National News

डाक विभाग के पार्सल से फेक करेंसी की सप्लाई:जाली नोटों के साथ पकड़े गए युवकों का चौंकाने वाला खुलासा, पूरे राजस्थान में बनाया नेटवर्क

TIN NETWORK
TIN NETWORK

​​​​​​​डाक विभाग के पार्सल से फेक करेंसी की सप्लाई:जाली नोटों के साथ पकड़े गए युवकों का चौंकाने वाला खुलासा, पूरे राजस्थान में बनाया नेटवर्क

बाड़मेर

राजस्थान में जाली नोट खपाने का नया तरीका अपनाया गया है। ऑनलाइन पेमेंट लेने के बाद माफिया भारत सरकार के डाक विभाग के माध्यम (स्पीड पोस्ट) से जाली (नकली) नोट सप्लाई कर रहे हैं। हाल ही में तीन युवकों को इस मामले में गिरफ्तार किया गया है। इनसे पूछताछ में चौंकाने वाली जानकारी सामने आई है। माफिया इन युवकों से ऑनलाइन पेमेंट लेते हैं। इसके बदले इनके पास 500-500 के नकली नोट भेजते हैं। इसके बाद इन युवकों का गैंग बाजार में इन नोटों को खपाता है। इस पूरे मामले का मुख्य आरोपी पुलिस की पकड़ से दूर है।

पहले देखें ये तीन चेहरे जो बड़े पैमाने पर नकली नोट मार्केट में खपा चुके हैं…

तीनों युवक सिणधरी (बालोतरा) के रहने वाले हैं। पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर लिया है।

तीनों युवक सिणधरी (बालोतरा) के रहने वाले हैं। पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर लिया है।

तारीख – 16 मार्च 2024, शनिवार
समय- शाम 5 बजे
स्थान- बाकड़ा गांव, जालोर

सिणधरी थानाधिकारी सुरेश सारण के मुताबिक- बाकड़ा गांव से भीनमाल जाने वाले रास्ते पर बाइक सवार दो युवकों को बागड़ा थाना पुलिस (जालोर) ने नाकाबंदी पर रोका। ये दोनों सरूपाराम जाट (22) और खेताराम जाट सिणधरी (बालोतरा) के रहने वाले थे। दोनों आपस में रिश्तेदार थे। तलाशी ली तो सरूपाराम के पास से 500-500 के 41 नोट मिले। जांच की तो ये नोट नकली पाए गए। दोनों को बागड़ा थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

थाने ले जाकर पूछताछ की तो सरूपाराम ने सच उगल दिया। उसने बताया कि नकली नोटों की यह खेप उसके चचेरे भाई राऊराम जाट (22) ने दी है। राऊराम सिणधरी (बालोतरा) का रहने वाला है। मामले की जांच भीनमाल थाना प्रभारी बाबूलाल को दी गई थी। उन्होंने राऊराम जाट को पकड़ने के लिए बालोतरा थाना पुलिस को सूचना दी।

पुलिस की गिरफ्त में आरोपी राऊराम। उसने 35 हजार के असली नोट देकर 1 लाख के नकली नोट लिए थे।

पुलिस की गिरफ्त में आरोपी राऊराम। उसने 35 हजार के असली नोट देकर 1 लाख के नकली नोट लिए थे।

तारीख- 17 मार्च 2024, रविवार
समय- सुबह 5 बजे
स्थान- एड ढाणी, सिणधरी (बालोतरा)

सिणधरी थाना इंचार्ज सुरेश सारण ने रविवार अलसुबह सिणधरी की एड ढाणी में दबिश दी और राऊराम जाट को हिरासत में ले लिया। तलाशी में राऊराम के पास से 104 नकली नोट मिले। कुल रकम 52 हजार थी। इनमें सीरियल नंबर 7BG234557 के 27 नोट, 7BG234559 के 25 नोट, 7BG234577 के 26 नोट और सीरियल 7BG234599 के 26 नोट मिले। राऊराम को टीम सिणधरी थाने लेकर पहुंची।

जालोर जिले के बागरा थाना इलाके से जाली नोट के साथ पकड़े गए खेताराम (जैकेट में) और सरूपाराम।

जालोर जिले के बागरा थाना इलाके से जाली नोट के साथ पकड़े गए खेताराम (जैकेट में) और सरूपाराम।

