Bikaner update

श्री शास्त्रीय संगीत कला मंदिर का शुभारंभ: संगीत आत्मा की भाषा है – डॉ. अर्पिता गुप्ता

बीकानेर | सोमवार को जय नारायण व्यास कॉलोनी मे श्री शास्त्रीय संगीत कला मंदिर संस्थान का शुभारंभ किया गया|
कार्यक्रम का आरंभ अतिथि समाजसेवी डॉ.अर्पिता गुप्ता द्वारा सरस्वती पूजन के साथ किया गया| संस्थान सचिव पंडित नारायण रंगा (शास्त्रीय व हवेली संगीतज्ञ)ने कहा आज के आधुनिक समय में नई पीढ़ी को शास्त्रीय संगीत से जोड़कर अपनी संस्कृति को बनाए रखना हमारा मूल उद्देश्य है| यह हमारे संस्थान की दूसरी शाखा है |
डॉ.अर्पिता गुप्ता ने कहा संगीत आत्मा की भाषा है |भारतीय शास्त्रीय संगीत व्यक्ति को एक व्यापक इकाई के रूप में विकसित करता है| इस अवसर पर डॉ.अमित पुरोहित ने कहा जहां शब्द खत्म होते वहां संगीत शुरू होता है| जैजैवंती आचार्य ने बताया संस्थान में तबला ,नाल,कांगो,गिटार,हारमोनियम वाद्य यंत्र सीखने के साथ शास्त्रीय खयाल ध्रुपद धमार व सुगम संगीत पर गायन सिखाया जाएगा| कार्यक्रम को सफल बनाने में मीनाक्षी सिंह चौहान की महत्वपूर्ण भूमिका रही|
कार्यक्रम में गिटार वादक-पर्यंक सनवाल,पण्डित भँवर लाल रंगा -(ज्योतिषाचार्य) शहरी “शिरीन क्लासेज निदेशक” हेमन्त रंगा (हेमन्त सर) जय कमल रिकॉर्डिंग स्टूडियो के तुषार व्यास, धीरज पुरोहित,राघव स्वामी,अक्षरा पुरोहित,यश पुरोहित,मधुसूदन आचार्य,हरि ओझा आदि उपस्थित रहे|
कार्यक्रम में बिट्ठलपारीक, केनिशा,जहान्वी,वासुदेव,
एकता आचार्य बच्चों ने गायन की मनमोहक प्रस्तुतियां दी|

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

Topics

Translate:

Google News
Translate »
error: Content is protected !!