Bikaner update

राजस्थानी – हिंदी के प्रसिद्ध लेखक राजेन्द्र जोशी का कोलकाता में सम्मान



कोलकाता / बीकानेर/ अखिल भारतीय मारवाड़ी सम्मेलन कोलकाता के तत्वावधान में हिन्दी एवं राजस्थानी के प्रख्यात लेखक राजेन्द्र जोशी का बुधवार को केंद्रीय कार्यालय,कोलकाता में अभिनंदन सम्मान किया गया। अभिनंदन समारोह के मुख्य अतिथि राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवकुमार लोहिया थे तथा कार्यक्रम की अध्यक्षता राष्ट्रीय महामंत्री कैलाशपति तोदी ने की, समारोह के विशिष्ट अतिथि उप समिति के अध्यक्ष नरेंद्र तुलस्यान रहे।
इस अवसर पर लोहिया ने कहा कि राजेन्द्र जोशी का भाषा के प्रति निष्ठा एवं लगन के कारण ही राजस्थानी मान्यता भाषा आंदोलन को बल मिला है, लोहिया ने कहा की राजेन्द्र जोशी की कविताओं और कहानियों में आम आदमी के संघर्ष की वेदना को रेखांकित गया है, उन्होंने जोशी का अभिनंदन करते हुए कहा कि जोशी का अभिनंदन राजस्थानी साहित्य एवं संस्कृति का अभिनंदन है।
इस अवसर पर कैलाशपति तोदी ने कहा की राजेन्द्र जोशी का राजस्थानी भाषा, साहित्य एवं संस्कृति से गहरा जुड़ाव है, उन्होंने कहा कि वह लेखक होने के साथ ही सोशल एक्टिविस्ट के रूप में समाज को महत्वपूर्ण योगदान कर रहे है।
इस अवसर पर नरेंद्र तुलस्यान ने कवि -कथाकार राजेन्द्र जोशी के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए उनकी सामाजिक सेवाओं एवं साहित्य सेवाओं पर चर्चा की। जोशी के साथ ही समाजशास्त्री आशा जोशी का भी शाल ओढ़ाकर सम्मान किया गया।
उल्लेखनीय है कि जोशी के अब तक छह कविता संग्रह सब के साथ मिल जायेगा, मौन से बतकही,
एक रात धूप में, सूरज में तारो की तलाश, कद आवैला खरूंट , हेली रा हेला तथा सात कहानी संग्रह अगाड़ी, जुम्मै री नमाज, ओट , कदंब रो दरखत, प्लाॅट नबंर-203 , मजदूरी की पोटली, दादी का दुलारा सहित अन्य विधाओ में दो दर्जन से अधिक पुस्तके प्रकाशित हो चुकी है।
जोशी ने सम्मेलन पदाधिकारियों से साहित्यिक एवं सामाजिक मुद्दों के साथ राजस्थानी भाषा मान्यता आंदोलन पर समर्थन की मांग करते हुए चर्चा की ।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

Topics

Google News
error: Content is protected !!