ASIAN COUNTRIES

पाकिस्तान में 7 दिन में लड़कियों के 4 स्कूल जलाए:एक PAK आर्मी ने बनवाया था; PM ने जहां मरम्मत कराई वहां भी स्कूल को उड़ाया

TIN NETWORK
TIN NETWORK

पाकिस्तान में 7 दिन में लड़कियों के 4 स्कूल जलाए:एक PAK आर्मी ने बनवाया था; PM ने जहां मरम्मत कराई वहां भी स्कूल को उड़ाया

पाकिस्तान के स्कूलों में आग लगाने वाले लोगों का अब तक पता नही।

पाकिस्तान में लगातार लड़कियों के स्कूलों को निशाना बनाया जा रहा है। सुराब जिले में गुरुवार (29 मई) को कुछ हथियारबंद लोगों ने एक लड़कियों के लिए बने माध्यमिक स्कूल पर हमला कर उसमें आग लगा दी। यह एक हफ्ते में इस तरह की चौथी घटना है।

पाकिस्तानी अखबार डॉन के मुताबिक, सोमवार रात को वजीरिस्तान में गोल्डन एरो गर्ल्स मिडिल स्कूल में अज्ञात लोगों ने आग लगा दी थी। फिर मंगलवार को उत्तरी वजीरिस्तान में आतंकवादियों ने एक गर्ल्स स्कूल को आग के हवाले कर दिया था।

इसके बाद बुधवार देर रात किल्ली धंब तहसील में कुछ अज्ञात लोगों ने एक स्कूल के स्टाफ रूम में आग लगा दी। पुलिस मौके पर पहुंची और आग बुझाई। हालांकि, तब तक हमलावर भाग चुके थे। स्थानीय पुलिस के मुताबिक, उस स्कूल में नाइट में गार्ड तैनात नहीं था। पुलिस ने अब इन हमलावरों के खिलाफ आतंकवाद कानून के तहत मामला दर्ज कर लिया है और मामले की जांच शुरू कर दी है।

सुराब जिले में 29 मई को एक बालिका माध्यमिक स्कूल में हथियारबंद लोगों ने आग लगा दी थी।

पाकिस्तान में लगातार गर्ल्स स्कूलों पर हमले की घटनाएं बढ़ रही हैं
पिछले कुछ महीनों से बलूचिस्तान के केच और पंजगुर जिलों में लगातार गर्ल्स स्कूलों पर हमले की घटनाएं बढ़ी है। पुलिस ने वजीरिस्तान के स्कूल में आग लगाने के मामले में वहां पढ़ा चुके टीचर को गिरफ्तार किया है।

पुलिस के मुताबिक, आरोपी की पहचान फरीदुल्लाह के तौर पर हुई है। रजमक पुलिस स्टेशन में दर्ज एफआईआर में कहा गया है कि पांच नकाबपोश हथियारबंद लोग दीवार फांदकर स्कूल परिसर में घुसे और जबरन चाबियां लेकर स्कूल में आग लगा दी थी।

इस स्कूल का निर्माण 2020 में पाकिस्तानी सेना ने करवाया था और यहां 500 से ज्यादा लड़कियां पढ़ती थी। इससे पहले मार्च में भी स्कूल पर हमला हुआ, जिसमें स्कूल में लगी सोलर लाइट को नुकसान पहुंचाया गया था।

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के स्कूल की मरम्मत कराने के बाद एक और स्कूल को बम से उड़ाया
साउथ वजीरिस्तान जिले के शावा इलाके में 9 मई को आतंकवादियों ने लड़कियों के एक निजी स्कूल में आग लगा दी थी। हालांकि, इसके बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ के आदेश पर स्कूल की मरम्मत के बाद उसे फिर से खोल दिया गया था।

फिर इसके 8 दिन बाद ही उसी इलाके में एक दूसरे स्कूल को आतंकवादियों ने बम से उड़ा दिया था। तब पख्तूनख्वा सरकार ने तुरंत कार्रवाई की बात कही थी।

error: Content is protected !!