DEFENCE / PARAMILITARY / NATIONAL & INTERNATIONAL SECURITY AGENCY / FOREIGN AFFAIRS / MILITARY AFFAIRS

आतंकी संगठन आईएसआईएस की धमकी के मद्देनजर पाकिस्तान क्रिकेट टीम और सहयोगी स्टाफ पर सख्त नजर रखी जाए ! पढ़े खबर

आतंकी संगठन आईएसआईएस की धमकी के मद्देनजर पाकिस्तान क्रिकेट टीम और सहयोगी स्टाफ पर सख्त नजर रखी जाए।

पाकिस्तान की टीम अमेरिका के लिए चुनौती। भारत के साथ 9 जून को होगा मैच।

इस बार आईसीसी का टी-20 विश्व कप अमेरिका में हो रहा है। 2 जून से शुरू होने वाले विश्वकप की सुरक्षा की व्यापक तैयारियां अमेरिका ने की है, लेकिन विश्व कप के मैच शुरू होने से पहले ही आतंकी संगठन आईएसआईएस ने हमलों की धमकी दी है। यानी क्रिकेट के स्टेडियम से लेकर विभिन्न देशों की टीमों के खिलाडिय़ों के बीच बम धमाके किए जा सकते हैं। सब जानते हैं कि आईएसआईएस आत्मघाती बम धमाके करवाता है। यानी मौके पर इंसान के रूप में बम को भेजा जाता है। हालांकि अमेरिका ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं, लेकिन आईएसआईएस की हिंसक प्रवृत्ति को भी पूरी दुनिया जानती है। अमेरिका में जो आतंकी हमला हुआ उसमें भी आईएसआईएस की भूमिका बताई गई। इस हमले के कई वर्षों बाद आतंकी ओसामा बिन लादेन को अमेरिका ने पाकिस्तान में घुसकर मारा था। अमेरिका के लिए यह चिंता की बात है कि पाकिस्तान की टीम भी विश्व कप में भाग लेने के लिए पहुंच रही है। अमेरिका की सुरक्षा एजेंसियों को पाकिस्तान की क्रिकेट टीम और सहयोगी स्टाफ पर सख्त नजर रखने की जरूरत है। अमेरिका को यह नहीं भूलना चाहिए कि पाकिस्तान के कट्टरपंथियों और सरकार के संरक्षण के कारण ही लादेन जैसा आतंकी पाकिस्तान में छिपा रहा। आज पाकिस्तान को दुनिया में आतंकवाद का केंद्र माना जाता है। यह सही है कि पाकिस्तान के खिलाड़ी खेल भावना से खेलते हैं, लेकिन आईएसआईएस की धमकी को किसी भी स्थिति में नजर अंदाजा नहीं किया जा सकता। जिहाद की शिक्षा देकर आईएसआईएस किसी को भी मानव बम बना सकता है। अमेरिका के साथ साथ भारत के लिए भी यह चिंता का विषय है कि भारतीय टीम को 9 जून को पाकिस्तान के साथ क्रिकेट मैच खेलना है। यह मैच न्यूयॉर्क के नासाउ क्रिकेट स्टेडियम में खेला जाएगा। स्वाभाविक है कि दोनों देशों की टीम न्यूयॉर्क की होटलों में ही रहेगी। अमेरिका की सुरक्षा एजेंसियों को आतंकी संगठनों के साथ साथ पाकिस्तान की क्रिकेट टीम और सहयोगी स्टाफ को भी जांच के दायरे में रखना होगा। यदि जरा सी भी लापरवाही बरती गई तो टी-20 के विश्वकप में बड़ा हादसा हो सकता है। पाकिस्तान के हालातों को देखते हुए भारत की क्रिकेट टीम मैच खेलने के लिए पाकिस्तान नहीं जाती है। भारत सरकार ने भी क्रिकेट टीम को पाकिस्तान जाने की अनुमति नहीं दी है इसलिए भारत और पाकिस्तान के मैच विदेशी धरती पर ही होते हैं। अमेरिका के साथ साथ भारत की सुरक्षा एजेंसियों को भी अमेरिका में होने वाले क्रिकेट मैचों पर नजर रखनी चाहिए।

error: Content is protected !!