National News

मादक पदार्थ बरामद:आरएसी के जवानों ने चाकू से बंदी की सैंडिल काटी तो निकली चरस, बैग के नीचे चिपका रखे थे एमडी के 3 पाउच, 5 निलंबित

TIN NETWORK
TIN NETWORK

मादक पदार्थ बरामद:आरएसी के जवानों ने चाकू से बंदी की सैंडिल काटी तो निकली चरस, बैग के नीचे चिपका रखे थे एमडी के 3 पाउच, 5 निलंबित

बीकानेर

आरएसी के जवानों ने चाकू से बंदी की सैंडिल काटी तो निकली चरस, बैग के नीचे चिपका रखे थे एमडी के 3 पाउच, 5 निलंबित - Dainik Bhaskar

आरएसी के जवानों ने चाकू से बंदी की सैंडिल काटी तो निकली चरस, बैग के नीचे चिपका रखे थे एमडी के 3 पाउच, 5 निलंबित

आरएसी के जवानों ने हरियाणा के हिसार जिले में तारीख पेशी से वापस लौटे सजायाफ्ता बंदी की जेल में मेन गेट पर तलाशी ली तो उसके पास से मोबाइल और मादक पदार्थ बरामद हुए। बंदी ने अपनी सैंडिल में दो पाउच चरस और बैग के नीचे टेप से एमडी के तीन पैकेट चिपका रखे थे जिसे जब्त किया गया है।

चालानी गार्ड के पांच पुलिसकर्मी बंदी को हिसार ले गए थे और उसे ट्रेन में वापस लेकर आए जिन्हें पता ही नहीं चला या फिर उनकी मिलीभगत रही। चालानी गार्ड के पांच पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है।

हरियाणा में फतेहाबाद के भुना निवासी बंदी आकश उर्फ रिंकू वाल्मीकि को नोहर की कोर्ट ने दो नवंबर, 23 को चोरी के मामले में तीन साल की सजा सुनाई। इसके अलावा भी उस पर भादरा, सिरसा, फतेहाबाद, हिसार में कुल 11 मुकदमे हैं। बंदी को 19 मार्च को चालानी गार्ड के पुलिसकर्मी तारीख पेशी पर हरियाणा ले गए थे।

अगले दिन 20 मार्च को सुबह 4 बजे उसे लेकर वापस बीकानेर जेल पहुंचे तो मेन गेट पर ड्यूटी कर रहे आरएसी के कांस्टेबल सतीश कुमार और किरण सैनी ने बंदी की तलाशी ली। उसके कपड़ों से भरे बैग की जांच-पड़ताल की तो उसके नीचे लगी टेप संदिग्ध लगी। टेप हटाई तो बैग से चिपकाए तीन पैकेट निकले जिसमें 4.14 ग्राम एमडी थी।

आरएसी के जवानों ने अपने प्रभारी नरेन्द्र कुमार ढाका को इसकी जानकारी दी तो वे मौके पर पहुंच गए। उनकी मौजूदगी में बंदी रिंकू और उसके सामान की बारीकी से जांच-पड़ताल शुरू की। बंदी की पहनी हुई सैंडिल मोटी लगी तो उसके तले को चाकू से काटा गया। दोनों सैंडिल के बीच से एक-एक पाउच निकला जिसमें 20.86 ग्राम चरस थी। इसके अलावा बंदी ने दाहिनी पैर में पट्टी बांध रखी थी। उसे खोलकर देखा तो छोटा की-पैड वाला चाइनीज मोबाइल निकला जिसमें सिम नहीं था।

आरएसी इंचार्ज ने जेल अधीक्षक को बंदी से बरामद सामान के बारे में बताया। इत्तला मिलने पर बीछवाल थाना पुलिस मौके पर पहुंच गई और बंदी को पकड़कर बरामद सामान कब्जे में लिया। बंदी के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट का मामला दर्ज कर गिरफ्तार किया।