चौंकाने वाले खुलासे किए

22 साल का राऊराम जाट ग्रेजुएट है। कॉम्पिटिशन की तैयारी कर रहा है। पार्ट टाइम मजदूरी भी करता है। पुलिस पूछताछ में राऊराम ने कई अहम जानकारियां दीं।

उसने बताया- मेरी फेसबुक आईडी पर फेंक करेंसी के वीडियो आ रहे थे। एक वीडियो में मुझे मोबाइल नंबर मिला। वह नंबर 7982247299 राउडी बिजनेस (ROWDY BUSSINESS) के नाम से था। मैंने ये नंबर सेव कर लिया। इसके बाद किस्तों में पेमेंट कर फेक करेंसी डाक से हासिल करने लगा। मेरे मोबाइल में ऑनलाइन ट्रांजैक्शन मौजूद है। गैंग ने स्पीड पोस्ट के जरिए लिफाफे में बंद कर 1 लाख के नोट भेजे। कुछ नोट मैंने अपने भाई व रिश्तेदार सरूपाराम और खेताराम को दे दिए। वे दोनों सामान खरीदने जालोर जा रहे थे। इस दौरान पकड़े गए।

पुलिस को राऊराम से 52 हजार रुपए और सरूपाराम, खेताराम से 20 हजार 500 रुपए कुल 72 हजार 500 रुपए बरामद हो चुके हैं। इसके अलावा 27 हजार 500 रुपए ये आरोपी मार्केट में खपा चुके हैं। राऊराम ने 35 हजार रुपए के असली नोट देकर 1 लाख रुपए के नकली नोट खरीदे थे। इसे लेकर सिणधरी और जालोर के बागरा थाने में दो अलग-अलग मामले दर्ज किए हैं, जिनकी जांच जारी है।

फेसबुक से कॉन्टैक्ट, यूपीआई से पेमेंट, स्पीड पोस्ट से डिलीवरी

राऊराम ने बताया- फेसबुक से वह नकली नोट माफिया की गैंग के संपर्क में आ गया था। उसे लालच आ गया। उसने फेसबुक के जरिए गैंग के लोगों से संपर्क किया। उन्होंने यूपीआई से पेमेंट करने को कहा। यह भी बताया कि नोटों की डिलीवरी एड्रेस पर स्पीड पोस्ट के जरिए होगी। ऐसे में राऊराम ने किस्तों में यूपीआई, फोनपे के जरिए पेमेंट किए। किस्तों में ही नकली नोट उसके पास स्पीड पोस्ट से पहुंचे। एक लाख के नकली नोटों के लिए उसने 35 हजार रुपए खर्च कर दिए।

10 दिन के रिमांड पर आरोपी, सुरक्षा एजेंसियां करेंगी पूछताछ

सिणधरी थानाधिकारी सुरेश सारण ने बताया- सिणधरी पुलिस ने मंगलवार को राऊराम को कोर्ट में पेश किया। उसे 10 दिन के रिमांड पर लिया गया है। आरोपी से अलग-अलग सुरक्षा एजेंसियां पूछताछ करेंगी। फिलहाल इस मामले में बालोतरा या जालोर पुलिस ज्यादा कुछ नहीं बोल रही है। भीनमाल (जालोर) थाना प्रभारी बाबूलाल ने बताया कि नकली नोटों के मामले में अभी जांच चल रही है। मुख्य आरोपियों तक पहुंचने के प्रयास में पुलिस जुटी है। मामले की जांच सिवाना थाना इंचार्ज कर रहे हैं।

पार्सल में क्या है, यह जानकारी नहीं होती

बाड़मेर पोस्ट ऑफिस के सुपरिटेंडेंट अखाराम बोस से इस बारे में बात की गई। उन्होंने कहा- संदिग्ध लगने या मादक पदार्थ की बदबू आने पर हम पार्सल को होल्ड कर देते हैं। स्पीड पोस्ट जब कोई करने आता है तो उससे पूछा जाता है कि इसमें क्या है।

लालच में न आएं

सिणधरी पुलिस का कहना है कि फेसबुक जैसे सोशल मीडिया पर नकली नोटों का कारोबार चलाने वाले सरगना तक पहुंचने की कोशिश कर रहे हैं। साथ ही साइबर सेल का सहयोग लेकर पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं सोशल मीडिया पर ऐसे कितने अकाउंट हैं, जिनसे इस तरह का कारोबार किया जा रहा है। युवाओं से अपील है कि लालच में आकर इस तरह के अपराधियों के चंगुल में न फंसें।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

Topics

Translate:

Google News
Translate »
error: Content is protected !!