National News

65 यूक्रेनी कैदियों वाला रूसी प्लेन क्रैश:यह मिलिट्री एयरक्राफ्ट, हादसा बेलगोरोड क्षेत्र में हुआ

TIN NETWORK
TIN NETWORK

65 यूक्रेनी कैदियों वाला रूसी प्लेन क्रैश:यह मिलिट्री एयरक्राफ्ट, हादसा बेलगोरोड क्षेत्र में हुआ

फुटेज बेलगोरोड का है। इसमें क्रैश होते हुए प्लेन में आग लगती देखी जा सकती है। - Dainik Bhaskar

फुटेज बेलगोरोड का है। इसमें क्रैश होते हुए प्लेन में आग लगती देखी जा सकती है।

रूस में यूक्रेनी कैदियों को ले जा रहा एक प्लेन क्रैश हो गया है। हादसा पश्चिमी बेलगोरोड क्षेत्र में रूसी समय के मुताबिक सुबह करीब 11 बजे हुआ है। इस विमान में 65 कैदी मौजूद थे।

यह रूस का IL-76 मिलिट्री ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट है। मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि प्लेन में सवार सभी कैदियों की मौत हो गई है। हालांकि इसकी पुष्टि नहीं हो सकी है।

RT इंडिया के तरफ से जारी किए गए एक वीडियो में रूसी मिलिट्री का एक ट्रांसपोर्ट प्लेन अचानक तेजी से नीचे आते हुए और एक छोटी रिफाइनरी से कुछ दूरी पर क्रैश होते हुए देखा जा सकता है। यह प्लेन ल्यूशिन Il-76 था और इसकी लंबाई 164 फीट थी। प्लेन में क्रैशिंग के बाद आग लग गई।

प्लेन क्रैश होने के बाद इसमें आग लग गई।

प्लेन क्रैश होने के बाद इसमें आग लग गई।

पकड़े गए 65 कैदी यूक्रेनी सैनिक
RIA-नोवोस्ती न्यूज एजेंसी ने रूस के रक्षा मंत्रालय के हवाले से बताया कि विमान में यूक्रेन के 65 सैनिक थे, जिन्हें पहले बंदी बनाया गया था। इन्हें करार के तहत रूसी सैनिकों की रिहाई के बदले छोड़ा जा रहा था। ये एक्सचेंज यूक्रेन बॉर्डर पर होना था। विमान में 6 क्रू मेंबर्स और 3 एस्कॉर्ट्स भी सवार थे।

जनवरी 2024 में 48वां प्रिजनर एक्सचेंज हुआ
जनवरी की शुरुआत में दोनों देशों के बीच 23 महीने से जारी जंग में सबसे बड़ा प्रिजनर एक्सचेंज यानी कैदियों की अदला-बदली हुई थी। यह प्रिजनर एक्सचेंज UAE के अफसरों की मध्यस्थता और निगरानी में हुआ था। इस दौरान रूस ने यूक्रेन के 230 नागरिकों को तो वहीं यूक्रेन ने रूस के 248 कैदियों को रिहा किया था। जंग के दौरान दोनों देशों के बीच यह 48वां प्रिजनर एक्सचेंज था।

तस्वीर में रूस की तरफ से इसी महीने आजाद किए गए यूक्रेनी सैनिकों को देखा जा सकता है।

तस्वीर में रूस की तरफ से इसी महीने आजाद किए गए यूक्रेनी सैनिकों को देखा जा सकता है।

2016 में भी मिलिट्री प्लेन क्रैश हुआ था
2016 में भी रूस की मिलिट्री का एक प्लेन की क्रैश हुआ था। डिफेंस मिनिस्ट्री के II-18 प्लेन में करीब 39 लोग सवार थे। इनमें से 16 लोग गंभीर रूप से घायल हुए थे।

इल्युशिन-76 के बारे में जानिए…
यह चार इंजन वाला स्ट्रेटेजिक एयरलिफ्टर विमान है। यह एक बार में 40 हजार किलो तक वजन ले जा सकता है। इसके तीन वैरिएंट हैं। रूस में बना यह विमान राहत सामग्री और बड़ी संख्या में लोगों को लाने-ले जाने के लिए काम आता है। रूस, यूक्रेन, भारत और लीबिया की वायुसेना भी इस विमान का इस्तेमाल करती हैं।

About the author

THE INTERNAL NEWS

Add Comment

Click here to post a comment

CommentLuv badge

Topics

Translate:

Google News
Translate »
error: Content is protected !!