DEFENCE / PARAMILITARY / NATIONAL & INTERNATIONAL SECURITY AGENCY / FOREIGN AFFAIRS / MILITARY AFFAIRS ASIAN COUNTRIES WEAPON-O-PEDIA

भारत का S-400 हवाई कवच भेदने के लिए PAK ने शामिल किया Fatah-II रॉकेट, अमेरिकी थिंक टैंक की आई ये चेतावनी

TIN NETWORK
TIN NETWORK

भारत का S-400 हवाई कवच भेदने के लिए PAK ने शामिल किया Fatah-II रॉकेट, अमेरिकी थिंक टैंक की आई ये चेतावनी

PAK का ये हथियार भेद देगा भारत का अभेद्य हवाई कवच. इसका नाम है Fatah-2 GMLRS. अमेरिकी थिंक टैंक की चेतावनी है कि यह भारत के एयर डिफेंस सिस्टम को तोड़ सकता है. यहां तक की रूस से मिले S-400 एयर डिफेंस सिस्टम को भी बर्बाद कर सकता है.

ये है पाकिस्तान का फतह-2 एडवांस्ड गाइडेड रॉकेट सिस्टम, जिसे लेकर अमेरिकी थिंक टैंक ने चेतावनी जारी की है.

अमेरिकी थिंक टैंक ने चेतावनी दी है कि पाकिस्तान का फतह-2 जीएमएलआरएस (Fatah-II GMLRS) भारत के लिए खतरनाक साबित हो सकता है. यह भारत के हवाई सुरक्षा कवच यानी एयर डिफेंस सिस्टम को तोड़ने में सक्षम है. अगर भारत-पाकिस्तान में संघर्ष होता है तो फतह-2 रॉकेट्स भारत के एयर डिफेंस सिस्टम को 95% बर्बाद करने में सक्षम हैं.  

दावा यहां तक किया गया है कि यह रॉकेट रूस से भारत को मिले S-400 एयर डिफेंस सिस्टम को भी बर्बाद कर सकता है. पाकिस्तान ने पिछले महीने ही इस ताकतवर रॉकेट का सफल परीक्षण किया था. यह 400 km तक मार करने वाला रॉकेट आर्टिलरी है. दावा किया जा रहा है कि इसका नेविगेशन सिस्टम, ट्रैजेक्टरी और दिशा-गति में बदलाव की क्षमता इसे बेहद खास और खतरनाक बनाती है. 

फतह-2 गाइडेड रॉकेट सिस्टम है. यह पाकिस्तान का मल्टी-लॉन्च रॉकेट सिस्टम हैं. PAK सेना का दावा है कि इसकी सटीकता का कोई सानी नहीं है. इसमें स्टेट-ऑफ-द-आर्ट नेविगेशन सिस्टम, खास ट्रैजेक्टरी और मैन्यूवरेबल फीचर्स हैं. यानी यह अपनी दिशा भी बदल सकती है. 

अपने टारगेट को सटीकता से खत्म करने की काबिलियत

फतह-2 रॉकेट अपने टारगेट्स को बेहद सटीकता से खत्म करने की ताकत रखती है. दावा यह भी किया गया था कि यह दुनिया के किसी भी मिसाइल डिफेंस सिस्टम को बर्बाद कर सकती है. या धोखा दे सकती है. पाकिस्तान ने तब यह भी घोषणा की है कि यह रॉकेट सिस्टम पाकिस्तान के आर्टिलरी डिविजन में शामिल किया जा रहा है. 

भारत को डराने की बेकार कोशिश है इस हथियार का बखान

फतह-2 रॉकेट सिस्टम को सीमा से दूर मौजूद टारगेट्स पर निशाना बनाने के लिए स्टैंडऑफ-प्रेसिशन इंगेजमेंट के लिए पाकिस्तान ने सेना में शामिल किया है. अभी इसे और अपग्रेड किया जाना है लेकिन यह पारंपरिक हथियार के साथ टारगेट पर तबाही मचा सकता है. पड़ोसी मुल्क चाहता है कि भारत उसके इस हथियार से डर जाएगा. लेकिन ऐसा होगा नहीं.

1947 से पाकिस्तान कई बार भारत पर हमला और युद्ध कर चुका है. लेकिन हर बार मुंह की खाई है. अगर फतह-2 की तुलना भारत के किसी भी रॉकेट आर्टिलरी से करेंगे तो यह कहीं भी टिकेगा नहीं. पाकिस्तान ने साल 2022 में इसे सेना में शामिल किया है. 

error: Content is protected !!