National News

तेजस के एडवांस वर्जन मार्क-1A विमान की पहली टेस्ट फ्लाइट:इसमें एडवांस्ड रडार और सेल्फ डिफेंस की क्षमता, वायुसेना ने 83 प्लेन का ऑर्डर दिया

TIN NETWORK
TIN NETWORK

तेजस के एडवांस वर्जन मार्क-1A विमान की पहली टेस्ट फ्लाइट:इसमें एडवांस्ड रडार और सेल्फ डिफेंस की क्षमता, वायुसेना ने 83 प्लेन का ऑर्डर दिया

बेंगलुरु

बेंगलुरु में HAL के फिक्स्ड विंग एयरक्राफ्ट के चीफ टेस्ट पायलट ग्रुप कैप्टन (रिटायर्ड) केके वेणुगोपाल ने नए वर्जन की टेस्ट फ्लाइट ली। - Dainik Bhaskar

बेंगलुरु में HAL के फिक्स्ड विंग एयरक्राफ्ट के चीफ टेस्ट पायलट ग्रुप कैप्टन (रिटायर्ड) केके वेणुगोपाल ने नए वर्जन की टेस्ट फ्लाइट ली।

देश में बने फाइटर जेट तेजस के एडवांस्ड वर्जन मार्क 1A के पहले एयरक्राफ्ट की टेस्ट फ्लाइट कामयाब रही है। इस सीरीज के पहले एयरक्राफ्ट LA5033 ने बेंगलुरु में हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) सेंटर में 15 मिनट की फ्लाइट ली।

तेजस का पिछला वर्जन मार्क 1A पहले ही वायुसेना में शामिल हो चुका है। नए वर्जन में AESA (एक्टिव इलेक्ट्रॉनिकली स्कैन्ड ऐरे) रडार, एडवांस्ड बियॉन्ड-विजुअल रेंज (BVR) मिसाइल और हमले से खुद को बचाने की क्षमता है।

तेजस मार्क-1ए की तस्वीरें…

तेजस मार्क-1ए एडवांस इलेक्ट्रॉनिक रडार, युद्ध और संचार सिस्टम से लैस है।

तेजस मार्क-1ए एडवांस इलेक्ट्रॉनिक रडार, युद्ध और संचार सिस्टम से लैस है।

HAL के पायलट ने तेजस के एडवांस्ड वर्जन को 15 मिनट उड़ाया
बेंगलुरु में HAL के फिक्स्ड विंग एयरक्राफ्ट के चीफ टेस्ट पायलट ग्रुप कैप्टन (रिटायर्ड) केके वेणुगोपाल ने नए वर्जन की टेस्ट फ्लाइट ली। एयरोनॉटिकल डेवलपमेंट एजेंसी (ADA) ने एडवांस्ड वर्जन को डेवलप किया है। HAL इसका निर्माण कर रहा है।

HAL को मार्च 2024-फरवरी 2028 तक 83 मार्क-1ए बनाने का कॉन्ट्रैक्ट मिला है।

HAL को मार्च 2024-फरवरी 2028 तक 83 मार्क-1ए बनाने का कॉन्ट्रैक्ट मिला है।

HAL 2024-2028 तक 83 एयरक्राफ्ट की डिलीवरी करेगा
HAL को 2021 में भारतीय वायुसेना के लिए 83 तेजस मार्क-1ए बनाने के लिए 46,898 करोड़ रुपए का कॉन्ट्रैक्ट मिला था। कंपनी के पास मार्च 2024-फरवरी 2028 तक 83 एयरक्राफ्ट की डिलीवरी करने का समय है।

2025 तक हर साल 24 फाइटर एयरक्राफ्ट बनाने का लक्ष्य
इससे पहले HAL को 8,802 करोड़ रुपए के कॉन्ट्रैक्ट के तहत 40 तेजस एमके-1 का ऑर्डर मिला था। इसमें से 32 सिंगल-सीट LCA फाइटर्स और दो डबल सीट ट्रेनर की डिलीवरी हो गई है। 6 डबल सीट ट्रेनर की डिलीवरी बाकी है।

नवंबर, 2023 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तेजस फाइटर प्लेन में उड़ान भरी थी, जिसके बाद फाइटर एयरक्राफ्ट प्रोजेक्ट को बढ़ावा मिला। HAL ने भी इसके निर्माण में तेजी कर दी है। कंपनी 2025 तक हर साल 24 विमान तैयार करने के लक्ष्य तक पहुंच सकती है।

MiG सीरीज के विमानों को रिप्लेस करेगा LCA मार्क-1ए एयरक्राफ्ट
भारतीय वायुसेना तेजस के LCA वैरिएंट से अपनी मौजूदा MiG सीरीज के विमानों को बदलने की तैयारी में है। LCA मार्क-1ए विमान MiG-21, MiG-23 और MiG-27 को रिप्लेस करेगा। LCA मार्क-1ए के 65% से ज्यादा उपकरण भारत में बने हैं।

LCA मार्क-1ए को एयरोस्पेस में भारत की आत्मनिर्भरता और मेक-इन-इंडिया की तरफ बड़ा कदम माना जा रहा है। स्वदेशी तेजस मार्क-1ए को पाकिस्तान बॉर्डर के पास राजस्थान के बीकानेर स्थित नाल एयरबेस पर तैनात करने की योजना है।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

Topics

Translate:

Google News
Translate »
error: Content is protected !!