National News

आग से अमरूदों के 5 बगीचे जले:दमकल बीच रास्ते हुई खराब, किसानों को 21 लाख रुपए से अधिक का हुआ नुकसान

TIN NETWORK
TIN NETWORK

आग से अमरूदों के 5 बगीचे जले:दमकल बीच रास्ते हुई खराब, किसानों को 21 लाख रुपए से अधिक का हुआ नुकसान

सवाई माधोपुर

ग्रामीणों की सूचना पर दमकल गंभीरा गांव में आग बुझाने पहुंची। - Dainik Bhaskar

ग्रामीणों की सूचना पर दमकल गंभीरा गांव में आग बुझाने पहुंची।

मलारना डूंगर उपखंड के गंभीरा गांव में एक अमरूद के बगीचे में आग लग गई। तेज हवाओं के चलते देखते ही देखते आग ने विकराल रूप धारण कर लिया। आग आसपास लगे अमरूदों के पांच बगीचों में फैल गई। ग्रामीणों ने घटना की जानकारी दमकल को दी। सवाई माधोपुर से दमकल रवाना हुई मगर बीच रास्ते में ही खराब हो गई। कुछ देर बाद सवाई माधोपुर से दूसरी दमकल वहां पहुंची। ग्रामीणों की सहायता से अन्य ट्यूबवेल से मोटर चलाकर दमकल कर्मियों ने कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। मगर तब तक पीड़ित पांच बगीचे जल गए। जिससे 21 लाख रुपए से अधिक का नुकसान बताया जा रहा है।

हल्का पटवारी हरिओम सुमन ने बताया कि अज्ञात कारणों से लगी आग में पीड़ित टीकाराम पुत्र लट्टू के 160 अमरूद के पौधे जल गए। उसके भाई रामखिलाड़ी पुत्र लट्टू के करीब 180 पौधे जल गए। इसी तरह मक्खनलाल पुत्र अंबालाल मीणा के 80 अमरूद के पौधे, 30 हस्ती पाइप जल गए। बादाम पत्नी पूरण मीणा के 180 अमरूद के पौधे और पप्पूलाल पुत्र अर्जुन मीणा निवासी गंभीरा के करीब 100 अमरूद के पौधे जल गए। आगजनी में पीड़ित पांचों किसानों को करीब 21 लाख रुपए से अधिक का नुकसान हुआ।

ग्रामीणों ने बताया कि मलारना डूंगर उपखंड मुख्यालय पर दमकल नहीं होने से लोगों को आगजनी में खासा नुकसान उठाना पड़ता है। उपखंड क्षेत्र में कहीं भी आगजनी की घटना होती है। तब सवाई माधोपुर से दमकल मौके पर पहुंचती है परंतु कहीं बार दमकल के मौके पर पहुंचने से पहले ही नुकसान हो जाता है। कई बार दमकल बीच रास्ते ही खराब हो जाती है। ऐसे में ग्रामीणों ने मलारना डूंगर उपखंड मुख्यालय पर एक दमकल की व्यवस्था करवाने की मांग की।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

Topics

Google News
error: Content is protected !!