। शाम को साढ़े 5 बजे डॉक्टर के आने पर पोस्टमॉर्टम किया गया। मृतक मजदूरी का करता था और उसके तीन बेटे हैं। छोगा राम घर में इकलौता कमाने वाला था। उसके एक छोटा भाई भी है।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

Topics

Google News
error: Content is protected !!