National News

Bank balance increased 33 times in 17 years: Narendra Modi earned Rs 84 lakh in 5 years; donated the only plot

TIN NETWORK
TIN NETWORK

17 साल में 33 गुना बढ़ा बैंक बैलेंस:नरेंद्र मोदी ने 5 साल में 84 लाख कमाए; इकलौता प्लॉट दान कर दिया

13 साल गुजरात के मुख्यमंत्री, 10 साल से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास न खुद का घर है और न अपनी कोई कार। हालांकि पिछले 17 साल में मोदी की चल संपत्ति में 25 गुना की बढ़ोतरी हुई है (बैंक बैलेंस में 33 गुना की बढ़ोतरी)। नरेंद्र मोदी ने 14 मई 2024 को वाराणसी लोकसभा क्षेत्र से तीसरी बार नामांकन के दौरान पेश हलफनामे में इसका खुलासा किया।

गुजरात के मुख्यमंत्री बनने के बाद नरेंद्र मोदी ने 2002 में पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ा था। इसके बाद 2007 और 2012 में मणिनगर से विधानसभा चुनाव जीता। फिर 2014 और 2019 में वाराणसी से लोकसभा चुनाव में जीत हासिल की। हमने 2007 से नरेंद्र मोदी के सभी चुनावी हलफनामों की स्टडी की तो कई रोचक बातें सामने आईं (2002 का हलफनामा ऑनलाइन उपलब्ध नहीं है)।

एक्सप्लेनर में जानेंगे- पिछले 17 सालों में पीएम मोदी की कमाई, बैंक बैलेंस, चल -अचल संपत्ति में आए बदलाव की कहानी…

2024 के हलफनामे के अनुसार…

  • फाइनेंशियल ईयर 2018-19 के मुकाबले 2022-23 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कमाई दोगुनी बढ़ गई है। 2018-19 में पीएम मोदी ने अपनी इनकम 11.14 लाख रुपए रुपए घोषित की थी, जबकि बीते फाइनेंशियल ईयर में उनकी इनकम 23.57 लाख रुपए रही।
  • 2019-20 में उनकी इनकम 17.21 लाख रुपए, 2020-21 में 17.08 लाख रुपए और 2021-22 में 15.42 लाख रुपए थी। नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री के तौर पर मिलने वाली सैलरी और बैंक इंट्रेस्ट को अपनी कमाई का जरिया बताया है।
  • पीएम मोदी ने फाइनेंशियल ईयर 2023-24 में 3 लाख 33 हजार 179 रुपए का इनकम टैक्स भरा है।
  • नरेंद्र मोदी के पास किसी भी तरह के हथियार नहीं हैं। वहीं उनके ऊपर किसी भी तरह का क्रिमिनल केस भी दर्ज नहीं है। पीएम ने 15 साल से कोई ज्वेलरी भी नहीं खरीदी। मोदी के पास 4 अंगूठी हैं।

प्रधानमंत्री मोदी की चल संपत्ति कुल 3 करोड़ 2 लाख 6 हजार 889 रुपए है। बीते 5 सालों में उनकी चल संपत्ति करीब दोगुनी हो गई है। 2019 में पीएम मोदी की चल संपत्ति 1.41 करोड़ रुपए थी। वहीं, 2007 गुजरात चुनाव से देखें तो पीएम मोदी की चल संपत्ति 25 गुना बढ़ गई है।

2024 के अपने हलफनामे में पीएम मोदी ने गुजरात के गांधीनगर की जमीन का जिक्र नहीं किया है। जबकि 2019 में आवासीय जमीन को दिखाया था। दरअसल, मोदी ने यह जमीन मानमंदिर फाउंडेशन को दान कर दी है, जिस पर नाद ब्रह्म कला केंद्र बनाया जाएगा। 31 मार्च 2022 को नरेंद्र मोदी के इनकम टैक्स रिटर्न में इसकी जानकारी नहीं थी। बाद में एक इंटरव्यू के दौरान मोदी ने यह जमीन दान करने का जिक्र किया था।

बता दें कि 2002 में जब मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री बने थे, उसके बाद उन्होंने करीब 1.31 लाख रुपए में यह आवासीय जमीन खरीदी थी। वे जमीन के एक चौथाई हिस्से के मालिक थे। इस जमीन पर निर्माण आदि के लिए 2.47 लाख रुपए का निवेश भी किया गया था। 2019 में इसकी मार्केट वैल्यू यानी कीमत 1.10 करोड़ रुपए थी। इसके अलावा प्रधानमंत्री मोदी के नाम किसी भी तरह की कृषि या गैर कृषि भूमि और कॉमर्शियल बिल्डिंग नहीं है।

इस तरह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कुल चल और अचल संपत्ति 3.02 करोड़ रुपए हो गई है। प्रधानमंत्री बनने के बाद से मोदी की संपत्ति में पांच गुना बढ़ोतरी हुई है।

आइए अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चुनावी हलफनामे में घोषित चल संपत्तियों के बारे में विस्तार में जानते हैं…

प्रधानमंत्री मोदी के पास 2019 में 38 हजार 750 रुपए कैश था, जबकि अब उनके पास 52 हजार 920 रुपए कैश है।

पीएम मोदी के स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की गांधीनगर शाखा के बैंक अकाउंट में 73 हजार 304 रुपए कैश जमा हैं। वहीं वाराणसी के स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में 7 हजार रुपए जमा हैं। साथ ही उसी बैंक में 2 करोड़ 85 लाख 60 हजार 338 रुपए का फिक्स डिपॉजिट भी है। 2019 में नरेंद्र मोदी के पास करीब 1.27 करोड़ रुपए का फिक्स डिपॉजिट था।

पीएम मोदी ने कुछ पैसा सेविंग, इंश्योरेंस और इनवेस्टमेंट स्कीम में भी लगा रखा है। हलफनामे के मुताबिक, पीएम मोदी ने नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (NSC) में 9 लाख 12 हजार 398 रुपए जमा किए हैं। पहले उनके नाम करीब 2 लाख रुपए वैल्यू की एलआईसी पॉलिसी भी थी। इसके अलावा 2012 से 20 हजार रुपए का एल एंड टी इन्फ्रास्ट्रक्चर बॉन्ड (टैक्स सेविंग) था, जो अब नहीं है।

पीएम मोदी के पास सोने की चार अंगूठियां

पीएम के पास सोने की चार अंगूठियां हैं जिनका वजन करीब 45 ग्राम है। मोदी के हलफनामे में इनकी कीमत 2 लाख 67 हजार 750 रुपए घोषित की गई है। साथ ही घोषणा की गई है कि उनके पास कोई दोपहिया या चौपहिया वाहन नहीं है। उनके खिलाफ न ही कोई आपराधिक मामला दर्ज है और न ही किसी प्रकार की देनदारी है।

पीएम मोदी ने हलफनामे में अपनी शैक्षणिक योग्यता के बारे में भी जानकारी दी है। इसके मुताबिक, पीएम मोदी ने 1967 में एसएससी बोर्ड, गुजरात से एसएससी की परीक्षा पास की थी। उन्होंने 1978 में दिल्ली यूनिवर्सिटी से आर्ट्स में बैचलर और 1983 में गुजरात यूनिवर्सिटी, अहमदाबाद से मास्टर ऑफ आर्ट्स की डिग्री हासिल की है।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

Topics

Google News
error: Content is protected !!