INTERNATIONAL NEWS

PAK बोला- चुनाव में हमारा इस्तेमाल न करें भारतीय नेता:कहा- राजनीति के लिए हमें मुद्दा बना रहे; कश्मीर पर भारत के दावे भी खारिज किए

TIN NETWORK
TIN NETWORK

PAK बोला- चुनाव में हमारा इस्तेमाल न करें भारतीय नेता:कहा- राजनीति के लिए हमें मुद्दा बना रहे; कश्मीर पर भारत के दावे भी खारिज किए

पाकिस्तान की विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता जहरा बलोच ने कहा है कि भारतीय नेताओं के बयानों से क्षेत्र की शांति खतरे में पड़ सकती हैं। - Dainik Bhaskar

पाकिस्तान की विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता जहरा बलोच ने कहा है कि भारतीय नेताओं के बयानों से क्षेत्र की शांति खतरे में पड़ सकती हैं।

पाकिस्तान ने भारतीय नेताओं से चुनावों में राजनीतिक लाभ लेने के लिए पाकिस्तान का नाम नहीं घसीटने की मांग की है। 26 अप्रैल को प्रेस ब्रीफिंग के दौरान पाकिस्तान की विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता मुमताज जहरा बलोच ने कहा कि भारतीय नेता वोट के लिए अपने भाषणों और बयानों में पाकिस्तान को मुद्दा बनाना बंद करें।

पाकिस्तानी प्रवक्ता ने जम्मू-कश्मीर पर भारत के नेताओं की ओर से किए जा रहे सभी दावों को भी खारिज किया है। उन्होंने कहा है कि भारतीय नेता जम्मू- कश्मीर पर अपने गलत दावे करना बंद कर दें। पाकिस्तान का बयान ऐसे समय पर आया है, जब कुछ दिन पहले ही पाकिस्तानी व्यापारियों ने भारत से व्यापार शुरू करने के लिए दोनों देशों के बीच रिश्ते सुधारने की मांग की थी।

पाकिस्तान के व्यापारी कुछ दिन पहले पीएम शहबाज शरीफ के सामने भारत से रिश्ते सुधारने की मांग कर चुके हैं।

पाकिस्तान के व्यापारी कुछ दिन पहले पीएम शहबाज शरीफ के सामने भारत से रिश्ते सुधारने की मांग कर चुके हैं।

पाकिस्तान विरोधी बयानों में बढ़ोतरी हुई
विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता जहरा बलोच ने कहा, ” हम पिछले कुछ समय से भारतीय नेताओं की ओर से जम्मू कश्मीर पर दिए जा रहे भड़काऊ भाषणों में बढ़ोतरी देख रहे हैं। ये बेहद चिंताजनक है।

जहरा बलोच ने आगे कहा कि भारतीय नेताओं के यह बयान राष्ट्रवाद से प्रेरित है, जिनके कारण क्षेत्र की शांति खतरे में पड़ सकती है। भारतीय दावे ऐतिहासिक और कानूनी तथ्यों के विपरीत हैं। ऐतिहासिक और कानूनी तथ्यों के अलावा जमीनी हकीकत भी जम्मू-कश्मीर पर भारत के दावों को खारिज करती है।

वहीं, पाकिस्तान की तरह भारत भी कश्मीर मुद्दों पर पाकिस्तान के बयानों को खारिज करते आया है। भारत का विदेश मंत्रालय कई बार कहता आया है कि केंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर और लद्दाख भारत के अभिन्न अंग है और हमेशा रहेंगे। किसी दूसरे देश को इस पर टिप्पणी करने का अधिकार नहीं है।

भारत का विदेश मंत्रालय भी कश्मीर पर पाकिस्तान के दावों को खारिज करते आया है।

भारत का विदेश मंत्रालय भी कश्मीर पर पाकिस्तान के दावों को खारिज करते आया है।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने रैली के दौरान किया था जिक्र

भारत के नेता कई मौके पर अपने चुनावी भाषणों में पाकिस्तान का जिक्र कर चुके हैं। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने 11 अप्रैल को मध्य प्रदेश के सतना जिले में एक रैली के दौरान पाकिस्तान का जिक्र किया था। उन्होंने कहा था कि जिस तरह जम्मू- कश्मीर का विकास हो रहा है, मुझे लगता है कि POK के लोग सोचते हैं कि उनका विकास केवल पीएम मोदी के हाथों ही हो पाएगा। POK हमारा (भारत) हिस्सा था, है और हमेशा रहेगा।

रक्षामंत्री के अलावा भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर भी एक प्रेस कान्फ्रेंस के दौरान पाकिस्तान का जिक्र कर चुके हैं। विदेश मंत्री ने कहा था, “POK के मुद्दे पर पूरे भारत का एक स्टैंड है। हम यह कभी स्वीकार नहीं करेंगे कि POK भारत का हिस्सा नहीं है। भारत के सभी दलों का एक ही रूख है कि POK भारत का हिस्सा है।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

Topics

Google News
error: Content is protected !!