DEFENCE / PARAMILITARY / NATIONAL & INTERNATIONAL SECURITY AGENCY / FOREIGN AFFAIRS / MILITARY AFFAIRS

कश्मीर के पुलवामा में 2 आतंकियों का एनकाउंटर:इसमें टॉप कमांडर रियाज अहमद डार शामिल; कई आतंकी हमलों में शामिल रहा था

कश्मीर के पुलवामा में 2 आतंकियों का एनकाउंटर:इसमें टॉप कमांडर रियाज अहमद डार शामिल; कई आतंकी हमलों में शामिल रहा था

श्रीनगर

रियाज अहमद डार साल 2015 से घाटी में एक्टिव था।

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में सोमवार (3 जून) को सुरक्षाबलों ने 2 आतंकियों का एनकाउंटर किया। ये मुठभेड़ पुलवामा जिले के निहामा एरिया में चल रही थी। आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर पहले फायरिंग की थी।

इस एनकाउंटर में साल 2015 से घाटी में एक्टिव टॉप कमांडर रियाज अहमद डार मारा गया है। वो घाटी में हुए कई आतंकी हमलों में शामिल था। सुरक्षाबलों ने दोनों आतंकियों के शव बरामद कर लिए हैं। कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक वी के बिरधी ने बताया कि एक और आतंकी की पहचान की जा रही है।

एक सीनियर पुलिस अधिकारी ने बताया कि पुलिस और सेना की एक जॉइंट टीम ने निहामा में घेराबंदी और सर्च ऑपरेशन शुरू किया था। इसी दौरान छिपे हुए आतंकियों ने उन पर हमला कर दिया था। इसके बाद दोनों तरफ से फायरिंग शुरू हो गई थी।

मुठभेड़ में मारे गए टॉप कमांडर रियाज डार के परिवार को मुठभेड़ स्थल पर लाया गया था है, ताकि उनके कहने पर वह सरेंडर कर दे।

निहामा इलाके के जिस घर में आतंकी फंसे हैं, उसमें आग लग गई थी।

इस तस्वीर में फायरिंग से उठ रहा धुआं।

मौके पर पुलिस और सेना की टीम मौजूद रही थी।

DGP बोले- घुसपैठ की फिराक में करीब 70 आतंकी
जम्मू-कश्मीर के DGP रश्मी रंजन स्वैन ने रविवार (2 जून) को बताया था कि लाइन ऑफ कंट्रोल (LoC) के पार लॉन्च पैड पर लगभग 60 से 70 आतंकी सक्रिय हैं, जो घुसपैठ की तैयारी कर रहे हैं।

न्यूज एजेंसी PTI को दिए इंटरव्यू में DGP स्वैन ने बताया कि पांच या छह के ग्रुप में आतंकी किसी भी समय घुसपैठ कर सकते हैं। हालांकि, हमारे सुरक्षाकर्मी दुश्मन की साजिश को सफल होने नहीं देंगे।

7 मई को लश्कर कमांडर बासित डार सहित 2 आतंकी मारे गए थे

लश्कर मांडर बासित डार पर 10 लाख रुपए का इनाम घोषित था।

कश्मीर में एक महीने के भीतर आतंकियों के साथ मुठभेड़ की यह दूसरी घटना है। इससे पहले 7 मई को कुलगाम में मुठभेड़ के दौरान सुरक्षाबलों ने 2 आतंकियों को मार गिराया था।

इनमें एक आतंकी लश्कर का टॉप कमांडर बासित डार था। बासित पर 10 लाख रुपए का इनाम था। वह कश्मीर में कई लोगों की हत्या में शामिल था। मारे गए दूसरे आतंकी का नाम फहीम अहमद था। वह ओवर ग्राउंड वर्कर था, जो आतंकियों की मदद करता था।

एनकाउंटर के दौरान सुरक्षाबलों ने उस घर में ब्लास्ट किया, जहां आतंकी छिपे थे। इससे घर में आग लग गई। मारे गए दोनों आतंकियों के शव बरामद कर लिए गए थे।

अधिकारियों ने बताया कि उन्हें रेडवानी पाईन इलाके में आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली थी। इसके बाद तलाशी अभियान शुरू किया गया, जो मुठभेड़ में बदल गया।

इस साल जम्मू-कश्मीर में आतंकी हमले की 3 बड़ी घटनाएं…

18 मई: शोपियां में भाजपा नेता की हत्या, अनंतनाग में राजस्थान के कपल पर फायरिंग

पहली तस्वीर भाजपा नेता ऐजाज अहमद की है, जिनकी मौत हुई थी। दूसरी तस्वीर जयपुर की फराह की है, जो अपने पति के साथ घूमने आई थी।

जम्मू-कश्मीर में शनिवार (18 मई) की रात एक घंटे के भीतर दो जगह आतंकी हमले हुए। पहली घटना अनंतनाग के पहलगाम के पास एक ओपन टूरिस्ट कैंप में हुई। यहां आतंकियों ने एक टूरिस्ट कपल को गोली मार दी। कपल राजस्थान के जयपुर के रहने वाले थे। दोनों रिसॉर्ट में रुके हुए थे। हमले में पति के सिर में गोली लगी थी। पत्नी सीने और कंधे पर चोट आई थी।

इस घटना के कुछ देर बाद शोपियां के हीरपोरा में रात करीब 10.30 बजे आतंकियों ने लोकल भाजपा नेता ऐजाज अहमद शेख को गोली मार दी। ऐजाज अहमद को अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्होंने दम तोड़ दिया। ऐजाज अहमद पूर्व सरपंच थे।

4 मई: एयरफोर्स जवानों पर आतंकी हमला हुआ
जम्मू-कश्मीर के पुंछ में 4 मई को एयरफोर्स जवानों के वाहन पर आतंकी हमला हुआ था। इसमें पांच जवान घायल हुए थे। इलाज के दौरान एक जवान की मौत हो गई। यह हमला पुंछ के शाहसितार इलाके में हुआ।

आतंकियों ने सुरक्षाबलों के दो वाहनों पर भारी फायरिंग की। इसमें से एक वाहन एयरफोर्स का था। दोनों गाड़ियां सनाई टॉप जा रही थीं। आतंकियों की गोलियां वाहन के सामने और साइड वाले शीशे को पार कर गईं।

आतंकियों ने जो गोलियां चलाईं, उनके निशान ट्रक के सामने लगे ग्लास पर देखे जा सकते हैं।

12 जनवरी: पुंछ में सेना के वाहन पर हमला हुआ था
जम्मू-कश्मीर के पुंछ में इसी साल 12 जनवरी को आतंकियों ने सेना के वाहन पर हमला किया था। इसके बाद जवानों को जवाबी फायरिंग करनी पड़ी। इसमें किसी के भी घायल या मौत की खबर नहीं आई थी।

error: Content is protected !!