BUSINESS / SOCIAL WELFARE / PARLIAMENTARY / CONSTITUTIONAL / ADMINISTRATIVE / LEGISLATIVE / CIVIC / MINISTERIAL / POLICY-MAKING / PARTY POLITICAL

मोदी आखिरी फेज की वोटिंग से पहले कन्याकुमारी जाएंगे:विवेकानंद शिला पर 2 दिन ध्यान लगाएंगे, 2019 में केदारनाथ में 17 घंटे गुफा में रहे थे

TIN NETWORK
TIN NETWORK

मोदी आखिरी फेज की वोटिंग से पहले कन्याकुमारी जाएंगे:विवेकानंद शिला पर 2 दिन ध्यान लगाएंगे, 2019 में केदारनाथ में 17 घंटे गुफा में रहे थे

नई दिल्ली

PM नरेंद्र मोदी लोकसभा चुनाव के आखिरी फेज की वोटिंग से पहले कन्याकुमारी जाएंगे। वे यहां रॉक मेमोरियल के उसी शिला पर ध्यान लगाएंगे, जहां स्वामी विवेकानंद ने ध्यान लगाया था।

लोकसभा चुनाव के सातवें और अंतिम चरण में 57 लोकसभा सीटों के लिए 1 जून को मतदान होना है। इन सीटों के लिए चुनाव प्रचार 30 मई की शाम 5 बजे थम जाएगा।

मोदी 2019 में आखिरी फेज की वोटिंग से पहले केदारनाथ गए थे। वहां बनी रुद्र गुफा में 17 घंटे ध्यान लगाया था।

मोदी ने केदारनाथ की रुद्र गुफा में ध्यान लगाया था।

मोदी 30 मई की शाम को कन्याकुमारी पहुंचेंगे
मोदी का 30 मई की शाम तक तमिलनाडु के कन्याकुमारी पहुंचने का कार्यक्रम है। न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक, वे विवेकानंद रॉक मेमोरियल पर 30 मई की रात से 1 जून की शाम तक ध्यान लगाएंगे।

कन्याकुमारी स्थित विवेकानंद रॉक जहां मोदी ध्यान लगाने पहुंचेंगे।

विवेकानंद रॉक ​​​​​​के बारे में जानिए…

  • विवेकानंद रॉक तमिलनाडु के कन्याकुमारी में समुद्र में स्थित एक स्मारक है। यह एक फेमस टूरिस्ट स्पॉट है। यह जमीन तट से करीब 500 मीटर अंदर समुद्र में दो चट्टानों के ऊपर बना है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह रहे एकनाथ रानडे ने विवेकानंद शिला पर विवेकानंद स्मारक मंदिर बनाने में अहम भूमिका निभाई।
  • 2 सितंबर 1970 को भारत के तत्कालीन राष्ट्रपति डॉ. वीवी गिरि ने स्मारक का उद्घाटन किया। उद्घाटन समारोह 2 महीने तक चला। इसमें तत्कालीन PM इंदिरा गांधी भी शामिल हुई थीं।
  • अप्रैल में पड़ने वाली चैत्र पूर्णिमा पर यहां चन्द्रमा और सूर्य दोनों एक साथ एक ही क्षितिज पर आमने-सामने दिखाई देते हैं। इस स्मारक का प्रवेश द्वार अजंता और एलोरा गुफा मन्दिरों के समान है, जबकि इसका मण्डपम बेलूर (कर्नाटक) के श्री रामकृष्ण मन्दिर के समान है।

स्वामी विवेकानंद ने यहां ध्यान किया

कहा जाता है कि 1893 में विश्व धर्म सभा में शामिल होने से पहले विवेकानंद तमिलनाडु के कन्याकुमारी गए थे। यहां समुद्र में 500 मीटर दूर पानी के बीच में उन्हें एक विशाल शिला दिखी, जहां तक वो तैरकर पहुंचे और ध्यानमग्न हो गए।
फोटोज में मोदी की 2019 लोकसभा चुनाव के आखिरी फेज की वोटिंग के पहले की केदारनाथ यात्रा:

केदारनाथ की रुद्र गुफा में ध्यान लगाने जाते मोदी।

मोदी ने रुद्र गुफा में करीब 17 घंटे ध्यान लगाया।

ध्यान लगाने के बाद गुफा से बाहर निकलते मोदी।

ध्यान लगाने के बाद मोदी ने बद्रीनाथ जाकर मंदिर में दर्शन किए।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

error: Content is protected !!