उसे कोर्ट में पेश कर एक दिन का रिमांड लिया। एसएचओ नरेश कुमार निर्वाण ने बताया कि बंदी को गुरुवार को दुबारा कोर्ट में पेश कर 25 मार्च तक रिमांड पर लिया गया है। मामले की जांच सीओ सदर आईपीएस रमेश को सौंपी गई है।

जेल अधीक्षक ने कहा- रिंकू और उसके तीन साथियों को दूसरी जेल में ट्रांसफर करने की अनुशंसा

जेल अधीक्षक सुमन मालीवाल ने बताया कि तारीख पेशी से वापस लौटे बंदी रिंकू से मादक पदार्थ और मोबाइल बरामद होने की घटना के बाद उसके साथ के तीन अन्य बंदी भी शक के दायरे में हैं। चारों बंदियों को बीकानेर जेल से दूसरी जेल में ट्रांसफर की अनुशंसा की गई है। इसके लिए जेल डीआईजी को पत्र लिखा गया है।

हरियाणा में बंदी के भाई ने दिया मादक पदार्थ और मोबाइल

बंदी आकाश उर्फ रिंकू से प्रारंभिक पूछताछ में सामने आया है कि उसे मादक पदार्थ और मोबाइल उसके भाई ने हरियाणा में दिए थे। रिंकू को सात दिन में तीन बार तारीख पेशी पर हरियाणा ले जाया गया। सबसे पहले 14 मार्च को फतेहाबाद, 15 मार्च को हिसार और फिर 19 मार्च को हिसार ले जाया गया।

इस दौरान हरियाणा में रिंकू का भाई उससे मिला और उसी ने मादक पदार्थ और मोबाइल उपलब्ध कराए। चप्पल के तले में चरस इस शातिर तरीके से फिट की गई थी देखने में कोई पता नहीं लगा सके। इसके अलावा बैग के नीचे एमडी के पैकेट भी टेप से इस तरह चिपका रखे थे कि जैसे वह बैग का हिस्सा हो।

जेल में योजनाबद्ध तरीके से मादक पदार्थ और मोबाइल पहुंचाने की तैयारी थी। चालानी गार्ड में शामिल पांच पुलिसकर्मी बंदी को सुबह चार बजे उसी समय लेकर पहुंचे जब जेल स्टॉफ की अंदर एंट्री होती है और बाहर गेट पर तलाशी के दौरान ज्यादा लोग इकट्ठा होते हैं।

बुधवार को भी ऐसी स्थिति बनी तो आरएसी के जवानों ने बंदी रिंकू को साइड में खड़ा कर दिया और पहले स्टॉफ के लोगों की तलाशी लेकर अंदर भेजा। उसके बाद बंदी की तलाशी ली तो उससे मादक पदार्थ और मोबाइल बरामद हुए।

सैंडिल में दो पाउच चरस और बैग के नीचे टेप से एमडी के तीन पैकेट चिपका रखे थे।

सैंडिल में दो पाउच चरस और बैग के नीचे टेप से एमडी के तीन पैकेट चिपका रखे थे।

चालानी गार्ड के पांच पुलिसकर्मियों की लापरवाही और मिली भगत

बंदी को तारीख पेशी पर ले जाने वाले पांच पुलिस कर्मियों की लापरवाही और मिली भगत मानी जा रही है। पांचों को निलंबित कर विभागीय जांच शुरू की गई है। चालानी गार्ड में शामिल हेड कांस्टेबल बन्नाराम, कांस्टेबल मुनेश कुमार, पवन कुमार, भवानी सिंह, दलीप सिंह बंदी रिंकू को तारीख पेशी पर हिसार ले गए थे। इस दौरान बंदी को मादक पदार्थ और मोबाइल थमा दिए गए। आशंका जताई जा रही है कि पुलिस कर्मियों की इसमें मिलीभगत रही। पांचों पुलिस कर्मियों को निलंबित कर विभागीय जांच शुरू की गई है।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

Topics

Translate:

Google News
Translate »
error: Content is protected !!